लाइव टीवी

हर टूर्नामेंट में लगाया रनों का अंबार, फिर भी टीम इंडिया में नहीं मिली जगह, मौका मिलते ही छा गए मयंक अग्रवाल

News18Hindi
Updated: October 3, 2019, 12:29 PM IST
हर टूर्नामेंट में लगाया रनों का अंबार, फिर भी टीम इंडिया में नहीं मिली जगह, मौका मिलते ही छा गए मयंक अग्रवाल
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक लगाने वाले मयंक अग्रवाल भारतीय जमीन पर पहला टेस्ट ही खेल रहे हैं. (फाइल फोटो)

टेस्ट करियर (Test Carrier) का आगाज करते हुए मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ 65 की औसत से 195 रन बनाए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 3, 2019, 12:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal)...भले ही आप दुनियाभर के लोगों से इस बल्लेबाज के बारे में पूछें तो अधिकतर लोग इस नाम से वाकिफ नहीं होंगे, लेकिन भारत के घरेलू क्रिकेट में ये नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है. और यकीन मानिए ऐसा बेवजह नहीं है. मयंक अग्रवाल ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ जारी विशाखापत्तनम टेस्ट में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला शतक जड़ा. उन्होंने रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 317 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की. मगर क्या आप जानते हैं कि मयंक अग्रवाल आखिर हैं कौन, आखिर कब से वे टीम इंडिया में अपने मौो का इंतजार कर रहे थे. और क्या वजह रही कि उन्हें अब जाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिला. शायद बहुत लोग मयंक के संघर्ष से वाकिफ नहीं होंगे, लेकिन इस बात में भी कोई शक नहीं, कि वे इसे जानना जरूर चाहेंगे.

साल 2017-18... मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के करियर का ये वो सुनहरा दौर है जब उन्होंने अपने करियर को नई ऊंचाई देने के लिए लंबी उड़ान भरी. रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने. फिर विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी का तमगा हासिल किया. इतना ही नहीं, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी बेहतरीन बल्लेबाजी कर अपनी छाप छोड़ी. इंडिया ए के लिए खेलते हुए तीन शतक और एक दोहरा शतक भी जड़ा. मतलब भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए प्रदर्शन के पैमाने पर जो कुछ भी हो सकता था, वो कर्नाटक के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने बखूबी किया. यहां तक कि फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तिहरा शतक तक जड़ा.

cricket, cricket news, sports news, rohit sharma, mayank agarwal, india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket tea, first test, mayank agarwal century, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, मयंक अग्रवाल, मयंक अग्रवाल शतक, रणजी ट्रॉफी, बीसीसीआई, विशाखापत्तनम टेस्ट
मयंक अग्रवाल ने टीम इंडिया में आने से पहले घरेलू क्रिकेट में जमकर रन बनाए. (AP)


घरेलू क्रिकेट में इस जबरदस्त प्रदर्शन के बाद बदले में मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) को सीजन खत्म होने के दस महीने बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के लिए चुना गया. जानते हैं किसलिए? बेंच पर एक रिजर्व खिलाड़ी के तौर पर बैठे रहने के लिए और वो भी तब जबकि तुलनात्मक रूप से कमजोर प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाफ पहला टेस्ट महज तीन दिनों के भीतर ही खत्म हो गया था.

2017 का वो सुनहरा साल
साल 2017 ने मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के करियर में अहम भूमिका निभाई. इस साल उन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तीन अर्धशतकों के साथ 28.66 की औसत से 258 रन बनाए. वहीं रणजी सत्र में तो कमाल का प्रदर्शन करते हुए 1160 रन बना डाले. ये रन उन्होंने 105.45 के असाधारण औसत से बनाए और इसमें दो अर्धशतक के साथ पांच शतक भी शामिल रहे. इतना ही नहीं, अपनी जबरदस्त लय का सबूत देने हुए मयंक ने विजय हजारे ट्रॉफी में 90.37 के औसत से 723 रन बनाए. इनमें चार अर्धशतक और तीन शतक भी जड़े.

वर्ल्ड कप में चौंकाने वाली एंट्रीमयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) को आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में चौंकाने वाली एंट्री मिली जब उन्हें विजय शंकर के चोटिल होने के बाद उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया गया. हालांकि वह कोई मैच नहीं खेल सके. वर्ल्ड कप के लिए नजरअंदाज किए जाने वाले अंबाती रायडू ने मयंक अग्रवाल को विजय शंकर का रिप्लेसमेंट चुने जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. हालांकि इसके बाद उन्होंने यूटर्न लेते हुए क्रिकेट में वापसी कर ली.

cricket, cricket news, sports news, rohit sharma, mayank agarwal, india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket tea, first test, mayank agarwal century, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, मयंक अग्रवाल, मयंक अग्रवाल शतक, रणजी ट्रॉफी, बीसीसीआई, विशाखापत्तनम टेस्ट
मयंक अग्रवाल ने अपने टेस्ट करियर का आगाज पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था. (AP)


ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया डेब्यू
मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने अपना टेस्ट डेब्यू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले साल किया. उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए दो मैचों में 65 की औसत से 195 रन बनाए. इंग्लैंड में पिछले साल हुई त्रिकोणीय सीरीज में मयंक इंडिया ए के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे. उन्होंने 71.75 की औसत से चार मैचों में 287 रन बनाए. उनका स्ट्राइक रेट 105.90 का रहा. इसके बाद उन्होंने दो टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ भी खेले, जिनमें उन्होंने किंग्सटन टेस्ट में एक अर्धशतक समेत 59 रन बनाए. वहीं दूसरे टेस्ट में उनके बल्ले से महज 5 और 16 रन ही निकल सके.

मयंक अग्रवाल का करियर
कर्नाटक के 28 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ विशाखापत्तनम टेस्ट से पहले चार टेस्ट मैच खेले थे. इनमें उन्होंने 39.28 की औसत से 275 रन बनाए. इनमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं. जहां तक बात उनके फर्स्ट क्लास करियर की है तो उन्होंने 54 मैचों में 47.89 की औसत से 4167 रन बनाए हैं. इनमें सर्वाधिक स्कोर नाबाद 304 रन है. उन्होंने 8 शतक और 25 अर्धशतक भी जड़े हैं. इतना ही नहीं, उन्होंने 75 लिस्ट ए मैचों में 48.71 की औसत से 3605 रन बनाए हैं, जिनमें 14 शतक और 12 अर्धशतक हैं.

आईपीएल में भी जलवा, 142 के स्ट्राइक रेट से बनाए रन
वर्ल्ड कप 2019 से पहले मयंक अग्रवाल ने आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए 13 मैच खेले. इनमें उन्होंने 25.53 के औसत से 332 रन बनाए. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 141.88 का रहा. अगर मयंक अग्रवाल आगामी नवंबर में बांग्लादेश के खिलाफ प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बनते हैं तो उन्हें रोहित शर्मा के साथ बतौर ओपनर आजमाया जा सकता है. ऐसे में केएल राहुल को चौथे नंबर की पोजिशन दी जा सकती है.

इमरान खान पर भारतीय खिलाड़ियों का 'हमला, आतंकियों को शरण देने वाला बताया

श्रीलंका की टीम ने पाकिस्तान के गेंदबाजों को पीटा, फील्डिंग में भी कटी नाक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 12:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर