Birthday Special: 1560 विकेट लेने वाले इस क्रिकेटर ने टीम इंडिया को दी थी समंदर में फेंकने की धमकी!

बिशन सिंह बेदी का आज 73वां जन्मदिन है
बिशन सिंह बेदी का आज 73वां जन्मदिन है

भारत के पूर्व कप्तान और अपने जमाने के मशहूर स्पिनर्स में से एक बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) का आज 73वां जन्मदिन है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 7:47 AM IST
  • Share this:
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और बाएं हाथ के महान स्पिनर्स में से एक बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) का आज जन्मदिन है. 25 सितंबर 1946 को पंजाब के अम-तसर में जन्मे बिशन सिंह बेदी आज 73 साल के हो गए हैं. बिशन सिंह बेदी ने भारत के लिए 13 सालों तक क्रिकेट खेला. वो 1966 से लेकर 1979 तक टीम इंडिया का हिस्सा रहे. अपने करियर में बेदी ने कई रिकॉर्ड बनाए और तोड़े. बेदी ने 67 टेस्ट में 266 और 10 वनडे मैचों में 7 विकेट हासिल किए. बेदी ने अपने करियर में कुल 370 फर्स्ट क्लास मैच खेले, जिसमें उन्होंने 1560 विकेट झटके. फर्स्ट क्लास में विकेट लेने के मामले में बिशन सिंह बेदी भारत में नंबर 1 हैं. आइए आपको बताते हैं उनके क्रिकेट करियर की कुछ ऐसी बातें जो बहुत कम लोग जानते हैं.

डेब्यू से पहले कभी नहीं देखा टेस्ट क्रिकेट
बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) ने अपना डेब्यू टेस्ट 31 दिसंबर 1966 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि बिशन सिंह बेदी का क्रिकेट में कोई हीरो नहीं था. द टेलीग्राफ में लिखे अपने आर्टिकल में रामचंद्रा गुहा ने बताया था कि बेदी ने पहली बार टेस्ट मैच तभी देखा जब उन्होंने डेब्यू किया.

बेदी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 1560 विकेट चटकाए

शेन वॉर्न मानते थे गुरु


दुनिया के महानतम गेंदबाजों में से एक पूर्व ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) को अपना आदर्श मानते थे. वॉर्न का कहना था कि उन्होंने लेग स्पिन का ककहरा बेदी से ही सीखा. बेदी ने भारतीय क्रिकेट टीम को मनिंदर सिंह जैसा शानदार स्पिनर भी दिया.

बेदी ने 266 टेस्ट विकेट लिए


वेस्टइंडीज में दोनों पारियां कर दी थी घोषित
1976 में भारतीय कप्तान बने बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) ने वेस्टइंडीज दौरे पर खराब पिच को देखते हुए टीम की दोनों पारियां घोषित कर दी थी. दौरे के तीसरे टेस्ट में ऐसी पिच बनाई गई थी कि विंडीज तेज गेंदबाजों की घातक गेंदों ने भारत के 5 बल्लेबाजों को चोटिल कर दिया. इसके बाद टीम के कप्तान बिशन सिंह बेदी ने विरोध में टीम की दोनों पारियां घोषित कर दी.

गुस्से की वजह से मिली पाकिस्तान के खिलाफ हार
1978 में पाकिस्तान के साहिवाल में बेदी (Bishan Singh Bedi) के गुस्से की वजह से टीम इंडिया को मैच गंवाना पड़ा. दरअसल इस मैच में भारत को 18 गेंदों में 23 रन बनाने थे और उसके 8 विकेट बचे हुए थे. इस मैच में पाकिस्तान के तेज गेंदबाज सरफराज नवाज ने लागातर चार बाउंसर फेंकी और किसी भी गेंद को अंपायर ने वाइड नहीं दिया. ये देख बेदी भड़क गए और उन्होंने अपने बल्लेबाज वापस बुला लिये. बेदी के इस फैसले के बाद पाकिस्तान को विजेता घोषित कर दिया गया. इसे लेकर बेदी की काफी आलोचना हुई थी.

बिशन सिंह बेदी के बेटे अंगद ने दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी खेली, अब वो एक्टर हैं


भारतीय टीम को दी समंदर में फेंकने की धमकी
साल 1989-90 में बेदी न्यूजीलैंड दौरे पर बतौर टीम इंडिया के मैनेजर बनकर गए. जहां रॉथमैंस कप में भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया से हार झेलनी पड़ी. इस हार के बाद बेदी ने कमेंट किया था कि पूरी टीम इंडिया को प्रशांत महासागर में डुबो देना चाहिए. 1990 में उन्होंने पूरी भारतीय टीम को स्वदेश लौटते वक्त समंदर में फेंकने की धमकी दी थी.

ऋषभ पंत को लेकर टीम इंडिया पर जमकर बरसे युवराज सिंह, कोच और कप्तान को दे डाली ये नसीहत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज