World Cup Final: फाइनल में अंपायरों की बड़ी चूक, क्या पांच की जगह इंग्लैंड को दे दिए छह रन?

अंपायर कुमार धर्मसेना ने अपने सा‌थी अंपायर इरासमुस से चर्चा करने के बाद इंग्लैंड को छह रन दिए, जिसमें दो रन तो बल्लेबाजों ने दौड़ कर लिए और चार रन ओवरथ्रो से मिले.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 12:46 PM IST
World Cup Final: फाइनल में अंपायरों की बड़ी चूक, क्या पांच की जगह इंग्लैंड को दे दिए छह रन?
गेंद पर बल्ला टच होने के बाद बेन स्टोक्स ने कीवी कप्तान से माफी भी मांगी
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 12:46 PM IST
शायद ही किसी को विश्व कप के ऐसे फाइनल की उम्मीद हो. सुपर ओवर में गया मुकाबला भी बराबरी पर रहा और सबसे अधिक बाउंड्री लगाने के कारण इंग्लैंड विश्व विजेता बन गया. हालांकि न्यूजीलैंड के पास सुपर ओवर से पहले ‌ही मैच जीतकर खिताब अपने नाम करने का मौका था, लेकिन आखिरी ओवर के उस ओवर थ्रो ने पूरा पासा ही पलट दिया.

आखिरी ओवर की आखिरी तीन गेंदों पर इंग्लैंड को नौ रन की जरूरत थी. जब डीप मिडविकेट से थ्रो की गई गेंद डाइव लगाते समय बेन स्टोक्स के बल्ले से लगी और बाउंड्री पार पहुंच गई. इसके बाद अंपायर कुमार धर्मसेना ने अपने सा‌थी अंपायर इरासमुस से चर्चा करने के बाद इंग्लैंड को छह रन दिए, जिसमें दो रन तो बल्लेबाजों ने दौड़ कर लिए और चार रन ओवरथ्रो से मिले.

इस छह रन के कारण 241 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही इंग्लैंड ने निर्धारित ओवर में इतने ही रन बनाकर बराबरी कर ली और मैच सुपर ओवर में खिंच गया, जो टाई पर खत्म हुआ और फिर इसके बाद तकनीकी रूप से मेजबान ने अपना पहला खिताब जीता.

एक- दूसरे को क्रॉस नहीं कर पाए थे बल्लेबाज



हालांकि ईएसपीएन क्रिकइंफो के अनुसार, जिस थ्रो पर इंग्लैंड काे छह रन मिले थे, वहां पर सिर्फ पांच रन ही होने चाहिए थे. खेल के नियम के अनुसार इंग्लैंड को एक रन अधिक मिला और सिर्फ एक रन ने मैच के नतीजे को एक तरह से बदल दिया.

ओवर थ्रो या फील्डर के जानबूझकर एक्ट (यहां एक्ट को लेकर अलग- अलग मत है) के लिए बनाए गए नियम 19.8 के अनुसार यदि ओवर थ्रो या फिर फील्डर के जानबूझ कर किए गए एक्ट से बाउंड्री तक गेंद पहुंच जाती है तो इसका फायदा दूसरी टीम को मिलता है. रन लेते समय रन का फायदा तभी मिलता है, जब बल्‍लेबाज ने थ्रो से पहले रन पूरा कर लिया हो, यदि वह थ्रो से पहले ही क्रॉस कर जाते हैं. तब उनको इसका फायदा मिलेगा, लेकिन फाइनल में जब डीप से मार्टिन गप्टिल ने थ्रो किया था, तब बेन स्टोक्स क्रीज तक नहीं पहुंचे थे. ऐसे में जहां दो रन मिले, वहां सिर्फ एक रन ही होना चाहिए थे.
Loading...

हालांकि इसके बाद स्टोक्स ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन से माफी भी मांगी. वहीं कीवी कप्तान ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसे मौके पर यह वापस कभी नहीं होगा. यह बहुत ही शर्मनाक रहा.

World Cup: न्यूजीलैंड की हार के बाद निशाने पर ICC, दिग्गजों और फैंस ने खड़े किए इंग्लैंड की जीत पर सवाल

फाइनल में अंपायर्स ने की ये तीन गलतियां, न्यूजीलैंड को चुकानी पड़ी इसकी कीमत!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 15, 2019, 11:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...