वर्ल्ड कप में हार के बावजूद भारतीय टीम में कोई बदलाव नहीं चाहते गौतम गंभीर

वर्ल्ड कप में हार के बावजूद भारतीय टीम में कोई बदलाव नहीं चाहते गौतम गंभीर
वर्ल्ड कप के फाइनल में नहीं पहुंच पाई थी टीम इंडिया. (twitter)

भारत को आईसीसी वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा था

  • Share this:
आईसीसी वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में भारत की हार के बाद टीम पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं. साल 2011 की वर्ल्ड कप विजेता टीम का हिस्सा रहे गौतम गंभीर को लगता है कि इस हार के लिए किसी एक खिलाड़ी को निशाना बनाना सही नहीं है. भारत सेमीफाइनल से पहले लीग राउंड में केवल एक ही मैच हारा था. गौतम गंभीर ने कहा कि टीम को हार को भूलकर आगे की सीरीज पर ध्यान देना चाहिए और किसी को हार का जिम्मेदार ठहराना सही नहीं है, ना टीम में किसी बदलाव की जरूरत है.

गौतम गंभीर ने अखबार में अपने कॉलम में लिखा है कि, ' जिस तरह टूर्नामेंट में भारत का सफर खत्म हुआ, उससे भारतीय टीम  दुखी होगी. इसके बावजूद टीम में बदलाव की कोई जरूरत नहीं है, बस यह तय करना होगा की आने वाली अगली वनडे सीरीज में धोनी का बल्लेबाजी क्रम क्या होगा.' महेंद्र सिंह धोनी सेमीफाइनल में सातवें नंबर बल्लेबाजी करने आए थे. कई दिग्गजों का मानना है कि धोनी को ऊपर बल्लेबाजी करने आना चाहिए था ताकी वह टीम को दबाव से निकलाते.

 



इसके साथ ही गौतम गंभीर ने ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या के बारे में बात करते हुए कि उन्हें सही मार्गदर्शन की जरूरत है. उन्होंने आगे लिखा, 'पंड्या और पंत पर भरोसा करने की जरूरत है. उनमें काफी प्रतिभा है हांलाकि उन्हें सही मार्गदर्शन मिलने की जरूरत है.' सेमीफाइनल मुकाबले में इन दोनों बल्लेबाजों ने पांचवें विकट लिए अहम साझेदारी की थी.
भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप के लीग राउंड में शानदार खेल दिखाते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई थी.  ग्रुप मुकाबलों में अंत में आठ मैचों 15 अंक लेकर भारत अंक तालिका में पहले स्थान पर रहा था. सेमीफाइनल में उसका सामना चौथे नंबर पर रहे न्यूजीलैंड से हुआ था. भारत के सामने न्यूजीलैंड ने 240 रन का लक्ष्य रखा था जवाब में टीम इंडिया महज 221 रन ऑलआउट हो गई थी. 18 रन से हारने के साथ ही भारत के विश्व कप का सफर खत्म हो गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज