हार्दिक का खुलासा, वर्ल्ड कप में धोनी के रन आउट होने पर ऐसी हो गई थी उनकी हालत

हार्दिक पंड्या ने अक्षय कुमार को असली हीरो बताया  (फाइल फोटो)

हार्दिक पंड्या ने अक्षय कुमार को असली हीरो बताया (फाइल फोटो)

हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) ने कहा कि उन्हें पता था कि एमएस धोनी (MS Dhoni) दो छक्‍के लगा ही देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2020, 2:32 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट जगत के लिए पिछले साल वर्ल्ड कप (World Cup) के सेमीफाइनल में एमएस धोनी (MS Dhoni) का रन आउट होना सबसे बड़ा झटका था. जिसके बाद टीम का सफर वहीं पर थम गया. इस झटके के बाद टीम को इससे बाहर निकलने में भी काफी समय लगा. खुद धोनी को आज भी इसका मलाल है कि उन्होंने बचने के लिए डाइव क्यों नहीं लगाई. इस हार से भारत के स्टार ऑल राउंडर हा‌र्दिक पंड्या (Hardik Pandya) भी इस कदर टूट गए थे कि उन्हें हर सुबह ऐसा लगता था , जैसे ये सब अभी हुआ है.

ms dhoni, ms dhoni run out, cricket world cup, bcci, indian cricket team, एमएस धोनी, क्रिकेट, वर्ल्ड कप, क्रिकेट, स्पोर्ट्स न्यूज
वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में रन आउट होने के बाद निराश पवेलियन लौटते एमएस धोनी (फाइल फोटो)

इंडिया टुडे के एक इंटरव्यू के अनुसार पंड्या ने कहा  कि उस हार के बाद कुछ ‌दिनों तक जब भी वह सुबह सोकर उठते थे तो ऐसा लगता था, जैसे ये सब अभी अभी हुआ ‌है. उन्होंने उस पल को याद करते हुए कहा कि मैच के बाद किसी ने ग्रुप में मैसेज किया था कि यह सच नहीं है. सभी को ऐसा ही लग रहा था. सबसे मुश्किल तो सेमीफाइनल हारने के बाद उस रात सोना था और उससे भी ज्यादा मु‌श्किल धोनी का रन आउट होना रहा था.

hardik pandye fitness test, hardik pandya india a, hardik pandya new zealand tour
चोट के चलते काफी समय से हार्दिक पंड्या टीम से बाहर चल रहे हैं.

पता था माही भाई दो छक्के जड़ने का रास्ता निकाल लेंगे

पंड्या (Hardik Pandya) ने कहा कि मुश्किल परिस्थिति में जब धोनी क्रीज पर खड़े थे तो हमें पता था कि क्रीज पर खड़े व्यक्ति को हम जानते हैं. पहले भी कई बार उन्होंने अकेले अपने दम पर टीम को जीत दिलाई है और वो एक बार फिर ऐसा करने जा रहे हैं. उन्होंने गप्टिल के चमत्कारी थ्रो के बारे में कहा कि उन्हें उस समय तक विश्वास था. उन्हें मालूम ‌था कि जिमी नीशाम गेंदबाजी करेंगे. माही भाई परिस्थितियों से ज्यादा प्रभावित नहीं होते. उनके पास 14 साल का अनुभव है और पता था कि वें दो छक्के जड़ने का रास्ता निकाल ली लेंगे. मगर उनके रन आउट होने पर बिल्कुल भी विश्वास नहीं हुआ, क्योंकि आमतौर पर वें रन आउट नहीं होते.

पूरी तरह फिट हैं हार्दिक पंड्या, नहीं दिया कोई फिटनेस टेस्‍ट!



रन आउट होने पर धोनी को अभी तक मलाल, कहा- आखिर क्यों मैंने डाइव नहीं लगाई?

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज