ICC पंचाट ने गुणवर्धने के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज किया, जोयसा को राहत नहीं

अविष्का गुणवर्धने पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप खारिज (ICC Twitter)

अविष्का गुणवर्धने पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप खारिज (ICC Twitter)

आईसीसी के स्वतंत्र भ्रष्टाचार-रोधी पंचाट ने सोमवार को श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी अविष्का गुणवर्धने पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त कर दिया, जिससे उन्हें तत्काल प्रभाव से क्रिकेट से संबंधित गतिविधियों में भाग लेने की अनुमति मिल गई.

  • Share this:

दुबई. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के स्वतंत्र भ्रष्टाचार-रोधी पंचाट ने सोमवार को श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी अविष्का गुणवर्धने पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त कर दिया, जिससे उन्हें तत्काल प्रभाव से क्रिकेट से संबंधित गतिविधियों में भाग लेने की अनुमति मिल गई. गुणवर्धने पर अमीरात क्रिकेट बोर्ड के भ्रष्टाचार के दो आरोप लगे थे. गुणवर्धने पर दो साल पहले आईसीसी ने भ्रष्टाचार से जुड़े कई आरोप लगाए थे और उन्हें अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया गया था. वहीं, श्रीलंका के पूर्व तेज गेंदबाज नुवान जोयसा पर आईसीसी ने हाल में ही छह साल का प्रतिबंध लगाया था.

पंचाट ने श्रीलंका के ही नुवान जोयसा के खिलाफ एक आरोप (2.4.6) को बरकरार रखा, लेकिन अन्य तीन आरोपों को खारिज कर दिया. आईसीसी से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, ''इस मामले में विस्तृत फैसला इससे जुड़ी पार्टियों को उचित समय पर भेज दिया जाएगा और इसके खिलाफ अपील की जा सकती है.''

राहुल द्रविड़ होंगे श्रीलंका दौरे पर भारतीय क्रिकेट टीम के कोच: रिपोर्ट

गुणवर्धने के खिलाफ धारा 2.1.4 के अंतर्गत आरोप लगाया गया था इसमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से धारा 2.1 को तोड़ने का प्रावधान है, उनके खिलाफ धारा 2.4.5 के तहत भी आरोप लगाया गया था, जिसमें भ्रष्टाचार से जुड़ी कोशिश को एसीयू को बिना देरी किए सूचित करने का प्रावधान है. उस वक्त उन्हें अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया गया था और अब उन्हें सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया है. जल्द ही दोनों पक्षों के लिए एक औपचारिक विस्तृत निर्णय घोषित किया जाएगा.


जोयसा पर मैच के नतीजे और दूसरे पहलुओं को प्रभावित करने के अलावा एसीयू की जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप है. जोयसा को पिछले महीने छह साल के लिए आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी इकाई ने प्रतिबंधित किया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज