जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान हीथ स्ट्रीक पर लगा 8 साल का बैन, भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए

Heath Streak Ban: जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान हीथ स्ट्रीक पर 8 साल का प्रतिबंध (फोटो-हीथ स्ट्रीक फेसबुक)

Heath Streak Ban: जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान हीथ स्ट्रीक पर 8 साल का प्रतिबंध (फोटो-हीथ स्ट्रीक फेसबुक)

जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान हीथ स्ट्रीक (Heath Streak) ने माना है कि उन्होंने बतौर कोच आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता का उल्लंघन किया, जिसके बाद उनपर 8 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 4:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान और बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक हीथ स्ट्रीक (Heath Streak Ban) पर 8 साल का बैन लग गया है. हीथ स्ट्रीक ने भ्रष्टाचार रोकने के नियमों के उल्लंघन का जुर्म कबूला है, जिसके बाद उनपर आईसीसी ने ये कार्रवाई की है. हीथ स्ट्रीक ने माना है कि उन्होंने आईसीसी एंटी करप्शन कोड के पांच नियमों का उल्लंघन किया है.

जिम्बाब्वे के महान गेंदबाजों में से एक हीथ स्ट्रीक साल 2017 और 2018 के बीच हुए कई मुकाबलों में शक के घेरे में थे. बतौर कोच उनपर कई मुकाबलों में भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन का आरोप लगा था. इन मुकाबलों में इंरनेशनल क्रिकेट, आईपीएल, बांग्लादेश प्रीमियर लीग और अफगानिस्तान प्रीमियर लीग के मैच भी शामिल हैं. खुद पर लगे आरोपों के खिलाफ हीथ स्ट्रीक ने अपील भी की लेकिन आखिरकार उन्होंने अपने गलती मान ली. अब हीथ स्ट्रीक 8 सालों तक क्रिकेट की किसी भी गतिविधि में हिस्सा नहीं ले पाएंगे.

हीथ स्ट्रीक का करियर

हीथ स्ट्रीक ने जिम्बाब्वे के लिए 65 टेस्ट और 189 वनडे मैच खेले. दाएं हाथ के इस स्विंग गेंदबाज ने 216 टेस्ट और 239 वनडे विकेट हासिल किये. यही नहीं स्ट्रीक ने टेस्ट में 1990 और वनडे में 2942 रन भी बनाए. साल 2005 में इस क्रिकेटर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया और वो इंग्लैंड के वॉरविकशर क्रिकेट क्लब के कप्तान बन गए.
ICC ODI Rankings: बाबर आजम ने विराट कोहली की बादशाहत को किया खत्म, बने नंबर 1 बल्लेबाज

हीथ स्ट्रीक का लंबा कोचिंग करियर

हीथ स्ट्रीक ने क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद कोचिंग की राह पकड़ी और उन्होंने जिम्बाब्वे के अलावा दुनियाभर की कई बड़ी टीमों के साथ बतौर कोच काम किया. साल 2009 में हीथ स्ट्रीक जिम्बाब्वे के गेंदबाजी कोच बने और उन्होंने ग्रांट फ्लावर और एलेन बूचर के साथ काम किया. साल 2013 में हीथ स्ट्रीक का करार खत्म हो गया क्योंकि जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड के साथ उनका वित्तीय मतभेद हो गया. साल 2014 से लेकर 2016 तक स्ट्रीक जिम्बाब्वे के गेंदबाजी कोच रहे. साल 2016 में हीथ स्ट्रीक जिम्बाब्वे के हेड कोच नियुक्त हुए और बतौर गेंदबाजी कोच वो आईपीएल फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ भी जुड़े.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज