Home /News /sports /

इस दिग्गज खिलाड़ी ने की LBW का नियम बदलने की मांग, ICC ने मानी बात तो 'बर्बाद' हो जाएंगे बल्लेबाज!

इस दिग्गज खिलाड़ी ने की LBW का नियम बदलने की मांग, ICC ने मानी बात तो 'बर्बाद' हो जाएंगे बल्लेबाज!

इयान चैपल ने की LBW नियम बदलने की मांग

इयान चैपल ने की LBW नियम बदलने की मांग

अकसर DRS के दौरान LBW के फैसलों पर विवाद होते रहते हैं, इनसे बचने के लिए ऑस्ट्रेलियाई के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने एक बड़ा सुझाव दिया है

    नयी दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने LBW से जुड़े नियमों में आमूलचूल बदलाव का प्रस्ताव देते हुए कहा है कि अगर गेंद विकेटों से टकरा रही है तो बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए फिर चाहे गेंद कहीं भी पिच हुई हो या फिर किसी भी लाइन पर बल्लेबाज से टकराई हो. चैपल ने साथ ही कहा कि कप्तानों को गेंद पर काम करने के एक तरीके पर सहमति बनानी होगी जिससे कि स्विंग गेंदबाजी को प्रोत्साहन मिले. कयास लगाए जा रहे हैं कि कोविड-19 के बाद खेल शुरू होने की स्थिति में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद लार की जगह कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल की स्वीकृति देने पर विचार कर रहा है.

    चैपल के मुताबिक LBW नियम
    चैपल (Ian Chappell) ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ पर अपने कॉलम में लिखा, 'नए LBW नियम इस तरह होने चाहिए: कोई भी गेंद अगर बल्ले से टकराए बिना अगर पहले पैड से टकराती है और अंपायर के नजरिये से अगर स्टंप से टकरा रही है तो आउट दिया जाना चाहिए, फिर भले की शॉट खेला गया हो या नहीं.' उन्होंने कहा, 'भूल जाइए कि गेंद कहां पिच हुई और यह पैड से स्टंप की लाइन पर टकराई या नहीं. अगर गेंद स्टंप से टकरा रही है तो आउट दिया जाना चाहिए.'

    बल्लेबाजों को होगी परेशानी!
    इयान चैपल (Ian Chappell) ने कहा कि LBW के नियमों के बदलाव की उम्मीद के मुताबिक बल्लेबाज आलोचना करेंगे लेकिन इससे खेल अधिक निष्पक्ष होगा. चैपल ने कहा, 'निश्चित तौर पर इस पर बल्लेबाज हाय-तौबा मचाएंगे लेकिन यह बदलाव खेल में काफी सकारात्मक चीजें लेकर आएगा. सबसे महत्वपूर्ण यह है कि खेल निष्पक्ष होगा. ' उन्होंने कहा, 'अगर गेंदबाज नियमित रूप से स्टंप को निशाना बनाने को तैयार है तो बल्लेबाज को सिर्फ बल्ले से अपना विकेट बचाना चाहिए. पैड बल्लेबाज को चोट से बचाने के लिए हैं, आउट होने से बचाने के लिए नहीं.' चैपल ने कहा, 'इससे दायें हाथ के बल्लेबाज के लेग स्टंप के बाहर कलाई के स्पिनर के गेंद पिच कराने से निपटने के लिए बल्लेबाजों को आक्रामक रुख अपनाने को बाध्य होना पड़ेगा.'

    शेन वॉर्न और सचिन की 'जंग' आई याद
    चैपल (Ian Chappell) ने सचिन तेंदुलकर का उदाहरण दिया जिन्होंने भारत में 1997-98 की श्रृंखला के दौरान शेन वार्न की राउंड द विकेट गेंदबाजी की रणनीति का अच्छी तरह सामना किया था. चैपल ने कहा, '1997-98 में चेन्नई में राउंड द विकेट गेंदबाजी कर रहे शेन वार्न के खिलाफ सचिन तेंदुलकर का आक्रामक और सफल रवैया या फिर लेग स्टंप के बाहर पिच होकर स्टंप की तरफ आ रही गेंद पर बल्लेबाज का पैर मारना. आप क्या देखना पसंद करेंगे?' उन्होंने कहा, 'मौजूदा नियम लेग साइड के बाहर पिच होने वाली गेंदों के खिलाफ पैड से खेलने को प्रोत्साहित करते हैं जबकि यह बदलाव उन्हें अपने बल्ले का इस्तेमाल करने के लिए बाध्य करेगा. यह बदलाव स्टंप को निशाना बनाने वाले गेंदबाजों को फायदा देगा और ऑफ साइड में अधिक लोगों के साथ लेग साइड के बाहर नकारात्मक गेंदबाजी की जरूरत को कम करेगा.'

    खुद को KKR का कर्जदार मानता है दुनिया का नंबर वन गेंदबाज, इस तरह करेगा भुगतान

    कोहली से कैच छूटने के बाद धोनी बोले, बेवकूफ किसी और को बनाना, बहुत आए और गएundefined

    Tags: Cricket news, Ian Chappell, ICC

    अगली ख़बर