करियर की शुरुआत में दाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करते थे सौरव गांगुली, जानिए फिर कैसे बन गए लेफ्ट हैंडर

करियर की शुरुआत में दाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करते थे सौरव गांगुली, जानिए फिर कैसे बन गए लेफ्ट हैंडर
बाएं हाथ के बल्लेबाज सौरव गांगुली गेंदबाजी दाएं हाथ से करते हैं

सौरव (Sourav Ganguly) अपने क्रिकेट के शुरुआती दिनों में दाएं हाथ से ही बल्लेबाजी किया करते थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट के चहेते 'दादा' यानि सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) आज यानि कि आठ जुलाई को जन्मदिन मना रहे हैं. भारत के इस पूर्व कप्तान को एक सफल लीडर के तौर पर देखा जाता है. कप्तानी के अलावा गांगुली ने बतौर बल्लेबाज भी भारत के लिए काफी कुछ किया है. गांगुली के जीवन की एक ऐसी बात है जो शायद बहुत कम लोगों की ही पता है. गांगुली लेफ्टी नहीं है वह अपने बाकी सारे काम दाएं हाथ से ही करते हैं. करियर की शुरुआत में वह दाएं हाथ से ही बल्लेबादी करते थे हालांकि बाद में बाएं हाथ से बल्लेबाजी करना शुरू किया इसकी वजह भी खास है.

सौरव गांगुली शुरुआत में क्रिकेटर नहीं फुटबॉलर बनना चाहते थे. मगर उनकी मां चाहती थीं कि वह पढ़ाई पर ध्यान दें. हालांकि इसी दौरान सौरव के बड़े भाई स्नेहाशीष गांगुली बंगाल क्रिकेट टीम में अपनी जगह बना चुके थे. वह बाएं हाथ के बल्लेबाज थे. बड़े भाई के कहने पर सौरव को क्रिकेट एकेडमी में दाखिला मिल गया.

भाई कि किट से खेलने के कारण दाएं से की बल्लेबाजी
एकेडमी में दाखिला तो मिल गया, लेकिन मगर माता-पिता उनके खेल करियर को लेकर बहुत गंभीर नहीं थे. इसलिए सौरव को अलग से किट नहीं मिली. उन्होंने इसका हल निकाला और दाएं के बजाय बाएं हाथ से बल्लेबाजी करने लगे ताकि वह अपने बड़े भाई की किट का इस्तेमाल कर सकें. ऐसा करने से पहले तक शायद खुद उन्होंने भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन वह बाएं हाथ के महान बल्लेबाजों में से एक गिने जाएंगे. हालांकि सौरव गांगुली करियर के दौरान दाएं हाथ से ही गेंदबाजी करते रहे.
हैप्पी बर्थडे: कौन सौरव गांगुली के लिये दे सकता है जान, क्यों हैं दादा इतने महान?



बर्थडे स्पेशल: सौरव गांगुली ने जो काम पहले मैच में किया, वो कभी नहीं कर पाए सचिन

गांगुली के नाम शानदार रिकॉर्ड
वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले शीर्ष-10 बल्लेबाजों में सिर्फ तीन ही बल्लेबाज बाएं हाथ के हैं. कुमार संगकारा और सनथ जयसूर्या के बाद इस सूची में तीसरा नाम सौरव गांगुली का ही है. यही नहीं एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में वह बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. 1999 में उन्होंने एक साल में 1767 रन बनाए थे. सिर्फ सचिन तेंदुलकर ही उनसे आगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading