लाइव टीवी
Elec-widget

बॉलीवुड के 'सिंबा' रणवीर सिंह कैसे बने विश्व चैंपियन कप्तान कपिल देव, जानिए पूरी कहानी

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 11:26 AM IST
बॉलीवुड के 'सिंबा' रणवीर सिंह कैसे बने विश्व चैंपियन कप्तान कपिल देव, जानिए पूरी कहानी
रणवीर सिंह 83 फिल्म में कपिल देव की भूमिका निभा रहे हैं

रणवीर सिंह‌ (Ranveer Singh) की गेंदबाजी ने सभी को हैरान कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 11:26 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. इस साल जुलाई में जैसे  ही फिल्‍म 83 में रणवीर सिंह (Ranveer Singh) का पहला लुक सामने आया, उसे देखकर हर कोई हैरान रह गया था. रणवीर दिखने में हूबहू यंग कपिल देव (Kapil Dev) की तरह लग रहे हैं. अपनी पिछली फिल्म सिंबा, गली ब्वॉय से एकदम अलग ही वह नजर आए. इस फिल्‍म में उन्हें देखकर हर कोई एक बार तो यंग कपिल देव ही समझ बैठेगा. लेकिन उन्होंने झुग्गी झोपड़ी के लड़के से कपिल देव बनकर हर किसी को हैरान किया. इसके पीछे के सफर का खुलासा पूर्व क्रिकेट बलविंदर संधू के सहायक राजीव मेहरा ने किया, जिन्होंने कबीर खान की टीम  को कोचिंग दी. मुंबई मिरर से बात करते हुए राजीव ने बताया था कि ट्रेनिंग सेशन पिछले साल अगस्‍त माह में शुरू हुआ था. हर कोई अपने रोल को जानता था, लेकिन उनकी जिम्मेदारी तकनीकी रूप से टीम को तैयार करने की थी. रणवीर सिंह (Ranveer Singh) की ट्रेनिंग के बारे में बताते हुए राजीव ने कहा कि वह एक औसत बल्लेबाज ‌थे, लेकिन उनकी गेंदबाजी ने सभी को सिर पकड़ने पर मजबूर कर दिया.

ranveer singh, kapil dev, 1983 world cup रणवीर सिंह, कपिल देव

उन्होंने बताया कि 83 टीम से जुड़ने के समय रणवीर का वजन 86 किग्रा था और फिल्म में उनसे 75 किग्रा वजन की डिमांड थी. इसीलिए वह मेरे साथ जिम में ट्रेनिंग करने लगे. स्विमिंग करने लगे.उन्होंने कहा कि सिर्फ रणवीर ही नहीं कोचिंग टीम ने फिल्म के सभी लोगों के लिए व्यक्तिगत ट्रेनिंग की भी योजना बनाई. जो स्किल्स पर आधारित थी. उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी चुनौती थी कि व‌ह क्रिकेटर्स की तरह सोचें. इसके बाद उन्हाेंने सभी लोगों को स्पोर्ट्स मैन की तरह ढ़ाला.



उन्हें बॉडी लैंग्वेज की ट्रेनिंग दी गई.  इसके बाद बैटिंग और बॉलिंग की बेसिक तकनीक भी सिखाई गई. यह बिल्कुल बच्चों को सिखाने जैसा था. उन्हाेंने बताया कि वह दिन में दो  बार अभ्यास करते थे. सुबह का सत्र  स्किल डेवलपमेंट के लिए था और शाम का सत्र स्ट्रेंथ ट्रे‌निंग के लिए था. करीब सालभर की ट्रेनिंग के साथ टीम लंदन में फिल्म की शूटिंग के लिए गई. उन्होंने कहा कि देखने पर वे सभी 1983 वर्ल्ड कप (1983 World Cup) टीम की तरह ही लगेंगे और यहीं फिल्म की ताकत है.

विराट और रोहित की कप्तानी पर शिखर धवन ने दिया बड़ा बयान, जानिए क्या खुलासा किया

रसेल के 11 छक्कों पर भारी थी इस बल्लेबाज की तूफानी पारी, अब धोनी को नहीं रहा 'भरोसा'!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 10:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...