Happy B'day Gundappa Viswanath: इस बल्लेबाज ने जब शतक बनाया टीम इंडिया मैच नहीं हारी, गावस्कर के हैं रिश्तेदार

विश्वनाथ ने 91 टेस्ट मैच खेले. 41 की औसत से 6080 रन बनाए. फाइल फोटो

Happy Birth day Gundappa Viswanath: क्रिकेट को अगर जेंटलमैन गेम कहा जाता है तो उसमें गुंडप्पा विश्वनाथ जैसे खिलाड़ियों का सबसे बड़ा योगदान है. क्रिकेट डायरी में आज उनके जन्मदिन पर उनके ही जीवन के कुछ ऐसे पहलू जानेंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली: दुनिया में ऐसे खिलाड़ी विरले ही होते हैं, जिनका बल्ला कामयाबी की गारंटी होती है. टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज गुंडप्पा विश्वनाथ (Gundappa Viswanath) उन्हीं खिलाड़ियों में से हैं, जिनका बल्ला जब भी चला उनकी टीम को जीत मिली या मैच ड्रॉ हुआ. टीम इंडिया की ओर से गुंडप्पा विश्वनाथ ने 91 टेस्ट मैच खेले. इन मैचों में उन्होंने 14 टेस्ट शतक बनाए. कमाल की बात ये है कि उन्होंने जब भी टेस्ट मैचों में शतक बनाया, टीम इंडिया को जीत मिली या मैच ड्रॉ हुआ.

    12 फरवरी 1949 को मैसूर भद्रावती में जन्मे गुंडप्पा विश्वनाथ ने भारत के लिए पहला टेस्ट 15 नवंबर 1969 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला. उन्होंने 91 टेस्ट मैच में करीब 42 की औसत से 6080 रन बनाए. सुनील गावस्कर के बारे में एक बात सभी लोग जानते हैं कि उन्होंने अपनी समय की सबसे खतरनाक टीम वेस्ट इंडीज के खिलाफ जमकर बल्ला चलाया है. लेकिन इस बहस में लोग गुंडप्पा विश्वनाथ का नाम भूल जाते हैं. उन्होंने अपने पूरे करियर में 42 की औसत से रन बनाए. लेकिन वेस्ट इंडीज के खिलाफ उन्होंने 51 की औसत से रन बनाए. वैसे बता दें कि गुंडप्पा विश्वनाथ और सुनील गावस्कर के बीच एक रिश्ता भी है. दोनों रिश्ते में जीजा साले हैं. विश्वनाथ ने सुनील गावस्कर की बहन कविता से शादी की है. खुद गावस्कर तीन बल्लेबाजों को अपना पसंदीदा बल्लेबाज बताते थे.

    इसलिए कहा जाता था जेंटलमैन गेम का ब्रांड एंबेसडर
    गुंडप्पा विश्वनाथ उन खिलाडियों में से हैं, जिन्हें इस जेंटलमैन गेम का ब्रांड एंबेसडर कहा जाता है. इस बात का पहला उदाहरण उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में पेश किया. इस मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाज बॉब टेलर शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे, तभी उन्हें अंपायर ने आउट दे दिया. वह जाने लगे, लेकिन गुंडप्पा को लगा कि अंपायर से गलती हुई है, तो उन्होंने बल्लेबाज को वापस बुलवा लिया. उसके बाद भी उन्होंने अपनी टीम के लिए कीमती रन बनाए, और इसी कारण टीम इंडिया को मैच में हार का सामना करना पड़ा.

    अजीबोगरीब रिकॉर्ड किया अपने नाम
    गुंडप्पा विश्वनाथ ने पहले ही मैच में अजीबोगरीब रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले ही मैच में वह शून्य पर आउट हो गए. अगली अगली ही पारी में उन्होंने वापसी की और शतक ठोक दिया. ये मैच ड्रॉ हो गया. लंबे समय तक वह ऐसा करने वाले अकेले खिलाड़ी रहे. बाद में अफ्रीकी सलामी बल्लेबाज एंड्रयू हडसन और भारतीय बल्लेबाज वसीम जाफर ने ये रिकॉर्ड अपने नाम किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.