अपना शहर चुनें

States

T20 World Cup : फाइनल में पहुंचने के बाद भी खुश नहीं हैं कप्तान हरमनप्रीत, दे दिया ये बड़ा बयान

हरमनप्रीत कौर भारतीय टीम की कप्तान हैं
हरमनप्रीत कौर भारतीय टीम की कप्तान हैं

भारतीय महिला टीम पहली बार आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) के फाइनल में पहुंचने में कामयाब रही है

  • Share this:
सिडनी. ऑस्ट्रेलिया (Australia) में खेले जा रहे आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) में भारतीय टीम फाइनल में प्रवेश कर चुकी है. भारत और इंग्लैंड के बीच  पहला सेमीफाइनल मुकाबला बारिश के कारण रद्द हो गया. सिडनी (Sydney) में हो रही लगातार बारिश के कारण मैच का टॉस तक नहीं हो पाया और लीग राउंड में ग्रुप ए में टॉप पर रहने के कारण भारतीय टीम को फाइनल का टिकट मिला. हालांकि मैच के बाद दोनों ही टीमों की कप्तान ने रिजर्व डे ना होने पर निराशा जताई.

हरमनप्रीत कौर ने की टीम की तारीफ
पहली बार फाइनल में पहुंची भारतीय टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) ने कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज खराब मौसम के कारण मैच नहीं हो पाया, पर हम इस बारे में कुछ नहीं कर सकते. अगर रिजर्व डे होता तो बेहतर होता. हमने पहले दिन से ही यह तय किया था कि हमें सभी मुकाबले जीतने हैं ताकि हम ग्रुप में टॉप पर रहे. हमने सोचा था कि अगर सेमीफाइनल मैच बारिश के कारण नहीं हो पाता है तो हमें इसका नुकसान नहीं होना चाहिए. फाइनल में पहुंचने का श्रेय पूरी टीम को जाता है जिन्होंने हर मैच में शानदार खेला दिखाया और सभी में जीत हासिल की. हर खिलाड़ी अच्छी लय में दिख रहा है. यह हमारा पहला फाइनल मुकाबला है और बेहद खास है. एक टीम के तौर पर हम मैदान पर जाकर अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलना चाहते हैं. अगर हम अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाते हैं तो हम जरूर जीत हासिल करेंगे.'

इस पूरे टूर्नामेंट में हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना का बल्ला नहीं चला. हालंकि कप्तान का मानना है कि फाइनल में दोनों एक बार फिर रन बनाएंगी. हरमनप्रीत ने कहा, 'मैं और स्मृति पूरे टूर्नामेंट में रन नहीं बना पाए हैं. हालांकि टीम के बाकी खिलाड़ियों ने आगे आकर जिम्मेदारी उठाई है. फाइनल में उम्मीद है कि हम सभी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे. हम यह नहीं सोच रहे कि फाइनल में हमारा सामना किससे होगा, हमारा ध्यान केवल हमारे खेल पर है.'
इंग्लैंड की कप्तान रिजर्व डे ना होने से नाराज


रिजर्व डे न होने को लेकर हेदर नाइट्स काफी निराश दिखीं और कहा, 'यह नियम है जिनको लेकर सभी ने हामी भरी है. जैसा हमारे साथ हुआ उसके बाद उम्मीद है कि नियम बदलेंगे. आज के बाद कोई टीम बारिश के कारण वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से बाहर नहीं होगी. यह काफी निराशाजनक है. हम काफी मेहनत करते हैं, लेकिन हम इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकते. हम आगे बढ़ने की कोशिश करेंगे लेकिन यह लंबे समय तक हमें परेशान करेगा.'

हेदर नाइट्स मे कहा कि यह टूर्नामेंट महिला क्रिकेट को अलग स्तर पर ले गया है और वह चाहती थी कि दुनिया की चार बेहतरीन टीमें फाइनल के लिए लड़ें. टूर्नामेंट में पहला शतक जड़ने वाली कप्तान ने कहा, 'यह टूर्नामेंट के लिए काफी निराशाजनक है. आपके पास चार ऐसी टीमें हैं जो अच्छा क्रिकेट खेलना चाहती थीं. हमसे यह मौका छिन गया लेकिन उम्मीद है फाइनल शानदार होगा. मैं एक फैन के तौर पर वहां होगी.'

बड़ी खबर : टीम इंडिया ने रचा इतिहास, पहली बार महिला टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में बनाई जगह, इस टीम से खिताबी जंग संभव

ओलंपियन बनते-बनते रह गया था ये दिग्गज क्रिकेटर, अब मोक्ष के लिए गंगा में लगाई डुबकी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज