IND vs SA : धर्मशाला वनडे पर तूफान और बारिश का साया, जानिए क्या शुरू भी हो सकेगा मैच?

धर्मशाला स्टेडियम की पिच तेज गेंदबाजों की मददगार रहती है. (फाइल फोटो)

धर्मशाला स्टेडियम की पिच तेज गेंदबाजों की मददगार रहती है. (फाइल फोटो)

भारत और साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज (One Day Series) का पहला मुकाबला गुरुवार 12 मार्च को धर्मशाला (Dharamshala) में खेला जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2020, 8:07 AM IST
  • Share this:
धर्मशाला. विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुआई में टीम इंडिया (Team India) और क्विंटन डी कॉक की कप्तानी में साउथ अफ्रीका (South Africa) तीन मैचों की वनडे सीरीज में भिड़ने के लिए तैयार हैं. इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) से पहले भारतीय टीम की ये आखिरी सीरीज है, जिसमें जीत दर्ज करने के लिए टीम कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेगी. तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार 12 मार्च को धर्मशाला (Dharamshala) में खेला जाना है. हालांकि प्रशंसकों के लिए पहले वनडे से पूर्व ही बुरी खबर आ गई है.



दरअसल, मौसम विभाग के मुताबिक, भारत-साउथ अफ्रीका मैच (India vs South Africa Match) में बारिश विलेन बन सकती है. विभाग के शिमला केंद्र ने 12 मार्च को ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. साथ ही अनुमान जताया गया है कि मैच के दिन तूफान और बारिश खेल बिगाड़ सकते हैं. इस लिहाज से कम ओवरों का मैच तो छोड़ ही दीजिए, मैच शुरू भी हो सकेगा इस पर संदेह बना हुआ है. सिर्फ 12 मार्च ही नहीं, बल्कि 12 से लेकर 15 मार्च तक हालात ऐसे ही रहने की आशंका जताई गई है.



पिछला मैच चढ़ गया था बारिश की भेंट

दिलचस्प बात है कि इसी मैदान पर भारत-साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच पिछला मुकाबला भी बारिश की भेंट चढ़ गया था. तब 15 सितंबर 2019 को भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मुकाबला धर्मशाला में होना था.
इंद्रू नाग की शरण में पहुंचा एचपीसीए



भारत-दक्षिण अफ्रीका वन-डे सीरीज (India vs South Africa One Day Series) को लेकर एचपीसीए (HPCA) ने धर्मशाला के देवता इंद्रु नाग के खनियारा स्थित प्राचीन मंदिर में हवन-यज्ञ भी करवाया है. इस दौरान हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने इंद्रु नाग मंदिर में मैच के दौरान बारिश न होने की कामना की. धर्मशाला और आसपास क्षेत्र में मान्यता है कि इंद्रु नाग न केवल धौलाधार क्षेत्र के पीठासीन देवता हैं बल्कि इसे बारिश का देवता भी माना जाता है. इंद्रु नाग भगवान इंद्र के साक्षात रूप हैं.



...जब स्टेडियम को छोड़कर आसपास हुई बारिश

माना जाता है कि साल 2013 में जब इंग्लैंड के खिलाफ वनडे मुकाबले के तौर पर धर्मशाला में पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया था तब राज्य क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने इंद्रू नाग देवता की पूजा की थी. इसके बाद मैच पर बारिश का कोई असर नहीं पड़ा. मगर मान्यता ये भी है कि जब मैच चल रहा था तो स्टेडियम के आसपास के इलाकों में जमकर बारिश हुई थी. इसी के बाद से माना जाने लगा कि मैच में बारिश का खलल रोकने के लिए इंद्रू नाग देवता की पूजा जरूरी है.



विराट कोहली की कमाई का हुआ खुलासा, भारतीय कप्तान के पास अब इतने अरब रुपये



सचिन तेंदुलकर के फैसले से नाखुश वीरेंद्र सहवाग, मैच के बाद दे डाला बड़ा बयान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज