ICC Cricket World Cup 2019: क्या चैंपियंस ट्रॉफी की सफलता दोहरा पाएगा पाकिस्तान?

पाकिस्‍तान क्रिकेट वर्ल्‍ड कप २०१९ में सरफराज अहमद की कप्‍तानी में उतर रही है और उसके सामने चैंपियंस ट्रॉफी के प्रदर्शन को दोहराने की चुनौती है.

News18Hindi
Updated: May 31, 2019, 11:49 AM IST
ICC Cricket World Cup 2019: क्या चैंपियंस ट्रॉफी की सफलता दोहरा पाएगा पाकिस्तान?
विश्‍व कप में पाकिस्‍तान का प्रदर्शन अच्‍छा रहा है. (AP)
News18Hindi
Updated: May 31, 2019, 11:49 AM IST
आईसीसी विश्‍व कप 2019 में पाकिस्‍तान की टीम सरफराज अहमद की कप्‍तानी में उतर रही है और उसके सामने 2017 में इंग्‍लैंड में ही हुई चैंपियंस ट्रॉफी में किए गए प्रदर्शन को दोहराने की चुनौती है. उस वक्‍त पाकिस्‍तान ने भारत को हराकर चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता था और लगा था कि इस टीम का नया दौर शुरू हो रहा है. दो साल बीत गए और पाकिस्तान मजबूत दावेदार के रूप में इंग्लैंड नहीं आई है. हां, वह एक ऐसी टीम के रूप में जरूर आई है जो उलटफेर कर सकती है. जबकि उसने विश्‍व कप से पहले लगातार दस वनडे हारे हैं.

सरफराज की कप्‍तानी में दिखाएगी दम
पाकिस्‍तान इस विश्‍व कप में सरफराज अहमद की कप्‍तानी में उतर रही है और उसके सामने चैंपियंस ट्रॉफी के प्रदर्शन को दोहराने की चुनौती है. टीम ने 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से आठ सीरीज खेलीं, लेकिन सिर्फ दो सीरीज ही जीत सकी वो भी श्रीलंका और जिम्बाब्वे के खिलाफ, जो मौजूदा वक्‍त में काफी कमजोर टीमें मानी जाती हैं. सच कहा जाए तो सरफराज की कप्तानी वाली यह टीम विश्व कप में कमजोर टीमों में गिनी जा रही है. एक समय अपने गेंदबाजी आक्रमण के कारण विश्व क्रिकेट में दबदबा कायम करने वाली इस टीम के पास मौजूदा समय में कोई ऐसा गेंदबाज नहीं है जो असरदार कहा जा सके. वहाब रियाज और मोहम्मद आमिर को विश्व कप के लिए जरूर टीम में बुलाया गया है, लेकिन इन दोनों की हालिया फॉर्म को लेकर शंका रही है. हां, अनुभव होने के नाते यह टीम के लिए अहम भू्मिका निभा सकते हैं.



इनके अलावा हसन अली, शाहीन अफरीदी और मोहम्मद हसनेन के रूप में पाकिस्तान के पास तीन और तेज गेंदबाज हैं. स्पिन में टीम के पास मोहम्मद हफीज, इमाद वसीम और शादब खान है. हफीज के पास विश्व कप खेलने का अनुभव भी है और वह सिर्फ स्पिन में नहीं बल्लेबाजी में टीम की धुरी हैं. बल्लेबाजी में पाकिस्तान के पास प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की कमी नहीं है. फखर ज़मां, बाबर आजम, इमाम उल हक और आसिफ अली में बड़ी पारी खेलने की प्रतिभा है लेकिन इंग्लैंड की परिस्थतियां इनके लिए चुनौती रहेंगी. जबकि शोएब मलिक बखूबी जानते हैं कि मुश्किल समय में टीम को कैसे बाहर निकालना है. हालांकि इस टीम की सबसे बड़ी कमजोरी फील्डिंग है. मिकी आर्थर जब से कोच बने हैं तब से उन्होंने इस बात पर जोर दिया है लेकिन सुधार नहीं हो पाया है.

ये हैं स्‍टार खिलाड़ी
इस टीम के पास फखर ज़मां, इमाम-उल-हक, बाबर आजम, शोएब मलिक और वहाब रियाज जैसे स्‍टार खिलाड़ी मौजूद हैं, जो कि अपने दिन पर विरोधी की धज्जियां उड़ा सकते हैं.
Loading...

विश्‍व कप टीम : सरफराज खान (कप्तान/विकेटकीपर), फखर जमन, इमाम-उल-हक, बाबर आजम, आसिफ अली, शोएब मलिक, मोहम्मद हफीज, हारिश सोहेल, शादाब खान, इमाद वसीम, शाहीन अफरीदी, हसन अली, मोहम्मद हसनेन, वहाब रियाज, मोहम्मद आमिर.

विश्‍व कप में पाकिस्‍तान का इतिहास
पाकिस्‍तान ने अब तक हुए सभी विश्‍व कप में हिस्‍सा लिया है. 1975 विश्‍व कप में वह ग्रुप स्‍टेज से आगे नहीं बढ़ सकी थी, लेकिन इसके बाद उसने लगातार तीन बार सेमीफाइनल (1979, 1983 और 1987) में जगह बनाकर हर किसी को हैरान कर दिया. जबकि राउंड रॉबिन और नॉक आउट फॉर्मेट में खेले गए 1992 विश्‍व कप में इमरान खान की टीम ने चैंपियन बनकर इतिहास रच दिया था. 1996 में वह क्‍वार्टरफाइनल में पहुंची तो 1999 में वह रनर अप रही. इसके बाद 2003 और 2007 में उसका सफर ग्रुप स्‍टेज से आगे नहीं बढ़ सका. 2011 में भारत ने सेमीफाइनल में पाकिस्‍तान को हराया तो पिछले विश्‍व कप में ये टीम क्‍वार्टरफाइनल से आगे नहीं जा सकी थी.  वहीं, पाकिस्‍तान ने अब तक विश्‍व कप में 71 मैच खेलते हुए 40 में बाजी मारी है. 29 बार उसे हार मिली है तो दो मैच का नतीजा नहीं निकला है. उसका सफलता प्रतिशत करीब 58 है. इस बार भी इस टीम पर कोई दांव नहीं लगा रहा है, लेकिन युवा और अनुभवी खिलाड़ियों की टीम में मौजूदगी कुछ भी कर सकती है.



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: May 31, 2019, 9:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...