तालिबान के हमले में मारे गए इस खिलाड़ी के पिता, अब इंग्लैंड को वर्ल्ड कप जिताने की तैयारी!

ग्लूस्टरशर की दूसरी टीम के लिए खेलने वाले अफगानिस्तान के तेज गेंदबाज इमरान मरूफ का बचपन बेहद मुश्किलों भरा रहा है.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 8:25 PM IST
तालिबान के हमले में मारे गए इस खिलाड़ी के पिता, अब इंग्लैंड को वर्ल्ड कप जिताने की तैयारी!
तालिबान के हमले में मारे गए इस खिलाड़ी के पिता, अब इंग्लैंड को वर्ल्ड कप जिताने की तैयारी!
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 8:25 PM IST
30 मई से इंग्लैंड में वर्ल्ड कप का आगाज होने वाला है. इस टूर्नामेंट में मेजबान टीम को ही बेहद मजबूत माना जा रहा है और वो जीत की सबसे बड़ी दावेदार भी है. वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड की तैयारियां शानदार चल रही है. इंग्लैंड की टीम पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज खेल रही है जहां उसके बल्लेबाजों ने दो मुकाबलों में रनों का पहाड़ खड़ा कर पाकिस्तान को मात दी है. वैसे मैच प्रैक्टिस के अलावा इंग्लैंड को एक बेहद स्पेशल खिलाड़ी भी प्रैक्टिस करा रहा है.

इमरान मरूफ की दर्दनाक दास्तां

इंग्लैंड के खिलाड़ियों को वर्ल्ड कप के लिए प्रैक्टिस कराने वाले उस स्पेशल क्रिकेटर का नाम इमरान मरूफ है. इमरान मरूफ एक तेज गेंदबाज हैं और वो अफगानिस्तान से भागकर इंग्लैंड में बसे हैं. इमरान मरूफ काबुल और जलालाबाद के बीच हिसारेक कज्बे में रहते थे. उनके पिता आर्मी कमांडर थे जो तालिबान से जंग लड़ रहे थे. इमरान मरूफ ने द टेलीग्राफ को दिए इंटरव्यू में बताया कि एक बार तालिबान ने उनके कज्बे पर हमला किया और उसके बाद इमरान के पिता लापता हो गए. खबरों के मुताबिक वो तालिबान के हमले में शहीद हो गए.

मां ने घर से भगाया

इसके बाद इमरान मरूफ की मां को पता चला कि तालिबान की हिट लिस्ट में उनका बेटा भी है. मरूफ की मां ने एक एजेंट को पैसे देकर उन्हें हिसारेक से भगा दिया. इमरान एक महीने तक कार में सफर करते रहे और पाकिस्तान और फिर ईरान को पार कर तुर्की पहुंचे. इमरान को इंग्लैंड भेजा जा रहा था ये बात उन्हें मालूम नहीं थी. ईरान के बाद इमरान किसी तरह बुल्गारिया पहुंचे और वहां से वो सर्बिया में दाखिल हुए. 4 महीने तक इमरान सर्बिया के सरकारी कैंप में रहे.

इमरान मरूफ


ऐसे मिला मौका
Loading...

इसके बाद इमरान मरूफ ने इंग्लैंड में घुसने की 16 से 17 बार कोशिश की लेकिन हर बार वो पकड़े गए. फिर एक दिन वो किसी तरह इंग्लैंड में घुसने में कामयाब रहे. हालांकि उन्हें पुलिसवालों ने फिर भी गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद उन्हें एक घर में रखा. इमरान उस घर में चार महीनों तक रहे. इसी बीच उनपर ग्लूस्टरशर क्रिकेट बोर्ड के डेवेलेपमेंट ऑफिसर मसूर खान की नजर पड़ी. उन्होंने इमरान को लॉर्ड्स के एमसीसी के हेड कोच के पास भेज दिया.

कभी क्रिकेट नहीं खेला फिर भी बने तेज गेंदबाज

इमरान मरूफ के बाजुओं में जान थी और वो तेज गेंदबाज बन गए, हैरानी की बात ये है कि इमरान ने ना तो कभी क्रिकेट खेला था और ना ही उन्होंने कभी क्रिकेट देखा था लेकिन इसके बावजूद वो एक अच्छे गेंदबाज बन गए. पहले टी20 मैच में उन्हें सिर्फ एक ओवर मिला लेकिन दूसरे टी20 मुकाबले में उन्होंने 33 रन देकर 4 विकेट लिए. इसके बाद उन्होंने 50 ओवर के मैच में भी दो विकेट लिए.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार