चीन में खत्म होते कोरोना के असर को देख फूटा हरभजन सिंह का गुस्सा, जानिए वजह

चीन में खत्म होते कोरोना के असर को देख फूटा हरभजन सिंह का गुस्सा, जानिए वजह
हरभजन सिंह ने चीन पर लगाया आरोप

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी को चीन का प्लान बताया है

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) में हर दिन के साथ कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा बढ़ता जा रहा है. इस वायरस से मची तबाही थमने का नाम नहीं ले रही है. हर रोज नए केस सामने आ रहे हैं वहीं लोगों की जान जा रही है. भारत में अब तक डेढ़ लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं. वहीं साढ़े चार हजार लोगों की मौत हो चुकी हैं. देश में फिलहाल लॉकडाउन 4.0 लगा हुआ है जो 31 मई को खत्म होना है. हालांकि चीन (China) जहां से इस वायरस की शुरुआत हुई वहां अब यह महामारी लगभग खत्म हो चुकी है. गुरुवार को वहां कोरोना को कोई भी नया केस नहीं आया. हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का मानना है कि चीन ने यह सब जानबूझकर किया औऱ ट्वीट करके अपना गुस्सा निकाला.

हरभजन सिंह ने ट्वीट करके उतारा गुस्सा
हरभजन सिंह ने ट्वीट करके कोरोना वायरस की वजह चीन को बताया है. उन्होंने हाल ही में एक एक न्यूज रिपोर्ट शेयर की है जिसमें कहा गया था कि बीते दिन चीन में कोरोना वायरस का कोई नया केस नहीं आया है. उन्होंने इसे शेयर करते हुए लिखा, 'शायद यही प्लान था. दुनिया भर में कोरोना को फैला दो और फिर खुद बैठकर बस देखो. दुनिया भर के लिए मास्क, पीपीई किट बनाकर अपनी इकनॉमी मजबूत करो.





शोएब अख्तर ने भी चीन को ठहराया था जिम्मेदार
इससे पहले अपने यू-ट्यूब चैनल पर पाकिस्तान क्रिकेटर शोएब अख्तर कहा था, 'आपको चमगादड़ को खाने या उसका खून और पेशाब पीने की क्या जरूरत है. इसकी वजह से पूरी दुनिया में यह वायरस फैल गया. मैं चीनी लोगों की बात कर रहा हूं. उन्होंने पूरी दुनिया को मुश्किल में डाल दिया है. मुझे समझ नहीं आता कि आप चमगादड़, कुत्ते और बिल्ली को कैसे खा सकते हैं. मुझे सच में बहुत गुस्सा आ रहा है.' हालांकि बाद में उन्होंने अपने विडियो से चीन से जुड़े हिस्से को हटा लिया.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उमेश यादव ने पूरे किए 10 साल, ट्विटर पर शेयर किया यह मैसेज

973 रन ठोकने के बाद भी टूटा विराट कोहली का सपना,6 गेंद में खत्म हो गई उम्मीदें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading