रणजीत सिंह: इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी, एक दिन में ठोके थे 2 शतक

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 8:15 AM IST
रणजीत सिंह: इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी, एक दिन में ठोके थे 2 शतक
रणजीत सिंह जी की 147वीं जयंती आज

रणजीत सिंह (Ranjeet Singh) के नाम पर ही भारत में रणजी ट्रॉफी खेली जाती है, उनका जन्म 10 सितंबर 1872 को गुजरात के जामनगर में हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 8:15 AM IST
  • Share this:
10 सितंबर का दिन भारतीय क्रिकेट के लिए बेहद ही खास माना जाता है, क्योंकि आज ही के दिन भारतीय क्रिकेट के पितामाह महाराजा रणजीत सिंह का जन्म हुआ था. रणजीत सिंह (Ranjit Singh) इंटरनेशनल क्रिेकेट खेलने वाले पहले भारतीय थे, उनका जन्म 10 सितंबर, 1872 को गुजरात के जामनगर में हुआ था. रणजीत सिंह (Ranjit Singh) जी जन्मे तो भारत में थे, लेकिन उन्होंने टेस्ट क्रिकेट इंग्लैंड के लिए खेला. रणजीत सिंह ने क्रिकेट में एंट्री करते ही इस खेल को पूरी तरह बदल दिया था. उन्हीं के नाम से आज भारत में रणजी ट्रॉफी खेली जाती है. आइए आपको बताते हैं रणजीत सिंह के बारे में कुछ दिलचस्प बातें

लेग ग्लांस के जनक
रणजीत सिंह को लेग ग्लांस का जनक कहा जाता है. जब रणजीत सिंह (Ranjit Singh) क्रिकेट खेलते थे तो बल्लेबाज ऑफ साइड पर ही शॉट खेलते थे. अगर कोई बल्लेबाज लेग साइड की ओर शॉट लगाता था तो वो गेंदबाज और विरोधी टीम से माफी मांगता था. हालांकि रणजीत सिंह (Ranjit Singh) ने इस धारणा को पूरी तरह बदल कर रख दिया. उन्होंने अपनी कलाई का जादू दिखाते हुए अपने पूरे करियर में लेग साइड पर खूब रन बटोरे. रणजीत सिंह की बल्लेबाज का लोहा क्रिकेट के जनक कहे जाने वाले डब्ल्यूजी ग्रेस भी मानते थे. उन्होंने एक बार कहा था कि दुनिया को अगले 100 सालों तक रणजी जैसा शानदार बल्लेबाज देखने को नहीं मिलेगा.

लेग ग्लांस के जनक हैं रणजीत सिंह


रिकॉर्डतोड़ डेब्यू
रणजीत सिंह (Ranjit Singh) ने 1896 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया. मैनचेस्टर टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 62 और दूसरी पारी में नाबाद 154 रनों की पारी खेली. इस तरह रणजीत सिंह  (Ranjit Singh) पहले ऐसे खिलाड़ी बन गए जिसने अपने पहले ही टेस्ट में अर्धशतक और शतक लगाया. साथ ही वो डेब्यू टेस्ट में नाबाद शतक ठोकने वाले पहले खिलाड़ी भी बने. हालांकि ये मैच इंग्लैंड की टीम हार गई थी.

एक दिन में ठोके 2 शतक
Loading...

अगस्त 1896 में रणजी ने होव के मैदान पर एक दिन में दो शतक ठोकने का कारनामा किया. फर्स्ट क्लास मैच में एक दिन में दो शतक पहले किसी बल्लेबाज ने नहीं ठोके थे. रणजी ट्रॉफी ने इस मैच में 100 और नाबाद 125 रनों की पारी खेली थी.

रणजीत सिंह ने एक दिन में ठोके 2 शतक


काउंटी क्रिकेट के बादशाह
रणजीत सिंह ने लगातार 10 सीजन में 1000 से ज्यादा रन बनाए. 1899 और 1900 में तो रणजी ने एक सीजन में 3 हजार से ज्यादा रन बना डाले.

रणजीत सिंह ने ठोके 74 शतक
रणजीत सिंह ने इंग्लैंड के लिए 15 टेस्ट मैच खेले और उन्होंने 44.95 के औसत से 989 रन बनाए. रणजीत सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 2 शतक ठोके और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके बल्ले से 72 शतक निकले. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका औसत 56 से भी ज्यादा था.

रणजीत सिंह ने 72 फर्स्ट क्लास शतक ठोके


1904 में लौटे भारत
रणजीत सिंह (Ranjit Singh) जी पांच सालों तक ससेक्स के कप्तान रहे और इसके बाद उन्होंने 1904 में भारत लौटने का फैसला किया. इसके बाद उन्होंने नवांनगर पर राज किया. इसके अलावा रणजी ने अपने भतीजे दलीप को क्रिकेट की बारीखियां सिखाई. दलीप सिंह ने भी कैंब्रिज में पढ़ाई की और इंग्लैंड के लिए खेलते हुए उन्होंने भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर 173 रन ठोके.

140 साल पहले ऑस्ट्रेलिया ने किया था ये कारनामा, अब अफगानिस्तान ने दोहराया

11 हजार रन बनाकर भी नहीं मिली टीम इंडिया में जगह, अब बना द.अफ्रीकी कोच!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 7:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...