World Cup: 'रोहित-कोहली नहीं ये खिलाड़ी हैं हार के गुनहगार'

भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में टीम इंडिया की न्यूजीलैंड से हार के कारण गिनाए. इस दौरान उन्होंने जडेजा की जमकर तारीफ की.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 7:22 AM IST
World Cup: 'रोहित-कोहली नहीं ये खिलाड़ी हैं हार के गुनहगार'
टीम इंडिया का तीसरी बार विश्व चैंपियन बनने का सपना भी टूट गया. हरभजन सिंह ने टीम इंडिया की हार के कारण गिनाए.
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 7:22 AM IST
आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में भारत का सफर खत्म हो गया. मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले गए पहले सेमीफाइलन में न्यूजीलैंड ने भारत को 18 रन से हरा दिया. इसी के साथ टीम इंडिया का तीसरी बार विश्व चैंपियन बनने का सपना भी टूट गया. भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने टीम इंडिया की हार के कारण गिनाए. उन्होंने कहा कि शिखर धवन और अंबाति रायडू जैसे बल्लेबाजों की जगह केएल राहुल व दिनेश कार्तिक को बड़ी उम्मीद से टीम में शामिल किया गया था, लेकिन दोनों बड़े मैच में पिच पर लहराती गेंदों का सामना नहीं कर पाए. इन खिलाड़ियों को सोचना चाहिए था कि जिनकी जगह टीम में इनका चयन हुआ है, उनमें भी कोई कमी नहीं थी.

हरभजन ने मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजी पर सवाल उठाए

भारतीय स्पिनर ने टीम इंडिया की मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजी पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि टीम इंडिया की बल्लेबाजी का शीर्षक्रम हर बार आपको मैच नहीं जिता सकता. अगर विराट कोहली और रोहित शर्मा मैच में स्कोर नहीं कर पाए तो मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों को जिम्मेदारी उठानी चाहिए थी. हार्दिक पांड्या (32) और दिनेश कार्तिक (6) अगर मैदान पर टिकते तो शायद टीम इंडिया यह मुकाबला जीत सकती थी.

हरभजन सिंह के मुताबिक, अगर शिखर धचन सेमीफाइनल में होते तो टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर इस तरह नहीं बिखरता.


शिखर धवन के घायल होने को बताया बड़ा झटका 

हरभजन सिंह मानते हैं कि ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन का घायल होना टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा झटका था. उनके मुताबिक, अगर शिखर सेमीफाइनल में होते तो टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर इस तरह नहीं बिखरता. टीम इंडिया के सिर पर उसी दिन संकट के बादल छा गए थे जब गब्बर घायल हुए थे.

मिचेल सेंटनर भारतीय बल्लेबाजों पर नजर आए हावी 
Loading...

टर्बनेटर ने कहा कि मैच में एक वक्त ऐसा था, जब कीवी स्पिनर मिचेल सेंटनर बल्लेबाजों पर हावी नजर आ रहे थे. पिच पर ज्यादा टर्न देखने को नहीं मिला. इसके बावजूद बल्लेबाज उनके खिलाफ 6 ओवर में 10 रन ही बना पाए थे. हालांकि, रविंद्र जडेजा ने उनका डटकर सामना किया और बड़े शॉट खेलकर दबाव भी कम किया.

रविंद्र जडेजा के आलराउंड प्रदर्शन की जमकर तारीफ की 

हरभजन ने टीम इंडिया के ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय सीरीज में एक बल्लेबाज कितने ही रन क्यों न बना ले, लेकिन उसकी सही पहचान तब होती है जब वह बड़े टूर्नामेंट में रन बनाता है. जडेजा की 77 रन की पारी ने साबित कर दिया कि वह बड़े मैच के खिलाड़ी हैं.

ये भी पढ़ें:

बड़े मैचों में नहीं चलता कोहली का बल्ला, खुल जाती है बल्लेबाजी की पोल

IND vs NZ : 20,645 रन का अनुभव...कुल 3 रन बना सके विराट-रोहित-राहुल, जरूरत पर ढह गया शीर्ष क्रम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 11, 2019, 6:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...