ICC Cricket World Cup 2019: इस खिलाड़ी ने अपनी गर्लफ्रेंड के लिए छोड़ दिया था पाकिस्तान, आज लगा दिया 'शतक'

वैसे तो क्रिकेट में लव स्‍टोरी की लंबी फेहरिस्‍त मौजूद है, लेकिन इमरान ताहिर की कहानी खासी अलग है.

News18Hindi
Updated: June 2, 2019, 5:16 PM IST
ICC Cricket World Cup 2019: इस खिलाड़ी ने अपनी गर्लफ्रेंड के लिए छोड़ दिया था पाकिस्तान, आज लगा दिया 'शतक'
इमरान ताहिर का विकेट लेने के बाद जश्‍न देखते बनता है. (AP)
News18Hindi
Updated: June 2, 2019, 5:16 PM IST
साउथ अफ्रीका के स्‍टार स्पिनर इमरान ताहिर ने वर्ल्ड कप 2019 में बांग्‍लादेश के खिलाफ मैदान पर उतरते ही अपना स्पेशल 'शतक' पूरा कर लिया.  दरअसल ताहिर ने अपने 100 वनडे पूरे कर लिए. वो 100 या फिर उससे अधिक मैच खेलने वाले 24वें खिलाड़ी बन गए.  ताहिर 40 साल के होने के बावजूद अपने तूफानी जश्‍न के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है और उनका ये सिलसिला विश्‍व कप के बाद थम जाएगा.

वैसे इस दिग्‍गज खिलाड़ी का क्रिकेट करियर करीब दो दशक पुराना हो चला है और इस दौरान उन्‍होंने दुनियाभर की 37 टीम के लिए अपना दम दिखाया है. मजेदार बात ये है कि इस दौरान इमरान ताहिर ने तीन महाद्धीप में क्रिकेट खेलते हुए 10 हजार गेंदें डाली हैं. इससे भी अहम बात ये है कि वो साउथ अफ्रीका के लिए क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अहम हैं और जीत दिलाने के मामले में वो किसी से कम नहीं हैं. जबकि इमरान ताहिर अपने खेल के साथ साथ अपनी लव स्‍टोरी के कारण भी चर्चा का कारण रहे हैं.

इमरान ताहिर की लव स्‍टोरी
वैसे तो क्रिकेट में लव स्‍टोरी की लंबी फेहरिस्‍त मौजूद है, लेकिन इमरान ताहिर की कहानी खासी अलग है. आखिर इस खिलाड़ी ने अपने प्‍यार की खातिर सीमाओं की परवाह किए बिना सरहदों को पार किया है. जी हां, वह अपने प्‍यार की वजह से पाकिस्‍तान से साउथ अफ्रीका पहुंच गए थे. बात 1998 की है जब इमरान पाकिस्‍तान की अंडर-19 टीम के साथ साउथ अफ्रीका के दौरे पर गए थे. इसी दौरान उनकी मुलाकात साउथ अफ्रीका में रह रही एक भारतीय मूल की लड़की सुमैय्या दिलदार से हुई और फिर दोनों के बीच काफी अच्छी दोस्ती हो गई.

इमरान ताहिर और उनकी पत्‍नी सुमैय्या. (PTI)


फिर उठाया ये बड़ा कदम
समय के साथ इमरान और सुमैय्या के बीच बातचीत का सिलसिला बढ़ने लगा और फिर इस खिलाड़ी ने साउथ अफ्रीका में ही बसने का फैसला कर लिया. जबकि उन्‍होंने 2006 में सुमैय्या दिलदार से शादी कर ली और शादी के कुछ समय के बाद इमरान ताहिर को साउथ अफ्रीका की नागरिकता मिल गई. जबकि उनका क्रिकेट सफर डॉलफिंस टीम के साथ शुरू हुआ और फिर वह टाइटंस के साथ खेलते हुए साउथ अफ्रीका की जर्सी पहनने में सफल हो गए.
Loading...

यूं मिली टीम जगह
घरेलू क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन करने के बाद इमरान को 2011 विश्‍व कप के पहले भारत और साउथ अफ्रीका के बीच हुई वनडे सीरीज के लिए टीम में शामिल किया गया था, लेकिन उनको एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. दरअसल, इस दौरान कप्‍तान ग्रैम स्मिथ ने एक रणनीति के तहत उनको इस सीरीज में नहीं खिलाने का फैसला लिया था. वह चाहते थे कि इमरान की फिरकी का जादू हर कोई विश्‍व कप में देखे और इस होनहार स्पिनर ने 2011 विश्‍व कप में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ दिल्‍ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में अपनी टीम की सात विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाकर शानदार आगाज किया. उन्‍होंने 10 ओवर में एक मेडेन रखते हुए 41 रन देकर चार विकेट लिए और यह इस मैच में साउथ अफ्रीका की तरफ से सर्वोच्‍च प्रदर्शन था. जबकि इस दौरान उन्‍होंने रामनरेश सरवन और शिवनारायण चंद्रपाल जैसे बेहतरीन खिलाड़ि‍यों को आउट किया था. इस टूर्नामेंट में साउथ अफ्रीका ने रोबिन पीटरसन और इमरान ताहिर के दम पर विरोधी टीमों को खासा परेशान किया था. इस दौरान पीटरसन ने 15.86 के औसत से 15 तो इमरान ने 10.71 के औसत से 14 शिकार किए थे.

साउथ अफ्रीका के स्‍टार स्पिनर हैं इमरान ताहिर. (AP)


इमरान बने स्‍टार
विश्‍व कप 2011 में दमदार प्रदर्शन के बाद इमरान को टेस्‍ट और टी20 क्रिकेट टीम में भी जगह मिल गई और उन्‍होंने अपने खेल से इसे सही भी साबित किया. 20 टेस्‍ट में 40.24 के औसत से 57 शिकार किए तो 38 टी20 में उनके नाम 63 विकेट (औसत-15.04) दर्ज हैं. जबकि वह अब तक 99 वनडे मैचों में 24.29 के औसत से 164 शिकार कर चुके हैं. इमरान वनडे में साउथ अफ्रीका के लिए विकेट लेने के मामले में 8वें नंबर पर हैं और वह मोर्ने मोर्कल (180) को पीछे छोड़ने का दम रखते हैं. जबकि इमरान ने चार या इससे कम गेंदों पर एक विकेट लेने का कारनामा किया है. वहीं वह ग्रैम स्मिथ के बाद एबी डीविलियर्स और अब फाफ डू प्‍लेसी की योजनाओं में भी फिट बैठे हैं और मैच विनर साबित हुए हैं.

ये बोले इमरान ताहिर
अपने प्‍यार की खातिर पाकिस्‍तान छोड़ने वाले इस खिलाड़ी का क्रिकेट सफर काफी मजेदार रहा है और वह अपनी फिरकी के दम पर दुनियाभर के बल्‍लेबाजों को नचाना बखूबी जानते हैं. हालांकि उनका असली मकसद टीम को चैंपियन बनाना है. जबकि अफ्रीका के लिए खेलना इमरान ताहिर के लिए सम्‍मान की बात है.

इमरान ने कहा, 'यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है, जिसे मैं कभी भी शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता. मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं जो बहुत सारी कठिनाइयों से गुजरा हूं. मैंने अपने माता-पिता को बिना इंटरनेशनल क्रिकेट देखे खो दिया. जबकि मैंने पिछले दो साल से अपने भाई-बहनों को नहीं देखा है. मैं जिस देश के लिए क्रिकेट खेल रहा हूं वो मेरे लिए महत्‍वपूर्ण है और मुझे वास्तव में गर्व है. मैं अपने परिवार का आभारी हूं. हालांकि वे समझते हैं कि मैं उनसे दूर हूं, लेकिन इसके लिए एक महत्वपूर्ण कारण है.'

सच कहा जाए तो इमरान ताहिर ने अपने क्रिकेट करियर की जो कल्पना अपने सपने में भी नहीं की होगी, उस सपने को साकार करने में उनकी पत्‍नी सुमैय्या ने काफी मदद की है. वहीं, जब वह 14 जुलाई को विश्‍व कप की ट्रॉफी अपने हाथ में उठाने में सफल रहे थे तो ये उनके जीवन का वाकई खास दिन होगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, ब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 2, 2019, 12:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...