चौकीदार का बेटा था ये दिग्गज गेंदबाज, फुटपाथ पर बिताई रातें, तांगे वाले ने बदली किस्मत!

चौकीदार का बेटा था ये दिग्गज गेंदबाज, फुटपाथ पर बिताई रातें, तांगे वाले ने बदली किस्मत!
शोएब अख्तर की दिलचस्प कहानी

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) जैसी रफ्तार अबतक किसी गेंदबाज की नहीं रही है, जानिए कैसे एक चौकीदार के बेटे ने दुनिया पर राज किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. रनअप ऐसा...जैसे कोई जेट प्लेन उड़ान भर रहा हो. रफ्तार ऐसी कि अच्छों-अच्छों के होश उड़ जाएं. बात हो रही है दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) की, जिन्होंने 161 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी है. वो गेंदबाज जो बल्लेबाजों के लिए खौफ से कम नहीं थे. अच्छे-अच्छे बल्लेबाज उनकी बाउंसर के सामने लड़खड़ा जाते थे. ब्रायन लारा जैसे बल्लेबाज को शोएब अख्तर ने अपनी बाउंसर से जमीन पर गिरा दिया था. शोएब अख्तर आज भी पूरी दुनिया में काफी मशहूर हैं. उनकी भारत में भी बहुत बड़ी फैन फॉलोइंग है. लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब शोएब अख्तर को कोई नहीं जानता था. शौहरत तो छोड़िए उनके पास दो वक्त का खाना खाने के पैसे नहीं थे. आइए आपको सुनाते हैं शोएब अख्तर की दास्तान

चौकीदार के बेटे थे शोएब अख्तर
शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) का जन्म रावलपिंडी में हुआ था और उनके पिता एक ऑयल कंपनी में चौकीदार थे. जायज सी बात है शोएब अख्तर बेहद ही गरीब परिवार में जन्मे थे. शोएब अख्तर ने एक इंटरव्यू में बताया कि उन्हें जिंदगी में हमेशा ना सुनने को ही मिलता था. माता-पिता उन्हें पैसे, बाहर जाने के लिए मना करते थे. लोग उन्हें दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज नहीं बनने की बात कहते थे. हालांकि शोएब अख्तर ने इस ना को हां में बदलने की बात ठानी हुई थी.

तांगे वाले ने बदली किस्मत!
शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) को एक दिन पता चला कि लाहौर में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस टीम के लिए ट्रायल चल रहे हैं. लेकिन शोएब के पास मैदान तक जाने के पैसे नहीं थे. शोएब अख्तर ने अपने परिवार को बिना बताए लाहौर जाने का फैसला किया. वो बस की छत पर बैठकर लाहौर तक पहुंचे. लाहौर पहुंचने से पहले ही उन्हें बस से उतार दिया गया. इसके बाद अख्तर को रास्ते में एक तांगे वाला मिला. उसने उन्हें लाहौर तक पहुंचाया और भूखे शोएब अख्तर को खाना भी खिलाया. शोएब अख्तर ने उसी तांगे वाले के साथ फुटपाथ पर रात गुजारी. अगले दिन वही तांगेवाला उन्हें लाहौर के उस स्टेडियम तक ले गया जहां ट्रायल होने वाला था.



ट्रायल में अख्तर ने बरपाया कहर
शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) जब ट्रायल के लिए ग्राउंड में पहुंचे, तो उन्होंने देखा कि वहां 5000 लड़के थे. उन लड़कों का ट्रायल पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज जहीर अब्बास ले रहे थे. शोएब अख्तर ने ग्राउंड पर पहुंचकर ही रनिंग शुरू कर दी और उसके 5 से 6 चक्कर लगाए. शोएब अख्तर को जहीर अब्बास ने देखा और उनसे पूछा कि वो कौन हैं? शोएब ने जवाब दिया कि वो बहुत तेज गेंद फेंकते हैं. इसके बाद जहीर ने शोएब को गेंद फेंकने के लिए कहा. शोएब अख्तर का रनअप काफी लंबा था, जिसे देख सब हैरान रह गए. शोएब अख्तर ने पहली ही गेंद बाउंसर फेंकी जो कि बल्लेबाज के सिर पर लगी. इसके बाद अगली गेंद उन्होंने बल्लेबाज की पसलियों में मारी. जहीर अब्बास को शोएब अख्तर भा गए और उन्हें पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस में नौकरी मिल गई. शोएब अख्तर की पीआईए में महज 500 रुपये सैलरी थी, लेकिन इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. जब उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा, उनका एक अलग फैन बेस बन गया. शोएब अख्तर ने अपनी रफ्तार से 46 टेस्ट में 178 विकेट झटके, वनडे में उन्होंने 163 मैचों में 247 विकेट लिये. 15 टी20 में अख्तर ने 19 विकेट झटके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading