जिम्बाब्वे क्रिकेट को मिल सकती है राहत, आईसीसी ने बिना शर्त ये काम करने को कहा

आईसीसी ने आठ अक्टूबर की समयसीमा तय करते हुए कहा है कि जिम्बाब्वे 14 जून को चुने गए क्रिकेट बोर्ड को बिना शर्त बहाल करे.

News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 9:52 AM IST
जिम्बाब्वे क्रिकेट को मिल सकती है राहत, आईसीसी ने बिना शर्त ये काम करने को कहा
आईसीसी ने जिम्बाब्वे सरकार के दखल के बाद जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को निलंबित कर दिया था.
News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 9:52 AM IST
जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को निलंबित हुए एक हफ्ते से ज्यादा का समय हो चुका है. आईसीसी ने यह कहते हुए बोर्ड को निलंबित कर दिया था कि जिम्‍बाब्‍वे क्रिकेट लोकतांत्रिक तरीके से निष्‍पक्ष चुनाव कराने का माहौल तैयार करने और क्रिकेट के प्रशासन में सरकार के दखल को दूर रखने में नाकाम रहा है. मगर अब आईसीसी से जिम्बाब्वे क्रिकेट के लिए राहत की खबर आई है.

दरअसल, आईसीसी ने आठ अक्टूबर की समयसीमा तय करते हुए कहा है कि जिम्बाब्वे 14 जून को चुने गए क्रिकेट बोर्ड को बिना शर्त बहाल करे. बता दें कि 14 जून को चुने गए जिम्बाब्वे क्रिकेट की इसी गवर्निंग बॉडी को जिम्बाब्वे सरकार ने निलंबित कर दिया था, जिसके बाद आईसीसी ने जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को निलंबित करने का फैसला किया था.

निलंबन के साथ ही आईसीसी ने जिम्बाब्वे क्रिकेट को दी जा रही आर्थिक मदद भी रोक दी थी और उसके आईसीसी टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पर भी रोक लगा दी थी. आईसीसी के इस फैसले से जनवरी 2020 में भारत के खिलाफ जिम्बाब्वे की टी-20 सीरीज पर भी खतरा मंडराने लगा था. हाल ही में जिम्बाब्वे की चार महिला क्रिकेटरों को इंग्लैंड जाने से भी रोक दिया गया था. अब आईसीसी ने नई समयसीमा तय कर दी है. लेकिन अगर जिम्बाब्वे क्रिकेट अपना अंदरूनी मामला इस समयसीमा में नहीं सुलझा सका तो फिर जिम्बाब्वे को आईसीसी से मिला दर्जा छिन भी सकता है.

zimbabwe cricket, icc, international cricket council, zimbabwe cricket suspend, जिम्‍बाब्‍वे क्रिकेट, अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद, आईसीसी
जिम्बाब्वे और भारतीय क्रिकेट टीम के बीच जनवरी 2020 में टी-20 सीरीज प्रस्तावित है.


आईसीसी के अनुसार, जिम्बाब्वे ने क्रिकेट की सर्वोच्च संस्‍था के संविधान की धारा 2.4 (d) और (e) उल्लंघन किया है. इस पर आईसीसी की 12 अक्टूबर को होने वाली बैठक में भी चर्चा होगी. इसके चार दिन पहले आठ अक्टूबर तक जिम्बाब्वे को उसके क्रिकेट बोर्ड को बिना शर्त बहाल करने को कहा गया है. अगर ऐसा करने में वह नाकाम रहता है तो फिर आईसीसी जिम्बाब्वे से उसकी सदस्यता छीन सकती है.

2 ओवर में गिर गए 6 विकेट, 44 रन पर टीम ऑल आउट
दस साल से घर नहीं गए लसित मलिंगा, सिलाई करके जिंदगी बिता रहे मां-बाप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 26, 2019, 9:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...