वर्ल्‍ड कप: इन युवा बल्‍लेबाजों और गेंदबाजों ने किया कमाल, जीते दिल

ग्रुप स्‍टेज के मैचों में कई ऐसे खिलाड़ी थे जो पहली बार वर्ल्‍ड कप में आए और छा गए. इनमें से कुछ गेंदबाज रहें तो कुछ बल्‍लेबाज जिन्‍होंने अपनी छाप छोड़ी.


Updated: July 8, 2019, 8:51 PM IST
वर्ल्‍ड कप: इन युवा बल्‍लेबाजों और गेंदबाजों ने किया कमाल, जीते दिल
इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर.

Updated: July 8, 2019, 8:51 PM IST
क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 का ग्रुप स्‍टेज समाप्‍त हो चुका है और इनमें अपना परचम लहराकर इंडिया, ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड और न्‍यूजीलैंड ने सेमीफाइनल में जगह बना ली. वहीं बाकी की छह टीमें घर रवाना हो गईं. लेकिन ग्रुप स्‍टेज के मैचों में कई ऐसे खिलाड़ी थे जो पहली बार वर्ल्‍ड कप में आए और छा गए. इनमें से कुछ गेंदबाज रहें तो कुछ बल्‍लेबाज जिन्‍होंने अपनी छाप छोड़ी. कुछ पुराने आजमाए हुए चेहरे भी थे जिन्‍होंने चिरपरिचित अंदाज में अच्‍छा खेल दिखाया. आइए नजर डालते हैं उन युवा गेंदबाजों और बल्‍लेबाजों पर जिन्‍होंने अपने खेल से कई लोगों को आकर्षित किया.

बल्‍लेबाज
अविष्‍का फर्नांडो- श्रीलंका की ओर से इस वर्ल्‍ड कप में केवल दो शतक लगे और इनमें से एक अविष्‍का फर्नांडो ने लगाया था. वे नंबर 3 पर बल्‍लेबाजी के लिए उतरते थे. उन्‍होंने 4 पारियों में 50.75 की औसत से 203 रन बनाए. इस दौरान उनका स्‍ट्राइक रेट 100 का रहा. 21 साल के इस युवा बल्‍लेबाज ने वेस्‍ट इंडीज के खिलाफ शतक बनाया था.

रेसी वान डर डुसें- दक्षिण अफ्रीका के लिए यह वर्ल्‍ड कप किसी डरावने सपने जैसा रहा. वह अंक तालिका में सातवें पायदान पर रहा लेकिन बल्‍लेबाज रेसी वान डर डुसें उसके लिए उम्‍मीद की किरण बनकर उभरे. मिडिल ऑर्डर के बल्‍लेबाज डुसें ने 62.2 की औसत से 311 रन बनाए. वे वर्ल्‍ड कप में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे ज्‍यादा रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर रहे. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टूर्नामेंट के आखिरी मैच में उन्‍होंने करियर का सर्वोच्‍च स्‍कोर 95 रन बनाए. उन्‍हें दक्षिण अफ्रीका के लिए आने वाले समय का स्‍टार भी माना जा रहा है.

australia, Avishka Fernando, England, icc world cup 2019, Jofra Archer, Lockie Ferguson, Shaheen Shah Afridi, Sheldon Cottrell, West Indies
वर्ल्‍ड कप में इन नए बल्‍लेबाजों ने कमाल किया.


निकोलस पूरन- वर्ल्‍ड कप 2019 के लिए चुने जाने से पहले वेस्‍ट इंडीज के इस युवा विकेटकीपर बल्‍लेबाज ने केवल एक वनडे मैच खेला था. लेकिन वर्ल्‍ड कप में उन्‍होंने विंडीज टीम के लिए सबसे ज्‍यादा रन बनाए. उन्‍होंने 9 मैच में 52.42 की औसत व 100 से ज्‍यादा की स्‍ट्राइक रेट से 367 रन बनाकर टूर्नामेंट का समापन किया.

एलेक्‍स कैरी- ऑस्‍ट्रेलिया के एलेक्‍स कैरी ग्रुप स्‍टेज के सबसे अच्‍छे विकेटकीपर बल्‍लेबाज बनकर उभरे. वे बल्‍लेबाजी में काफी नीचे छठे या सातवें नंबर पर आते हैं. लेकिन रन बनाने में वे पीछे नहीं रहे. मार्कस स्‍टोइनिस और ग्‍लेन मैक्‍सवेल जैसे बड़े नाम टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए लेकिन कैरी ने बल्‍ले से धमाल मचाया. उन्‍होंने 65.8 की औसत से 329 रन बनाए. इसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं. ऑस्‍ट्रेलिया के लिए वे अब तक इस टूर्नामेंट में रन बनाने में नंबर 3 पर हैं.
Loading...

गेंदबाज
जोफ्रा आर्चर- जोफ्रा आर्चर के वर्ल्‍ड कप में खेलने को लेकर काफी सुर्खियां बनी थीं. लेकिन वर्ल्‍ड कप में इस गेंदबाज ने अपनी रफ्तार और सटीकता से सभी को खामोश कर दिया. उन्‍होंने 22.76 की औसत और 4.78 की इकनॉमी से 17 विकेट बटोरे. इंग्‍लैंड की ओर से उनके नाम सबसे ज्‍यादा विकेट हैं.

शाहीन शाह अफरीदी- वह शुरुआत में काफी बेरंग नजर आए लेकिन ग्रुप स्‍टेज के आखिरी मैचों में उन्‍होंने कमाल कर दिया. उन्‍होंने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ 28 रन देकर 3, अफगानिस्‍तान के खिलाफ 47 रन देकर 4 और बांग्‍लादेश के खिलाफ 35 रन देकर 6 विकेट निकाले. उन्‍होंने अपने 16 में से 13 विकेट आखिरी 3 मैच में निकाले. इस दौरान गति, वेरिएशन से उन्‍होंने हैरान कर दिया.

australia, Avishka Fernando, England, icc world cup 2019, Jofra Archer, Lockie Ferguson, Shaheen Shah Afridi, Sheldon Cottrell, West Indies
वर्ल्‍ड कप 2019 में इन गेंदबाजों ने प्रभावित किया.


लोकी फर्ग्‍यूसन- न्‍यूजीलैंड की इस तेज गेंदबाज ने अपनी रफ्तार से बल्‍लेबाजों को झकझोर दिया. उन्‍होंने अपनी गेंदबाजी से ट्रेंट बोल्‍ट जैसे सितारे को भी पीछे छोड़ दिया. लोकी कंधों का इस्‍तेमाल करते हुए गेंद को विकेट पर जोर से मारकर रफ्तार हासिल करते हैं. उन्‍होंने वर्ल्‍ड कप में कई बार 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से भी तेज गेंद डाली. उन्‍होंने इस टूर्नामेंट में न्‍यूजीलैंड की ओर से सबसे ज्‍यादा 17 विकेट लिए.

शेल्‍डन कोट्रेल- वेस्‍टइंडीज ने पाकिस्‍तान को 105 रन पर समेटकर जबरदस्‍त तरीके से अपना खाता खोला था. विंडीज के तेज गेंदबाज उसके बाद कुछ खास नहीं कर पाए लेकिन शेल्‍डन कोट्रेल ने अपना जलवा बनाए रखा. वह न केवल गेंदबाजी बल्कि फील्डिंग से भी छाए रहे. स्‍टीव स्मिथ का कैच और तमीम इकबाल को रन आउट इसके कुछ उदाहरण हैं. कोट्रेल ने 9 मैच में 12 विकेट लिए. विंडीज टीम की ओर से सबसे ज्‍यादा विकेट उन्‍होंने ही लिए. साथ ही उनके विकेट लेने का जश्‍न भी सबसे अलग रहा.

वर्ल्ड कप: कीवियों को इस तरह जाल में फंसाएंगे विराट कोहली!


वर्ल्‍ड कप में पहले बैटिंग करने वालों की मौज, टूटे रिकॉर्ड
First published: July 8, 2019, 8:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...