सचिन तेंदुलकर ने इंग्लैंड-न्यूजीलैंड सीरीज पर उठाए सवाल, बताया- WTC Final में कौन टीम रहेगी फायदे में

WTC Final भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से खेला जाएगा (Sachin Tendulkar/Instagram)

WTC Final: केन विलियमसन की टीम न्यूजीलैंड ने पहले ही इंग्लैंड में दो टेस्ट मैच खेले हैं. ऐसे में वह इंग्लैंड की परिस्थिति और पिच के साथ अपना सामंज्य बैठा चुका हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत के लीजेंडरी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के फाइनल में भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) का पलड़ा भारी बता रहे हैं. भारत और न्यूजीलैंड के बीच यह महामुकाबला 18 जून से साउथेम्प्टन में खेला जाएगा. तथ्य यह है कि केन विलियमसन की टीम न्यूजीलैंड ने पहले ही इंग्लैंड में दो टेस्ट मैच खेले हैं. ऐसे में वह इंग्लैंड की परिस्थिति और पिच के साथ अपना सामंज्य बैठा चुका हैं. वहीं, विराट कोहली की टीम ने सिर्फ एक इंट्रा-स्क्वाड अभ्यास मैच खेला है. ऐसे में अगर देखा जाए को न्यूजीलैंड की टीम फायदे में नजर आ रही है.

    सचिन तेंदुलकर ने टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बातचीत में कहा, ''इस वजह से बिना किसी शक के न्यूजीलैंड को थोड़ा सा फायदा है, क्योंकि उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेल लिए हैं. जबकि भारतीय टीम ने खुद के साथ ही एक प्रैक्टिस मैच खेला है.'' हालांकि, भारत के पूर्व कप्तान का मानना ​​​​है कि विराट कोहली की टीम तैयार रहेगी, क्योंकि टीम में हर कोई इंग्लैंड में पहले ही कुछ क्रिकेट खेल चुका है, जिसमें भारत ए भी शामिल है. उन्होंने कहा, ''यह तो अच्छी बात है. हमारे खिलाड़ी अलग-अलग टीम में इंग्लैंड में पहले खेल चुके हैं. ऐसे में वह वहां की परिस्थितियों से पूरी तरह से नावाकिफ नहीं हैं.''

    WTC Final को लेकर ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान का बड़ा दावा, बताया- कौन जीतेगा टूर्नामेंट

    इस दिग्गज बल्लेबाज ने हाल ही में समाप्त हुई इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज के साथ आगे बढ़ने के आईसीसी के फैसले पर भी अफसोस जताया है. केन विलियमसन की टीम ने इस सीरीज को 1-0 से जीता है. तेंदुलकर ने कहा कि दो मैचों की टेस्ट सीरीज आईसीसी डब्ल्यूटीसी फाइनल के बाद खेली जानी चाहिए थी, क्योंकि यह विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की अंकतालिका में कोई योगदान नहीं दे रहा था. ऐसे में इंग्लैंड टेस्ट सीरीज से आगे बढ़कर तैयारियों के मामले में न्यूजीलैंड को थोड़ा फायदा हुआ.

    उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं पता कि न्यूजीलैंड बनाम इंग्लैंड सीरीज कब तय हुई थी. मुझे विश्वास है कि यह पहले से तय किया गया था. इससे पहले कि न्यूजीलैंड ने फाइनल में जगह बनाई. शायद यह एक संयोग है. इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड सीरीज डब्ल्यूटीसी फाइनल में योगदान नहीं देने वाली थी. तो ऐसे में पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप का फाइनल खेला जा सकता था, उसके बाद यह सीरीज खेली जाती.'' मास्टर ब्लास्टर को लगता है कि 50 ओवर या टी20 विश्व कप के विपरीत, डब्ल्यूटीसी में निरंतरता की कमी है, कम से कम अभी के लिए.

    WTC Final: भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड की टीम का ऐलान, जानें कौन हुआ IN और कौन OUT

    सचिन तेंदुलकर ने कहा, ''महामारी और इसके मद्देनजर अन्य चुनौतियों के कारण बहुत सारे ब्रेक रहे. जिसकी वजह से फाइनल का उत्साह नदारद है. जब कोई टूर्नामेंट बिना ब्रेक के चलता है - जैसे 50 ओवर का WC या T20 WC तो उसमें एक निरंतरता होती है. इन टूर्नामेंटों के लिए एक बिल्ड-अप होता है, जो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में गायब है.''

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.