सचिन-लारा के खिलाफ खेलने वाला दिग्गज खिलाड़ी सड़कों पर भूखे पेट भटका, लगी ड्रग्स की लत

Happy Birthday Maurice Odumbe: मॉरिस ओडुंबे की दर्दनाक कहानी! (PC-ओडुंबे इंस्टाग्राम)

Happy Birthday Maurice Odumbe: केन्या के पूर्व कप्तान और ऑलराउंडर मॉरिस ओडुंबे 52 साल के हो गए हैं. ओडुंबे साल 1996 वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज को हराने वाली केन्या की टीम के कप्तान थे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. एक खिलाड़ी जो ब्रायन लारा की मजबूत वेस्टइंडीज टीम की हार का कारण बना. एक खिलाड़ी जिसने सचिन जैसे दिग्गजों से लोहा लिया. एक खिलाड़ी जो अपने देश का सुपरस्टार था, जिसे क्रिकेट का हर फैन जानता था. क्या आप यकीन करेंगे उसने क्रिकेट के बाद दर-दर की ठोकरें खाई. वो सड़क पर भूखे पेट भटका. यही नहीं उसे ड्रग्स लेने की भी लत पड़ गई. ये खिलाड़ी कोई और नहीं केन्या के पूर्व कप्तान मॉरिस ओडुंबे (Happy Birthday Maurice Odumbe) हैं जिनका आज जन्मदिन है. मॉरिस ओडुंबे आज 52 साल के हो गए हैं

    मॉरिस ओडुंबे केन्या के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक रहे हैं. ओडुंबे बड़े मैच के खिलाड़ी माने जाते थे और मिडिल ऑर्डर में अच्छी बल्लेबाजी के साथ-साथ उनकी ऑफ स्पिन अकसर विरोधियों को परेशान करती थी. मॉरिस ओडुंबे की कप्तानी में ही 1996 वर्ल्ड कप में केन्या ने वेस्टइडीज को हराकर बड़ा उलटफेर किया था. केन्या ने वेस्टइंडीज को 73 रनों के बड़े अंतर से मात दी थी और ओडुंबे उस मैच के हीरो थे. ओडुंबे ने महज 14 रन देकर 3 विकेट लिये थे और उनके नाम एक रन आउट भी था.

    केन्या को वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में दिलाई जगह
    साल 2003 वर्ल्ड कप में केन्या ने इतिहास रचा था. साउथ अफ्रीका में हुए वर्ल्ड कप में केन्या की कमजोर माने जाने वाली टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी. केन्या की इस सफलता में ओडुंबे का बड़ा हाथ था. ओडुंबे ने टूर्नामेंट में 42 की औसत से रन बनाए और साथ ही उन्होंने 9 विकेट भी हासिल किये. इसके बाद कैरेबियन कैरिब बीयर सीरीज में ओडुंबे ने लीवार्ड आइलैंड के खिलाफ 207 रनों की पारी खेल अपना दम दिखाया था. हालांकि 2004 आते ही ओडुंबे का करियर अर्श से फर्श पर आ गया.

    ओडुंबे पर लगा 5 साल का बैन
    केन्या का ये दिग्गज खिलाड़ी 2004 में आईसीसी की जांच के घेरे में आ गया. ओडुंबे बुकी से संबंधों के दोषी पाए गए और उनपर पांच साल का बैन लगा दिया गया. वर्ल्ड क्रिकेट का चमकता सितारा अचानक कहीं खो गया. आपको बता दें बैन के बाद मॉरिस ओडुंबे बर्बाद हो गए. एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि उनके पास खाने तक के पैसे नहीं थे और वो भूखे पेट सड़कों पर भटके. यही नहीं उन्हें ड्रग्स लेने की भी लत पड़ गई. अपनी इस हालत के लिए ओडुंबे पत्नी को जिम्मेदार बताते हैं. ओडुंबे का आरोप है कि उनकी पत्नी ने आईसीसी को गलत बयान दिये जिसकी वजह से वो बर्बाद हो गए.

    केन्या के अखबार द स्टैंडर्ड को दिये इंटरव्यू में ओडुंबे ने बताया, 'मेरी पत्नी से जांचकर्ताओं ने संपर्क साथा था. मुझे नहीं पता उन्होंने मेरी पत्नी को क्या वादा किया था. उसने जो भी जांच अधिकारियों को कहा, उन्होंने वो मान लिया. मुझे ऐसा लगा कि जैसे वो मुझे सबक सिखाना चाहते थे. ' ओडुंबे ने आगे कहा, 'हालात काफी खराब हो गए थे. वो दर्दनाक थे. एक समय मैं ड्रग्स लेने लग गया था. मुझे रिहैब की भी जरूरत पड़ने लगी थी.' हालांकि ओडुंबे ने हार नहीं मानी. पांच साल का बैन खत्म होने के बाद वो एक बार फिर क्रिकेट से जुड़े और 40 साल की उम्र में उन्होंने केन्या के घरेलू क्रिकेट में वापसी की. अप्रैल 2018 में वो केन्या टीम के कोच बने. हालांकि उनका कार्यकाल 6 महीने भी नहीं चला और उनकी जगह डेविड ओबुया को कोच बना दिया गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.