लाइव टीवी

बांग्लादेश को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज ने कहा-टीम इंडिया से निकाले जाने की वजह मैं खुद

News18Hindi
Updated: April 9, 2020, 2:00 PM IST
बांग्लादेश को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज ने कहा-टीम इंडिया से निकाले जाने की वजह मैं खुद
वसीम जाफर की गिनती घरेलू क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों में की जाती है.

बांग्लादेश ने भारतीय टीम (Indian Team) को हराकर अंडर19 विश्व कप जीता था. टूर्नामेंट से पहले भारतीय क्रिकेटर ने बांग्लादेश के बल्लेबाजों की मदद की थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेटर वसीम जाफर (Wasim Jaffer) घरेलू क्रिकेट का बहुत बड़ा नाम हैं. 42 साल के इस बल्लेबाज ने 1996 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू किया था. उसके बाद से लगातार 24 साल तक खेलने के बाद इसी साल जाफर ने संन्यास का ऐलान किया. अपने घरेलू करियर में वसीम जाफर ने अधिकतर समय मुंबई के लिए क्रिकेट खेला और उसके बाद विदर्भ का रुख किया. जाफर ने मुंबई के लिए भी कई खिताब जीते और विदर्भ की टीम में शामिल होकर भी ये सिलसिला जारी रखा.

टीम से निकाले जाने के लिए मैं खुद जिम्मेदार
वसीम जाफर (Wasim Jaffer) से पूछा गया कि वो टीम इंडिया (Team India) में खेलने के अधिक मौके नहीं मिलने के लिए वो किसे जिम्मेदार मानते हैं. इस पर उन्होंने कहा, निश्चित रूप से मैं और ज्यादा टेस्ट खेलना चाहता था. मगर हो सकता है कि मेरे प्रदर्शन में निरंतरता की कमी थी. इसके लिए कोई और नहीं, बल्कि मैं खुद जिम्मेदार हूं. मेरे इस रेस में पिछड़ने की एक वजह ये भी थी कि तब भारतीय क्रिकेट में कई बेहतरीन ओपनर अपनी पहचान बना रहे थे.

रणजी इतिहास के सबसे सफल बल्लेबाज



वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने 260 प्रथम श्रेणी मैचों में हिस्सा लिया, जिनमें उन्होंने 50.67 की औसत से 19410 रन बनाए. वह रणजी ट्रॉफी इतिहास (Ranji Trophy History) में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. हालांकि वसीम जाफर ने टीम इंडिया के लिए 31 टेस्ट भी खेले हैं, जिनमें उन्होंने 34.10 की औसत से 1944 रन बनाए. जाफर ने पांच शतक लगाए, जिनमें दो दोहरे शतक भी शामिल हैं. साल 2008 के बाद से भारतीय चयनकर्ताओं ने वसीम जाफर को टीम इंडिया में शामिल नहीं किया.



छह पारियों में बनाए सिर्फ 47 रन
पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने बताया कि साल 2007-08 में आस्ट्रेलिया में हुई टेस्ट सीरीज (Australia Test Series) से सबकुछ खराब हुआ. मैं तब मानसिक रूप से वहां नहीं था. बल्लेबाजी के लिए हालात अच्छे थे, लेकिन मैंने बिल्कुल भी अच्छा खेल नहीं दिखाया. ब्रेट ली बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे थे, लेकिन मुझे उनका सामना करने के लिए अधिक प्रयास करने चाहिए थे. मैं किस्मत को बहुत मानता हूं. कुछ चीजें न होने के लिए ही बनी होती हैं. वसीम जाफर ने आस्ट्रेलिया दौरे पर छह पारियों में महज 47 रन बनाए थे. इसके बाद घर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा. यही वजह रही कि श्रीलंका के खिलाफ अगली सीरीज में उनकी जगह गौतम गंभीर को जगह दी गई.

पिछले साल बांग्लादेश ने बनाया था कोच
बहुत कम लोग जानते हैं कि पिछले साल बांग्लादेश को अंडर19 विश्व चैंपियन बनाने में वसीम जाफर (Wasim Jaffer) का भी योगदान था. दरअसल, 2019 में बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (Bangladesh Cricket Board) ने वसीम जाफर (Wasim Jaffar) को अपनी हाई परफॉर्मेंस एकेडमी के बल्लेबाजी कोच के तौर पर नियुक्त किया था. अपने कार्यकाल में वसीम जाफर ने बांग्लादेश अंडर19 क्रिकेट टीम के कप्तान अकबर अली (Akbar Ali) और शहादत हुसैन समेत कई खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी. जाफर ने बांग्लादेश को चैंपियन बनने की बधाई भी दी.

पाक दिग्गज ने कहा-खिलाड़ी तो प्यादे हैं, ये भी हो सकते हैं फिक्सिंग में शामिल

शोएब अख्तर ने भारत से मांगी मदद, कहा-ये काम किया तो पाकिस्तान हमेशा याद रखेगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 2:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading