बड़ी खबर: जिस नियम से नाराज थे विराट कोहली और टीम इंडिया, अब ICC उसे बदलने वाली है!

ICC बदलेगी सॉफ्ट सिग्नल का नियम?  (Pic: AP)

ICC बदलेगी सॉफ्ट सिग्नल का नियम? (Pic: AP)

ICC सॉफ्ट सिग्नल का नियम बदल सकती है, 30 मार्च और एक अप्रैल को होगी आईसीसी बोर्ड की बैठक. टी20 सीरीज में सूर्यकुमार यादव के विकेट के बाद इस नियम के खिलाफ काफी बयानबाजी हुई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 7:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड सीरीज में आईसीसी के दो नियमों पर खूब विवाद हुआ है. पहला नियम है डीआरएस से जुड़ा अंपायर कॉल और दूसरा है सॉफ्ट सिग्नल (Soft Signal Rule) . भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली इन दोनों ही नियमों के हक में नहीं है लेकिन अब आईसीसी इन दोनों में से एक नियम को बदल सकती है.

क्रिकबज में छपी रिपोर्ट के मुताबिक आईसीसी सॉफ्ट सिग्नल के नियम को खत्म कर सकती है. गुरुवार को आईसीसी बोर्ड की वर्चुअल बैठक में बीसीसीआई सचिव जय शाह ने सॉफ्ट सिग्नल का मुद्दा उठाया और उन्हें इस मुद्दे पर दूसरे बोर्ड का भी समर्थन मिला. सभी सदस्य इस हक में थे कि अंपायर के सॉफ्ट सिग्नल का नियम बदला जाना चाहिए.

एमसीसी भी सॉफ्ट सिग्नल नियम के हक में नहीं

खबरों की मानें तो मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने भी सॉफ्ट सिग्नल के खिलाफ अपनी राय रखी थी. एमसीसी की वर्ल्ड क्रिकेट कमेटी ने सलाह दी थी कि मैदान के कुछ कैचों में अंपायर के सॉफ्ट सिग्नल को दरकिनार करना चाहिए. बता दें सॉफ्ट सिग्नल के मामले ने तब तूल पकड़ा जब भारत और इंग्लैंड के बीच हुए चौथे टी20 में डेविड मलान ने सूर्यकुमार यादव का कैच लपका. मैदानी अंपायर ने सूर्यकुमार यादव को सॉफ्ट सिग्नल के तहत आउट दिया लेकिन तीसरे अंपायर को कैच पकड़ने या नहीं पकड़ने का कोई सबूत नहीं मिला. इसके बाद अंपायर के सॉफ्ट सिग्नल के तहत सूर्यकुमार को आउट दे दिया गया.
टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी और कप्तान विराट कोहली इस नियम से नाखुश दिखे. कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने इस नियम को तुरंत बदलने की मांग की. आकाश चोपड़ा का कहना था कि अंपायर 70 मीटर दूर पकड़े गए कैच पर आउट या नॉट आउट कैसे दे सकता है.

IND VS ENG: टीम इंडिया की 4 कमजोरियों का फायदा उठाकर इंग्लैंड जीत सकती है दूसरा वनडे! 

अंपायर कॉल नियम रहेगा बरकरार



बता दें विराट कोहली अंपायर कॉल नियम के खिलाफ भी बोले थे लेकिन आईसीसी की क्रिकेट कमेटी ने इसे हटाने की सिफारिश को खारिज किया है. अनिल कुंबले की अध्यक्षता में कमेटी ने इस नियम को बरकरार रखने की बात कही है. ऐसे में ये नियम जारी रहने की उम्मीद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज