लाइव टीवी

एमएस धोनी के विजयी छक्के पर 'भड़के' गौतम गंभीर, कहा-पूरी टीम की वजह से जीते थे 2011 का विश्व कप

News18Hindi
Updated: April 2, 2020, 1:21 PM IST
एमएस धोनी के विजयी छक्के पर 'भड़के' गौतम गंभीर, कहा-पूरी टीम की वजह से जीते थे 2011 का विश्व कप
2011 विश्व कप फाइनल में गौतम गंभीर ने मैच विजयी पारी खेली थी.

9 साल पहले साल 2011 में आज ही के दिन भारतीय टीम (Indian Cricket Team) ने आईसीसी वनडे विश्व कप (ICC OneDay World Cup) अपने नाम किया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट इतिहास में 2 अप्रैल का दिन सुनहरे अक्षरों में दर्ज है. इसी दिन नौ साल पहले टीम इंडिया ने श्रीलंका को हराकर अपना दूसरा वनडे विश्व कप (World Cup) जीता था. साल 2011 में मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में नुवान कुलासेकरा की गेंद पर लगाए तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के उस विजयी छक्के को भला कौन क्रिकेटप्रेमी भूल सकता है. आज भी क्रिकेट प्रशंसक जब उस लम्हे को याद करते हैं तो जैसे मैच का वो रोमांच फिर से लौट आता है.

गंभीर ने खेली थी फाइनल में मैच विजयी पारी
भारतीय क्रिकेट की इस शानदार उपलब्धि को याद करते हुए अक्सर महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के विजयी छक्के की बात होती है. यहां तक कि आज के दिन इसका वीडियो सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कर रहा है. मगर श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में 97 रनों की मैच विजयी पारी खेलने वाले गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इसे लेकर इशारों-इशारों में धोनी पर निशाना साधा है कि विश्व कप जीत किसी एक खिलाड़ी नहीं, बल्कि पूरी टीम की वजह से मिली थी.





पूरी भारतीय टीम ने जीता था विश्व कप और पूरे देश ने भी
दरअसल, क्रिकेट वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने एक ट्वीट किया था, जिसमें उसने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) द्वारा लगाए गए विजयी छक्के की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि इस एक शॉट ने साल 2011 में लाखों भारतीयों को जश्न में डुबो दिया. इसी का जवाब देते हुए गंभीर (Gautam Gambhir) ने ट्वीट किया, ये सिर्फ एक रिमाइंडर है. 2011 का विश्व कप पूरे भारत ने जीता था. पूरी भारतीय टीम ने जीता था और उसके सपोर्ट स्टाफ ने भी.

इसलिए गलत नहीं हैं गंभीर!
दरअसल, पूरी दुनिया आज भले ही महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के विजयी छक्के को ही टीम इंडिया की विश्वकप जीत की पहचान मान रही हो, लेकिन सच्चाई ये भी है कि इस जीत का आधार गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) की बेहतरीन 97 रनों की पारी ने रखा था. जब भारत ने 31 रन पर सचिन और सहवाग के विकेट गंवा दिए थे तो वो गंभीर ही थे, जिन्होंने पहले विराट कोहली के साथ 84 रन की साझेदारी की और ​फिर धोनी के साथ 109 रन जोड़े. अगर यूं कहा जाए कि टीम इंडिया को विजयी मंजिल के दरवाजे तक ले जाने का काम गंभीर ने किया था तो गलत नहीं होगा.

हरभजन सिंह ने आलोचकों को दिया करारा जवाब, कहा-नफरत और वायरस मत फैलाओ

युवराज बोले-खिलाड़ियों के मैदान के बाहर के मुद्दे प्रदर्शन पर डाल रहे असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2020, 12:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading