• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • ICC Cricket World Cup 2019: विश्‍व कप में ‘चोकर्स’ का टैग हटाने के इरादे से उतरेगी साउथ अफ्रीका

ICC Cricket World Cup 2019: विश्‍व कप में ‘चोकर्स’ का टैग हटाने के इरादे से उतरेगी साउथ अफ्रीका

हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक की ओपनर जोड़ी पर रहेगा दारोमदार. (Photo-AP)

हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक की ओपनर जोड़ी पर रहेगा दारोमदार. (Photo-AP)

इस बार साउथ अफ्रीका 34 साल के फाफ डू प्‍लेसी की कप्‍तानी में क्रिकेट वर्ल्ड कप २०१९ खेलेगी.

  • Share this:
क्रिकेट में निर्णायक मौकों पर मैच गंवाने के कारण ‘चोकर्स’ का तमगा पाने वाली साउथ अफ्रीकी क्रिकेट टीम 30 मई से इंग्लैंड में शुरू हो रहे विश्व कप में गेंदबाजों के दमखम से खिताब जीत कर इतिहास रचना चाहेगी. इस टीम पर ‘चोकर्स’ का तमगा 1999 विश्व कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबला गंवाने के बाद लगा था जो आज तक कायम है. जबकि इस बार टीम फाफ डू प्‍लेसी की कप्‍तानी में उतर रही है जो मौजूदा वक्‍त में दुनिया के न सिर्फ धाकड़ बल्‍लेबाज़ हैं बल्कि उनकी कप्‍तानी भी प्रभावशाली है.

फाफ डू प्‍लेसी के कंधों पर टीम को खिताब दिलाने की जिम्मेदारी
इस बार साउथ अफ्रीका 34 साल के फाफ डू प्‍लेसी की कप्‍तानी में वर्ल्‍ड कप खेलेगी. अपने पहले वर्ल्‍ड कप खिताब की तलाश में जुटी इस टीम के कप्‍तान ने अब तक 134 वनडे मैचों में 46.54 के औसत से 5120 रन बनाए हैं, जिसमें 11 शतक शामिल हैं. जबकि उन्‍होंने 30 मैचों में टीम को लीड करते हुए 80 फीसदी सफलता हासिल की है और यह मौजूदा कप्‍तानों में सबसे अधिक है. अगर इंग्लैंड के हालातों के हिसाब से देखें तो अफ्रीका के पास तेज गेंदबाज़ और स्पिनर का अच्‍छा मेल है. टीम के सबसे से अनुभवी गेंदबाज़ डेल स्टेन, युवा सनसनी कगिसो रबाडा और लेग स्पिनर इमरान ताहिर के साथ मिलकर कहर बरपा सकते हैं. इसके अलावा लुंगी एन्गिडी की रफ्तार भी फर्क पैदा करने का दम रखती है. जबकि उसके पास कप्‍तान फाफ डु प्लेसी के अलावा हाशिम अमला, क्विंटन डी कॉ, जेपी डुमिनी जैसे अनुभवी बल्लेबाज़ हैं ही, जो किसी लक्ष्‍य को बोना साबित कर सकते हैं.

अब तक इस टीम ने वनडे क्रिकेट में 610 मैच खेले हैं, जिसमें से 378 बार उसे जीत मिली है तो 210 बार हार हुई है. वहीं, छह मैच टाई रहे हैं और 16 का कोई नतीजा नहीं निकला है. सफलता प्रतिशत 64 फीसदी से अधिक है, जो टीम की ताकत बयां करने के लिए काफी है.



ये हैं स्‍टार खिलाड़ी
आईसीसी विश्‍व कप 2019 में कप्तान फाफ डू प्‍लेसी के अलावा क्विंटन डी कॉक, डेविड मिलर, कगिसो रबाडा और इमरान ताहिर का प्रदर्शन टीम पर लगा 'चोकर्स' का टैग हटा सकता है.

2019 विश्‍व कप टीम-फाफ डू प्लेसी (कप्‍तान), हाशिम अमला, जेपी डुमिनी, डेविड मिलर, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), एंडिले फेहलुकवायो, इमरान ताहिर, कागिसो रबाडा, ड्वेन प्रीटोरियस, क्रिस मौरिस, लुंगी एन्गिडी, एडेन मार्करम, रास वान डर डुसैन, डेल स्टेन और तबरेज शम्सी.

साउथ अफ्रीका का विश्‍व कप इतिहास
रंगभेद की वजह से यह टीम दो दशक तक क्रिकेट से बाहर रही थी. 1992 विश्‍व कप में डेब्‍यू किया और सेमीफाइनल में जगह बनाकर हर किसी को हैरान कर दिया. हालांकि विवादास्‍पद नियम की वजह से वह सेमीफाइनल में इंग्‍लैंड से हार गई. एक वक्‍त उसे 13 गेंदों में 22 रन बनाने थे और बारिश आने की वजह से दो ओवर कम कर दिए गए और फिर एक गेंद पर 22 रन की चुनौती उसके लिए 'काल' बन गई. 1996 में क्‍वार्टरफाइनल, 1999 में सेमीफाइनल, 2003 में ग्रुप स्‍टेज, 2007 में सेमीफाइनल, 2011 में क्‍वार्टरफाइनल और पिछले विश्‍व कप में सेमीफाइनल में वह हार कर टूर्नामेंट से बाहर हो गई. सच कहा जाए तो 1992 विश्‍व कप के बाद से उस पर 'चोकर्स' का जो ठप्‍पा लगा है वो हटने का नाम ही नहीं ले रहा है.



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज