आईसीसी की बैठक कल; टी20 वर्ल्ड कप, टैक्स छूट समेत अहम मुद्दों पर चर्चा होगी

सौरव गांगुली भी जल्द यूएई जाएंगे. (Sourav ganguly twitter)

सौरव गांगुली भी जल्द यूएई जाएंगे. (Sourav ganguly twitter)

आईसीसी (ICC) की बैठक 1 जून यानी मंगलवार को होने जा रही है. इसमें टी20 वर्ल्ड कप (T20 world Cup) की मेजबानी को लेकर चर्चा हो सकती है. भारत ने इसके लिए और समय मांगा है. कोरोना के कारण वर्ल्ड कप के आयोजन को लेकर संशय है.

  • Share this:

नई दिल्ली. आईसीसी (ICC) बोर्ड की बैठक कल दुबई में होने जा रही है. बैठक में भारत में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप (T20 World cup) की मेजबानी को लेकर चर्चा हो सकती है. 29 मई को बीसीसीआई (BCCI) ने विशेष बैठक कर आईसीसी से और समय मांगने की बात कही थी. कोरोना के चलते 4 मई को आईपीएल 2021 (IPL 2021) के मुकाबले 29 मैच स्थगित कर दिए गए थे. बचे 31 मैच सितंबर-अक्टूबर में यूएई में होने हैं. बीसीसीआई ने आधिकारिक तौर पर कह दिया है कि यूएई वर्ल्ड कप के आयोजन के लिए दूसरा विकल्प है. देश में आयोजन कराना प्राथमिकता है.

खलीज टाइम्स के अनुसार, बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला आईपीएल की तैयारियों के लिए यूएई पहुंच चुके हैं. राजीव शुक्ला ने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और आईपीएल कमिश्नर बृजेश पटेल जल्द यूएई आने वाले हैं. गांगुली और शाह के आईसीसी की बैठक में शामिल होने की संभावना है. यूएई में आईपीएल के अलावा बोर्ड के अधिकारी टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी के संबंध में भी यूएई बोर्ड से चर्चा कर सकते हैं.

आईसीसी की बैठक के 4 अहम मुद्दे

1- टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन कहां हो?

T20 World cup, ICC, Cricket news
अक्टूबर-नवंबर में टी20 वर्ल्ड कप होना है. 16 टीमें हिस्सा लेंगी. (ICC Twitter)

बीसीसीआई भारत में टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है. लेकिन देश में अभी भी रोजाना 1.50 से अधिक कोरोना के केस आ रहे हैं. सितंबर से नवंबर के बीच तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की जा रही है. ऐसे में बीसीसीआई कैसे आईसीसी को और समय देने के लिए मनाता है, यह देखना होगा. बोर्ड भी यूएई को दूसरे विकल्प के तौर पर देख रहा है. ऐसे में दोनों मेजबान देशों को लेकर बात हाे सकती है.

2-मेजबानी का अधिकार किससे पास रहेगा?



अगर किसी कारण टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन भारत की जगह यूएई में होता है तो टूर्नामेंट का आयोजक कौन होगा, इसे लेकर भी सवाल है. अगर मेजबानी भारत के पास रहती है तो भी आयोजक के तौर पर यूएई को बड़ी रकम मिलेगी. क्रिकइंफो की एक रिपोर्ट के अनुसार मेजबान देश को हर मैच के लगभग 2 करोड़ रुपए मिलेंगे. कुल 45 मैच होने हैं. ऐसे में 90 करोड़ रुपए यूएई बोर्ड को मिलेंगे.

3- टैक्स छूट को लेकर नहीं बनी बात

icc board and cricket committee meeting
आईसीसी टैक्स छूट को लेकर बीसीसीआई से बात कर रहा है. (File Photo))

बीसीसीआई और आईसीसी के बीच वर्ल्ड कप के दौरान टैक्स छूट को लेकर विवाद 2016 से चल रहा है. 2016 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान टैक्स छूट नहीं मिलने के बाद आईसीसी ने बीसीसीआई के लगभग 200 करोड़ रुपए रोक दिए. बीसीसीआई ने हालांकि इसे लेकर आईसीसी की विवाद सुलझाने वाली कमेटी के पास शिकायत की है. हालांकि इस पर अब तक निर्णय नहीं आया है. अगर वर्ल्ड कप भारत में होता है तो फिर टैक्स छूट का विवाद हो सकता है. अब तक बोर्ड और सरकार के बीच इस पर सहमति नहीं बनी है. अगर केंद्र सरकार टैक्स में 10% की छूट देती है, तो बोर्ड को करीब 226 करोड़ रुपए चुकाने होंगे. वहीं, कोई भी छूट नहीं देने की स्थिति में बोर्ड को 906 करोड़ रुपए देने होंगे. हालांकि बोर्ड पहले भी बिना टैक्स छूट के आयोजन की बात करता रहा है.

4- पाकिस्तान की टीम भारत आ सकेगी या नहीं?

यदि वर्ल्ड कप भारत में होता है तो पाकिस्तान की टीम के भारत आने के संबंध में भी चर्चा होगी. दोनों देशों ने 2012-13 से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली हैं. हालांकि आईसीसी के टूर्नामेंट के दौरान भारत सरकार की ओर से पाकिस्तान के खिलाड़ियों को छूट मिल सकती है. 2016 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान पाक के खिलाड़ी  भारत आए थे. हालांकि मुंबई में मैच खेलने को लेकर सवाल हैं. इस बार बोर्ड ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए 9 वेन्यू दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, चेन्नई, लखनऊ, धर्मशाला, हैदराबाद और अहमदाबाद को चुना है.

5- वर्ल्ड कप में 14 टीमों काे मिल सकता है मौका

बैठक में वनडे वर्ल्ड कप में 14 टीमों के शामिल होने की अनुमति दी जा सकती है. इसके अलावा 2023-31 के फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP) को लेकर भी चर्चा होनी है. आईसीसी हर साल एक अपना टूर्नामेंट कराना चाहता है. लेकिन बीसीसीआई, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड इसके पक्ष में नहीं हैं. ऐसे में इस पर मतभेद हो सकते हैं. विभिन्न बाेर्ड का कहना है कि इससे द्विपक्षीय सीरीज प्रभावित होगी.

आईपीएल में फैंस के आने को लेकर हो रही है चर्चा: बीसीसीआई

बीसीसीआई अध्यक्ष राजीव शुक्ला यूएई पहुंच चुके हैं. (Rajeev Shukla Twitter)

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि आईपीएल के बचे मैच कराने काे लेकर यूएई बोर्ड और अन्य एजेंसियों से बात की जाएगी. उम्मीद है कि पिछले सीजन की ही तरह इस बार भी मुकाबले आराम हो हो जाएंगे. फैंस के स्टेडियम में आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यूएई की अथॉरिटी जो निर्णय लेंगी, हम उसी के अनुसार चलेंगे. अगर उन्होंने कहा कि फैंस आने चाहिए तो ठीक और फैंस को इजाजत नहीं मिली तो भी हम इसके लिए तैयार हैं. बचे मैच में विदेशी खिलाड़ियों के नहीं खेलने के सवाल पर राजीव शुक्ला ने कहा, ‘हम इसे लेकर बात कर रहे हैं. हमारा फोकस टूर्नामेंट को पूरा करने पर है. भारत के खिलाड़ी और विदेश खिलाड़ी खेलेंगे. कुछ विदेशी खिलाड़ी नहीं रहेंगे. लेकिन टूर्नामेंट पूरा होगा.’

टूर्नामेंट के पहले खिलाड़ियों को टीका लगेगा

राजीव शुक्ला ने कहा कि आईपीएल के पहले खिलाड़ियों को टीका लगेगा. इंटरनेशनल खेलने वाले खिलाड़ियों को पहला डोज लग चुका है. उन्होंने कहा कि अगर घरेलू खिलाड़ियों को टीका देने की बात आई तो हम उन्हें यूएई और भारत दोनों के प्रोटोकॉल का पालन करेंगे और टीका लगवाएंगे. उन्होंने कहा कि हमें 20 दिन में टूर्नामेंट पूरा करना है, क्योंकि इसके बाद टी20 वर्ल्ड कप होना है. भारत में टूर्नामेंट कराना हमारी प्राथमिकता है. यूएई को दूसरे विकल्प के तौर पर रखा गया है.

यूएई में तीसरी बार होगा आईपीएल का आयोजन

यूएई में तीसरी बार आईपीएल के मुकाबले खेले जाएंगे. इससे पहले 2014 में शुरुआती 20 मैच यूएई में हुए थे, इसके बाद सीजन के बाकी बचे मैच भारत में खेले गए. 2020 के सभी 60 मैच यूएई में खेले गए थे. अब मौजूदा सीजन के बचे 31 मैच भी यहीं होने हैं. इसके अलावा एक बार और साल 2009 में टी20 लीग का आयोजन विदेश में दक्षिण अफ्रीका में कराया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज