चार साल में भारत के लिए सुपरहिट साबित हुई 'हिटमैन' और 'गब्बर' की जोड़ी

अगर 2015 वर्ल्‍ड कप के बाद वनडे क्रिकेट में शतक लगाने वाले ओपनर्स की बात करें तो यहां भी रोहित शर्मा का दबदबा दिखाई देता है.

Ajay Raj | News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 2:31 PM IST
Ajay Raj | News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 2:31 PM IST
आईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 के आगाज होने में अब बस कुछ दिन बाकी हैं. हमेशा की तरह इस बार भी किसी भी टीम की जीत का दारोमदार उसके ओपनर्स पर होगा. अगर 2015 वर्ल्‍ड कप के बाद से दमदार प्रदर्शन करने वाले ओपनिंग बल्‍लेबाजों की बात करें तो भारत के रोहित शर्मा और शिखर धवन, साउथ अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक, इंग्‍लैंड के जेसन रॉय और न्‍यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल का दबदबा साफ तौर पर नजर आता है. हां, इस लिस्‍ट में डेविड वॉर्नर का नाम ना होना चौंकाने वाला है, लेकिन वह एक साल बॉल टेंपरिंग स्‍कैंडल की वजह से बैन रहे हैं और यही बात उन पर भारी पड़ गई. हालांकि भारतीय जोड़ी ने अपने प्रदर्शन से कर किसी को कायल कर दिया है. आइए जानते हैं...

वर्ल्‍ड कप 2015 के बाद ओपनर्स का प्रदर्शन
भारतीय टीम ने पिछले चार साल में अपने दमदार प्रदर्शन से दुनियाभर में तहलका मचाया है, जिसमें रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी का अहम योगदान रहा है. 2015 में भारतीय टीम का सफर सेमीफाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया से मिली हार के साथ खत्‍म हुआ था. तब से रोहित और शिखर की जोड़ी ने वनडे क्रिकेट में जो धमाल मचाया है वो हर किसी के लिए पहेली बना हुआ है. तब से टीम इंडिया के 'हिटमैन' ने 71 मैचों की 71 पारियों में 61.12 के औसत 3790 रन बनाए हैं, जो कि रिकॉर्ड है. इस दौरान 15 शतक लगाने वाले रोहित ने 343 चौके और 130 छक्‍के उड़ाए हैं.

जबकि उनके जोड़ीदार धवन ने भी अच्‍छा प्रदर्शन किया है. उन्‍होंने 67 मैचों की इतनी ही पारियों में 45.20 के औसत से 2848 रन (8 शतक) बनाए हैं. इस दौरान धवन के बल्‍ले से 374 चौके और 34 छक्‍के निकले हैं.  इस लिस्‍ट में रोहित के बाद साउथ अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक (मैच-62, रन-2971) और इंग्‍लैंड के जेसन रॉय (मैच-75, रन-2938) का नंबर आता है. चौथे नंबर पर मौजूद शिखर के बाद न्‍यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल ने जमकर कहर बरपाया है. उन्‍होंने 60 मैचों में 50.49 के औसत से 2676 रन जड़कर दम दिखाया है.



शतकों के बादशाह बने रोहित
अगर 2015 वर्ल्‍ड कप के बाद वनडे क्रिकेट में शतक लगाने वाले ओपनर्स की बात करें तो यहां भी रोहित शर्मा का दबदबा दिखाई देता है. वह अब तक 15 शतक के साथ नंबर 1 पर हैं तो 10 शतक के साथ डेविड वॉर्नर दूसरे नंबर पर हैं. इसके बाद मार्टिन गप्टिल ने नौ शतक लगाए हैं. जबकि धवन और डी कॉक ने 8-8 शतक ठोके हैं.


रोहित और धवन का जलवा
2015 वर्ल्‍ड कप के बाद से रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ने 60 मैचों 43.48 के औसत से 2609 रन बनाए हैं, जो कि रिकॉर्ड है. जबकि हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक की जोड़ी (मैच-49, रन-2442, औसत-51.95) दूसरे नंबर पर है. वहीं, इंग्‍लैंड के जॉनी बेयरस्‍टो और जेसन रॉय ने भी अच्‍छा दम दिखाया है. यह जोड़ी 26 मैचों में 64.42 के औसत से 2442 रन बना चुकी है. मजेदार बात ये है कि रोहित और धवन के बीच आठ बार शतकीय साझेदारी हुई हैं तो बेयरस्‍टा और रॉय की जोड़ी ने ऐसा सात बार किया है. वहीं, साउथ अफ्रीका की जोड़ी ने चार बार शतकीय साझेदारी की है.



वैसे रोहित और धवन की जोड़ी 2013 से अब तक 101 मैचों में 4541 (औसत-45.41) रन बना चुकी है और वह सक्रिय जोड़ि‍यों में सबसे सफल है. हालांकि वर्ल्‍ड रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली (मैच-136, औसत-49.32, रन-6609) के नाम है.

वर्ल्‍ड कप और रोहित-धवन की जोड़ी
यह दोनों पिछले यानी 2015 वर्ल्‍ड कप में पहली बार मैदान पर उतरे थे और जबर्दस्‍त धमाल मचाया था. रोहित ने 8 मैचों में 330 रन (औसत-47.14) एक शतक की मदद से बनाए थे तो धवन ने इतने ही मैचों में दो शतकों की सहायता से 412 रन (औसत-51.50) जड़कर तहलका मचा दिया था. गब्‍बर भारतीय टीम के सबसे सफल बल्‍लेबाज़ रहे थे.

धवन का फिर दिखेगा दम!
मौजूदा वर्ल्‍ड कप इंग्‍लैंड में हो रहा है और यहां भारतीय जोड़ी में से शिखर धवन का बल्‍ला जबर्दस्‍त चलता है. उन्‍होंने 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी में पांच मैचों में 90.75 के औसत से 363 रन (2 शतक) कूटे थे. जबकि 2014 में वनडे सीरीज में उनके बल्‍ले से चार मैचों में 155 रन (औसत-51.66) निकले. लेकिन 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी में उन्‍होंने एक बार फिर जलवा बिखेरा. इस बार धवन ने पांच मैचों में 67.60 के औसत से 338 रन (एक शतक) बनाकर फिर धमाल मचाया.



हालांकि पिछले साल इंग्‍लैंड में खेली गई वनडे सीरीज में वह तीन मैचों में 40 के औसत से सिर्फ 120 रन बना सके थे. वैसे वनडे सीरीज का कमतर प्रदर्शन उनके लिए कोई परेशानी नहीं है, क्‍योंकि जब बड़ा मौका होता है तो 'गब्‍बर' का बल्‍ला अपने रंग में होता है. यही नहीं, वह पिछले दस साल में इंग्‍लैंड में सबसे सफल बल्‍लेबाज़ हैं. हालांकि इस लिस्‍ट में विराट कोहली और केन विलियमसन का भी नाम शामिल है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...