• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • इंग्लैंड की रोटेशन पॉलिसी पर भड़के इयान बॉथम ने दी गाली, बोले- ये बिल्कुल कचरा

इंग्लैंड की रोटेशन पॉलिसी पर भड़के इयान बॉथम ने दी गाली, बोले- ये बिल्कुल कचरा

इंग्लैंड के पूर्व ऑलराउंडर इयान बॉथम ने रोटेशन पॉलिसी को लेकर इंग्लैंड क्रिकेट टीम की आलोचना की है. (Ian botham Twitter)

इंग्लैंड के पूर्व ऑलराउंडर इयान बॉथम ने रोटेशन पॉलिसी को लेकर इंग्लैंड क्रिकेट टीम की आलोचना की है. (Ian botham Twitter)

इंग्लैंड के पूर्व ऑलराउंडर इयान बॉथम (Ian Botham) ने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) के दौरान रोटेशन पॉलिसी (Rotation Policy) को अपनाने के लिए इंग्लैंड क्रिकेट टीम (England Cricket Team) की जमकर आलोचना की है. उन्होंने कहा कि ये पॉलिसी कचरा है और इसका खामियाजा इंग्लैंड टीम पिछले भारत दौरे पर भी उठा चुकी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व ऑलराउंडर इयान बॉथम(Ian Botham) ने हाल ही में खत्म हुई विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) के दौरान रोटेशन पॉलिसी (Rotation Policy) को अपनाने के लिए इंग्लैंड क्रिकेट टीम (England Cricket Team) की जमकर आलोचना की है. उन्होंने कहा कि मुझे यकीन नहीं है कि हम सही खिलाड़ियों को चुन रहे हैं. रोटेशन पॉलिसी सबसे बड़ी गलती है और ये बिल्कुल कचरा है. उन्होंने कहा कि अगर मैं क्रिकेट खेल रहा होता, तो शायद ही ये पसंद करता कि कुछ टेस्ट मैच में अच्छे प्रदर्शन के बाद कोई मुझे कहता है कि अब तुम आराम करो.

    बॉथम ने डेली मेल के अपने कॉलम में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के लिए भी इंग्लैंड टीम की जमकर खिंचाई की. उन्होंने लिखा कि 75 ओवर में 273 रन के लक्ष्य का पीछा करने के बजाए लॉर्ड्स टेस्ट में ड्रॉ के लिए खेलने का फैसला टेस्ट क्रिकेट के लिए किसी भी सूरत में अच्छा नहीं था. मुझे लगता है कि इंग्लैंड टीम जिस तरह से खेली वो न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज हारने की हकदार थी और टीम को वही मिला, जिसकी हकदार थी.

    हम न्यूजीलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में जीतने के लिए नहीं खेले: बॉथम
    इस पूर्व ऑलराउंडर ने आगे लिखा कि पिछले महीने इंग्लैंड के पास लॉर्ड्स टेस्ट में न्यूजीलैंड को हराने का अच्छा मौका था. उसे आखिरी दिन बहुत बड़े लक्ष्य का पीछा नहीं करना था. लोग कई महीनों से लाइव क्रिकेट मैच देखने का इंतजार कर रहे थे. लेकिन इंग्लैंड ने आखिरी पारी में जीतने का कोई जज्बा ही नहीं दिखाया और उन्होंने ऐसा क्यों किया, इसकी बड़ी खास वजह दी कि जोस बटलर और बेन स्टोक्स नहीं खेल रहे थे. लेकिन मैं माफी चाहता हूं. भले ही ये दोनों खिलाड़ी नहीं थे. लेकिन उस स्थिति में ये किसी और खिलाड़ी के लिए हीरो बनने का मौका हो सकता था. आपको जागने की जरूरत है.

    यह भी पढ़ें : वर्ल्ड कप 2007 में मिली करारी हार के बाद राहुल द्रविड़ ने दिखाई थी धोनी-पठान को फिल्म
    भारत दौरे पर भी इंग्लैंड की रोटेशन पॉलिसी की आलोचना हुई थी
    ये कोई पहला मौका नहीं है, जब रोटेशन पॉलिसी को लेकर पूर्व दिग्गजों ने इंग्लैंड टीम की आलोचना की है. इस साल फरवरी में भी इंग्लिश टीम ने भारत दौरे पर कई अहम खिलाड़ियों को रोटेट किया था. इसमें जोस बटलर, जेम्स एंडरसन, मोईन अली, मार्क वुड और स्टुअर्ट ब्रॉड और जॉनी बेयरस्टो जैसे खिलाड़ी शामिल थे. हालांकि, तब भी इंग्लैंड की इस पॉलिसी को लेकर दिग्गजों से सवाल खड़े किए थे और इसका नतीजा भी दिखा. जब भारत के खिलाफ पहला टेस्ट जीतने के बाद इंग्लैंड लगातार तीन टेस्ट हारा और सीरीज गंवाई. इसी वजह से वो विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में भी नहीं पहुंच सका था.

    INDW vs ENGW: भारत की जीत पर मिताली राज बोलीं-मैंने बीच में कभी हार नहीं मानी

    एशेज सीरीज में रोटेशन पॉलिसी लागू होने की संभावना कम
    बॉथम का मानना है कि अब भले ही कप्तान जो रूट ने ये इशारा किया है कि इस साल भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज टेस्ट सीरीज के दौरान इंग्लैंड अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के साथ ही उतरेगा और रोटेशन पॉलिसी का इस्तेमाल नहीं होगा. लेकिन अब देर हो चुकी है. क्योंकि इंग्लैंड टीम को जो नुकसान होना था, वो तो हो चुका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज