अपना शहर चुनें

States

कोई क्रिकेट के लिए घर से भागी, तो किसी को नहीं मिली एकेडमी में एंट्री, अब पूरा देश कर रहा है सलाम

टीम इंडिया के लिए शेफाली, राधा यादव और पूनम यादव ने किया शानदार प्रदर्शन
टीम इंडिया के लिए शेफाली, राधा यादव और पूनम यादव ने किया शानदार प्रदर्शन

महिला टी20 वर्ल्ड कप (ICC Women's T20 World Cup) के फाइनल में भले ही टीम इंडिया को हार मिली हो लेकिन उसकी तीन खिलाड़ियों ने पूरी दुनिया में अपना और देश का नाम रोशन किया है

  • Share this:
मेलबर्न. महिला टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल (ICC Women's T20 World Cup) और टीम इंडिया की हार. इस खबर ने करोड़ों फैंस का दिल दुखाया, उम्मीद थी कि इस बार भारतीय महिला क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप घर लेकर आएंगी हालांकि ऐसा हुआ नहीं. फाइनल में उसे मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने 85 रनों से हरा दिया. वैसे इस हार के बाद भी देश को अपनी बेटियों पर नाज है. टीम इंडिया की 3 खिलाड़ियों शेफाली वर्मा, पूनम यादव और राधा यादव ने टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया. बड़ी बात ये है कि इन तीनों खिलाड़ियों ने क्रिकेट खेलने के लिए बहुत संघर्ष किया और उसके बाद उन्होंने टी20 वर्ल्ड कप जैसे बड़े मंच पर देश का प्रतिनिधित्व किया.

शेफाली वर्मा ने दिखाया बल्ले से कमाल
शेफाली वर्मा (Shafali Verma) ने आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप में भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए. उन्होंने 5 मैचों में 38.66 के औसत से 163 रन बनाए. दो मैचों में वो प्लेयर ऑफ द मैच भी चुनी गईं. महज 16 साल की शेफाली वर्मा ने अपने विस्फोटक खेल से पूरी दुनिया का दिल जीता. वैसे एक वक्त ऐसा भी था जब उन्हें कोई क्रिकेट एकेडमी एडमिशन नहीं दे रही थी. रोहतक की क्रिकेट एकेडमियों ने शेफाली के लड़की होने की वजह से उन्हें क्रिकेट सिखाने से मना कर दिया. इसके बाद उन्होंने लड़का बनकर क्रिकेट खेलना शुरू किया. इस वजह से उन्होंने अपने बाल भी नहीं बढ़ाए.

जमकर चली पूनम यादव की फिरकी
पूनम यादव (Poonam Yadav) ने अपनी लेग स्पिन से टी20 वर्ल्ड कप में खूब सुर्खियां बटोरी. पूनम ने 5 मैचों में 10 विकेट अपने नाम किये. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 4 विकेट झटक उन्होंने सभी को हैरान कर दिया. पूनम यादव ने भी क्रिकेटर बनने के लिए अपने परिवार से विद्रोह किया. आगरा की रहने वाली पूनम यादव को बचपन से क्रिकेट खेलने का शौक था लेकिन उनके पिता ने समाज के तानों की वजह से उन्हें ऐसा करने से रोका. हालांकि पूनम थमी नहीं और एक दिन वो पिता को बिना बताए स्टेडियम चली गईं. इसके बाद वो अपनी कोच हेमलता को लेकर घर लौटीं और उन्होंने पूनम के पिता को क्रिकेट खेलने देने के लिए मनाया. वो दिन है और आज का दिन है पूनम यादव देश और अपने परिवार का नाम रोशन कर रही हैं.



राधा यादव ने भी किया अच्छा प्रदर्शन
बाएं हाथ की स्पिनर राधा यादव (Radha Yadav) ने भी टी20 वर्ल्ड कप में खेले 3 मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया. उन्होंने कुल 6 विकेट लिए और उनका इकॉनमी रेट 6.83 रहा. श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने 23 रन देकर 4 विकेट झटक प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम किया. राधा यादव के पिता सब्जी बेचते थे बावजूद इसके उन्होंने अपने टैलेंट के दम पर इतना लंबा सफर तय किया. राधा यादव पहले बाएं हाथ की तेज गेंदबाज थी लेकिन वो इसके बाद स्पिनर बन गईं. उन्होंने पृथ्वी शॉ और सरफराज खान जैसे क्रिकेट खिलाड़ियों के साथ ट्रेनिंग की है.

टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में इस भारतीय खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान, कहा मुझे नफरत है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज