टी20 में दूसरे सबसे किफायती गेंदबाज हैं सुनील नरेन, बॉलिंग एक्शन के कारण लगातार दो वर्ल्ड कप नहीं खेले

सुनील नरेन ने वेस्टइंडीज के लिए 51 टी20 में 155 रन बनाने के साथ ही 52 विकेट हासिल किए हैं. (Sunil narine instagram)

सुनील नरेन ने वेस्टइंडीज के लिए 51 टी20 में 155 रन बनाने के साथ ही 52 विकेट हासिल किए हैं. (Sunil narine instagram)

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर सुनील नरेन (Sunil Narine Birthday) आज 33 साल के हो गए हैं. 2011 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले नरेन का करियर उतार-चढ़ाव भरा रहा. गेंदबाजी एक्शन के कारण वो 2015 का वनडे और 2016 का टी20 विश्व कप नहीं खेले.

  • Share this:

नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर सुनील नरेन (Sunil Narine Birthday) आज 33 साल के हो गए हैं. 2011 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले नरेन का करियर उतार-चढ़ाव भरा रहा है. वो अपने करियर में कई बार गेंदबाजी एक्शन के कारण बैन हुए. लेकिन हर बार इस ऑलराउंडर ने अग्निपरीक्षा पास की. लेकिन इस वजह से उनका अंतरराष्ट्रीय करियर परवान नहीं चढ़ पाया. पहली बार इस मिस्ट्री स्पिनर ने एक ट्रायल मैच में सभी 10 विकेट लेकर वेस्टइंडीज के सेलेक्टर्स का ध्यान अपनी ओर खींचा था. 2009 में उन्हें त्रिनिदाद एंड टोबैगो टीम की ओर से खेलने का मौका मिला. इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और धीरे-धीरे सफलता की सीढ़ी चढ़ने लगे.

नरेन के लिए 2011 की चैम्पियंस लीग यादगार रही. उन्होंने 10.50 की औसत से 10 विकेट लिए. इस प्रदर्शन के बाद वेस्टइंडीज के सेलेक्टर्स की नजर में वो चढ़ गए. लेकिन इस ऑलराउंडर को पहली बार 2012 में टेस्ट खेलने का मौका मिला. वो भी तेज गेंदबाज केमार रोच के चोटिल होने के कारण. हालांकि, वो इस मौका का फायदा नहीं उठा सके और शुरुआती 6 टेस्ट में 21 विकेट ही ले पाए. उसी साल नरेन ने अंतरराष्ट्रीय टी20 में भी डेब्यू किया था और इस फॉर्मेट में वो आते ही छा गए.

2012 में नरेन ने वेस्टइंडीज को टी20 का विश्व चैम्पियन बनाया

शुरुआती सालों में बल्लेबाजों को नरेन को समझने में काफी परेशानी हुई. उनकी कैरम बॉल, नकल बॉल ने बल्लेबाजों की काफी परेशान किया. उनकी गेंदबाजी की बदौलत ही 2012 में वेस्टइंडीज टी20 वर्ल्ड कप जीतने में सफल रहा. 1979 के वनडे विश्व कप के बाद टीम पहली बार वर्ल्ड कप की ट्रॉफी जीती. तब नरेन वेस्टइंडीज की ओर से सबसे ज्यादा विकेट गेंदबाज बने थे. हालांकि, ये कामयाबी ज्यादा दिन तक कायम नहीं रही.
IPL 2021 के बचे हुए मैच यूएई में होंगे, 10 अक्टूबर को फाइनल, जानिए कब शुरू होगा टूर्नामेंट?

2014 में दो बार बॉलिंग एक्शन को लेकर शिकायत हुई

साल 2014 नरेन के लिए बुरा साबित हुआ. कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से चैम्पियंस लीग में खेलते हुए दो बार उनके गेंदबाजी एक्शन को लेकर शिकायत हुई. इसके बाद फाइनल मुकाबले में उनके गेंदबाजी करने पर बैन लग गया. अगले ही साल 2015 में उन्होंने अपने एक्शन पर काम करने के लिए विश्व कप में न खेलने का फैसला लिया. हालांकि साल 2015 के नवंबर महीने में ही उन पर दोबारा बैन लग गया. इसके बाद नरेन ने आईपीएल 2016 में तीसरी बार वापसी की. इस दौरान वो बतौर बल्लेबाज जरूर टी20 लीग में अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे.



उन्होंने बिग बैश लीग के 2016-17 सीजन में कई बार अपनी टीम के लिए ओपनिंग की. यही नहीं, नरेन ने आईपीएल 2017 में सबसे तेज 15 गेंद में अर्धशतक जड़कर सबको हैरान कर दिया.

नरेन के टी20 में 393 विकेट

नरेन ने 51 टी20 में 155 रन बनाने के साथ ही 52 विकेट हासिल किए. वहीं, 65 वनडे में इस ऑलराउंडर ने 92 विकेट लेने के साथ 363 रन बनाए. उन्होंने दो साल पहले वेस्टइंडीज के लिए टी20 खेला था. अगर ओवरऑल टी20 की बात करें तो उन्होंने 355 मैच में 146 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से 2516 रन बनाए हैं. वहीं, 393 विकेट भी लिए हैं. वे अंतरराष्ट्रीय टी20 में सबसे किफायती गेंदबाजों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर हैं. उन्होंने 6.01 की इकोनॉमी रेट से रन दिए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज