क्रिकेट पर मंडरा रहा है बड़ा खतरा, ध्यान नहीं दिया तो खिलाड़ियों को हो सकता है कैंसर!

क्रिकेट पर मंडरा रहा है बड़ा खतरा, ध्यान नहीं दिया तो खिलाड़ियों को हो सकता है कैंसर!
जलवायु परिवर्तन क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए बड़ा खतरा- इयान चैपल

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल के मुताबिक क्रिकेट को जलवायु परिवर्तन को गंभीरता से लेना जरूरी है

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2019, 2:58 PM IST
  • Share this:
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने टेस्ट क्रिकेट के भविष्य पर चिंता जताते हुए कहा है कि इस खेल और उसके खिलाड़ियों पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है. ईयान चैपल ने जलवायु परिवर्तन (Climate Change) को क्रिकेट के लिए बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि ये भविष्य की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है. उनके मुताबिक जलवायु परिवर्तन का असर क्रिकेट पर होना तय है और इसके लिए सभी देशों के क्रिकेट संघों को मिलकर कई अहम फैसले लेने की जरूरत है.

'प्रदूषण खिलाड़ियों के लिए हानिकारक'
इयान चैपल  (Ian Chappell)  ने ESPN Cricinfo वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखा, 'टेस्ट क्रिकेट को टी20 क्रिकेट से खतरा था लेकिन एशेज सीरीज ने इसे राहत की सांस दी है. हालांकि आने वाले दिनों में क्रिकेट को कई बड़ी चुनौतियों का सामना करना है. जलवायु परिवर्तन खेल के लिए बड़ी चिंता है और राजनेताओं को इसका हल ढूंढना ही होगा.'

धूप से बचने के लिए डे नाइट टेस्ट ज्यादा हों- इयान चैपल

इयान चैपल  (Ian Chappell)  ने आगे लिखा, 'तापमान में लगातार बढ़ोतरी खिलाड़ियों की सेहत के लिए बड़ा खतरा है. बारिश की वजह से मैच देरी से हो तो इससे गलत कुछ नहीं लेकिन जरा सोचिए अगर खिलाड़ी गर्मी की वजह से मैदान से बाहर होंगे तो क्या होगा. ये सच्चाई है कि अगर तापमान बढ़ता है तो क्रिकेटर्स को लू से बचाना जरूरी है, उनकी स्किन को भी बचाना होगा, सभी क्रिकेट एसोसिएशन को सावधानी से आगे बढ़ने की जरूरत है.'



रोहित शर्मा ने यूएन में ग्रेटा थनबर्ग के जलवायु परिवर्तन पर भाषण को समर्थन दिया था


चैपल के मुताबिक गर्मी से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा डे-नाइट टेस्ट मैच होने चाहिए. साथ ही चैपल ने कहा कि भारतीय खिलाड़ी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का यूएन में ग्रेटा थनबर्ग के जलवायु परिवर्तन पर भाषण को समर्थन देना बताता है कि ये समस्या खेल के लिए कितनी बड़ी है.

क्रिकेट पर जलवायु परिवर्तन की मार
इयान चैपल  (Ian Chappell)  की ये चिंता बिलकुल सही है क्योंकि हाल के दिनों में जलवायु परिवर्तन का असर क्रिकेट पर बढ़ गया है. साउथ अफ्रीका के केपटाउन की तेज पिच अब धीमी हो गई है क्योंकि वहां पानी की कमी के कारण पिच पर ज्यादा पानी नहीं डाला जाता. साथ ही भारत में ये चिंता और ज्यादा विकराल हो सकती है. साल 2017 में भारत दौरे पर आई श्रीलंकाई टीम ने दिल्ली में हुए टेस्ट मैच के दौरान मास्क पहना था. उस दौरान दिल्ली में काफी ज्यादा प्रदूषण था जिससे श्रीलंकाई खिलाड़ियों को सांस लेने में दिक्कत पेश आ रही थी. गर्मी बढ़ने की वजह से विदेशी खिलाड़ियों को एशिया में खेलने में समस्या पेश आती है. सूरज की ज्यादा रोशनी की वजह से तो श्वेत खिलाड़ियों को स्किन कैंसर का खतरा भी ज्यादा होता है.

पाकिस्तान की फजीहत, कराची के फैंस नहीं देखना चाहते श्रीलंका के खिलाफ वनडे मैच!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज