इरफान ने 17 साल बाद बताया अपने डेब्यू का सच, कहा- ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मुझे नहीं ले जाना चाहते थे गांगुली

इरफान ने 17 साल बाद बताया अपने डेब्यू का सच, कहा- ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मुझे नहीं ले जाना चाहते थे गांगुली
इरफान पठान क्रिकेट से रिटायरमेंट ले चुके हैं

इरफान पठान (Irfan Pathan) ने साल 2003 में 19 साल की उम्र में भारतीय टीम में डेब्यू किया था

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान (Irfan Pathan) ने अपने डेब्यू को लेकर बड़ा बयान दिया है. इरफान के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया (Australia) के दौरे पर जहां उन्होंने महज 19 साल की उम्र में अपनी पहचान बना ली थी टीम के कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) उन्हें उसी दौरे पर नहीं ले जाना चाहते थे. एक इंटरव्यू के दौरान इरफान ने खुलासा किया कि कैसे सौरव गांगुली ने खुद उन्हें यह बताया था कि वह नहीं चाहते थे कि इरफान ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम का हिस्सा हो.

सौरव को नहीं था 19 साल के पठान पर भरोसा
एक न्यूज शो में पठान (Irfan Pathan) ने अपने पहले विदेशी दौरे को याद करते हुए कहा कि 19 साल की उम्र में वह सीरीज खेलना उनके लिए बहुत बड़ी बात थी. उन्होंने कहा, 'दौरे के बाद सौरव गांगुली मेरे पास आए और उन्होंने कहा, इरफान तुम नहीं जानते मैं तुम्हे इस दौरे पर नहीं लाना चाहता था. टीम मीटिंग में मैंने तुम्हें ले जाने से मना कर दिया था. तबतक मैंने तुम्हें गेंदबाजी करते नहीं देखा था मुझे लगता था कि 19 साल के लड़के को इस मुश्किल दौरे पर ले जाना सही नहीं है. हालांकि जब मैंने तुम्हें गेंदबाजी करते देखा तो यकीन हो गया कि तुम अच्छा प्रदर्शन करोगे.'  2003 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे के समय इरफान पठान का पहला टेस्ट विकेट मैथ्यू हेडन थे. पठान ने स्विंग गेंदबाजी देख सभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी दंग रह गए थे.

इरफान को मिला दादा का साथ



इरफान ने आगे कहा कि मेरे पूरे करियर में दादा ने मेरा समर्थन किया. उन्होंने कहा, 'एक खास बात दादा की ये थी कि वो जिस भी खिलाड़ी को पसंद करते थे वो उसका पूरी तरह सपोर्ट करते थे. अगर उन्हें लगता था कि एक खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है तो वो उसे जरूर बैक अप करते थे. जब कप्तान आपके पास आकर ऐसा कहता है तो आप ढेर सारा आत्मविश्वास मिलता है. इस तरह आपकी नजरों में अपने कप्तान के लिए भी इज्जत बढ़ जाती है.' इरफान पठान ने अपने करियर में तीनों फॉर्मेट में खेलते हए 300 विकेट हासिल किए थे. इस साल की शुरुआत में ही उन्होंने अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया था.



1983 वर्ल्ड कप पर बनी फिल्म में इन दिग्गज क्रिकेटर्स के बेटे निभा रहे अपने पिता की भूमिका

फैक्ट चेक: सूमो रेसलर की तरह हुआ माराडोना का शरीर, जानिए वीडियो की सच्चाई

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading