• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज, उनके नाना और भाई तीनों रहे देश के कप्तान, पैसे के लिए छोड़ दिया था टीम का साथ

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज, उनके नाना और भाई तीनों रहे देश के कप्तान, पैसे के लिए छोड़ दिया था टीम का साथ

HBD IAN CHAPPELL: इयान चैपल के नाना और भाई ग्रेग चैपल भी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान रहे. (AFP)

HBD IAN CHAPPELL: इयान चैपल के नाना और भाई ग्रेग चैपल भी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान रहे. (AFP)

HBD IAN CHAPPELL: पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) आज 78 साल के हो गए हैं. ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज खिलाड़ी का पूरा परिवार क्रिकेट से जुड़ा हुआ था. तीनों भाई ऑस्ट्रेलिया की ओर से इंटरनेशनल मुकाबले में उतरे. इयान और ग्रेग चैपल तो कप्तान भी रहे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी इयान चैपल (Ian Chappell) आज यानी 26 सितंबर को अपना 78वां जन्मदिन मना रहे हैं. वे ऑस्ट्रेलिया के सफलतम कप्तानों में से एक हैं. उनके अलावा भाई ग्रेग चैपल और नाना विक रिचर्ड्सन भी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान रहे. हालांकि एक समय ऐसा भी आया था कि जब इयान चैपल ने पैसे के लिए नेशनल टीम तक से खेलने से मना कर दिया था. हालांकि वे बाद में लौटे और वनडे वर्ल्ड कप में टीम की कप्तानी की.

    1964 में इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले इयान चैपल ने 75 टेस्ट में 42 की औसत से 5345 रन बनाए. 14 शतक और 26 अर्धशतक लगाया. 196 रन की सबसे बड़ी पारी खेली. इसके अलावा इस दिग्गज लेग स्पिनर ने 20 विकेट भी झटके. उन्होंने 16 वनडे में 8 अर्धशतक के दम पर 673 रन बनाए और 2 विकेट लिए. उन्होंने 262 फर्स्ट क्लास मैच में 19,680 रन बनाए. 59 शतक और 96 अर्धशतक जड़े. इसके अलावा 176 विकेट भी झटके.

    30 में से 15 टेस्ट जीते, 10 ड्रॉ रहे

    बतौर कप्तान इयान चैपल का रिकॉर्ड टेस्ट में शानदार रहा. उन्होंने 30 टेस्ट में कप्तानी की. 15 में जीत मिली, जबकि 5 में हार. 10 मुकाबले ड्रॉ रहे. इसके अलावा उन्होंने 11 वनडे में भी ऑस्ट्रेलिया की कमान संभाली. 6 में टीम को जीत दिलाई और 5 में हार मिली. वे 1975 वर्ल्ड कप में टीम के कप्तान थे. वे बतौर कप्तान विरोधी टीम के खिलाड़ियों पर टिप्पणी करने के कारण कई बार विवादों में आए. लेकिन उनका कहना था कि वे टेस्ट के दिन 7 घंटे के दौरान किसी के दोस्त नहीं हैं. ग्रेग चैपल ने 48 टेस्ट जबकि विक रिचर्ड्सन ने 5 टेस्ट में कप्तानी की थी. विक ने 4 में जीत हासिल की, जबकि एक मुकाबला ड्रॉ रहा. यानी इयान चैपल के नाना ने बतौर कप्तान एक भी मैच नहीं गंवाया था.

    वर्ल्ड सीरीज के कारण नेशनल टीम से नहीं खेले

    1976 में इयान चैपल ने कैरी पैकर की ओर से शुरू किए गए वर्ल्ड सीरीज क्रिकेट के कारण ऑस्ट्रेलिया की टीम से खेलने से मना कर दिया था. इस सीरीज में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के भी कई दिग्गज खिलाड़ी उतरे थे. उनसे टीम की कमान भी वापस ले ली गई थी. लेकिन सीरीज के बंद होने के बाद एक बार फिर इयान चैपल को 1979-80 में ऑस्ट्रेलिया टीम का कप्तान बनाया गया था.

    यह भी पढ़ें: IPL 2021: राजस्थान राॅयल्स को हार के बाद लगा बड़ा झटका, कप्तान सहित पूरी टीम को मिली सजा

    यह भी पढ़ें: IPL 2021: ऋषभ पंत ने बतौर कप्तान भी खुद को साबित किया, दिल्ली कैपिटल्स इतिहास रचने के करीब

    शेन वॉर्न ने कही थी बड़ी बात

    ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न ने अपने करियर में इयान चैपल को महत्वपूर्ण बताया था. उन्होंने कहा था कि वे उन्हें देखकर ही क्रिकेट में आए थे. इयान चैपल के भाई ग्रेग चैपल और ट्रेवर चैपल भी ऑस्ट्रेलिया की ओर से इंटरनेशनल मुकाबले में उतरे. इसके अलावा उनके पिता भी क्रिकेटर रहे. वे आज बतौर कमेंटेटर क्रिकेट खेल जुड़े हुए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज