'अगर राहुल द्रविड़ टीम इंडिया का कोच बनना चाहें तो रवि शास्त्री को मिलेगी कड़ी टक्कर'

IND VS SL: राहुल द्रविड़ भारतीय कप्तान शिखर धवन के साथ. (PC-शिखर धवन इंस्टाग्राम)

India vs Sri Lanka: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का अनुबंध इसी साल नवंबर में खत्म हो रहा है. ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) उनकी जगह ले सकते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम लगातार दो वनडे मैच जीत चुकी है और हर तरफ कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की चर्चा हो रही है. फैंस मांग कर रहे हैं कि द्रविड़ को सीनियर टीम का भी जिम्मा दिया जाए. भारत की मुख्य टीम के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का अनुबंध इस साल टी20 वर्ल्ड कप तक है. अभी तक किसी तरह की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है कि उनका कोच के तौर पर करार बढ़ाया जाएगा या नहीं. ऐसी अटकलें भी लगाई जा रही हैं कि द्रविड़ उनकी जगह ले सकते हैं. बता दें कि साल 2017 में अनिल कुंबले (Anil Kumble) के हटने के बाद रवि शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के कोच के तौर पर पदभार संभाला था.

    इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि द्रविड़ के पास भारतीय टीम का कोच के लिए आवश्यक साख और अनुभव है. हालांकि भारत के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा को नहीं लगता कि द्रविड़ भारत के कोच बनने जा रहे हैं. यह पहली बार नहीं है जब भारतीय टीम के संभावित कोचों की सूची में द्रविड़ का नाम चर्चा में है. कुंबले के जाने के बाद भी द्रविड़ की चर्चा हो रही थी. हालांकि चार साल पहले द्रविड़ ने खुद को कोच की रेस से दूर रखा था. चोपड़ा को लगता है कि इस बार भी ऐसा ही होगा.

    उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि राहुल द्रविड़ अपना नाम लिस्ट में डालने जा रहे हैं. अगर राहुल कहते हैं कि वह भारत के कोच बनना चाहते हैं तो टक्कर हो सकती है. अगर वह चाहते हैं, तो यह एक मजबूत लड़ाई होगी.'' द्रविड़ ने पिछली बार परिवार के साथ अधिक समय बिताने की आवश्यकता पर जोर दिया था और भारत ए और अंडर-19 टीमों के साथ बने हुए थे. श्रीलंका दौरे पर भारत को सिर्फ छह मैचों की सीरीज खेलनी है इसलिए उन्होंने कोच बनना आसानी से स्वीकार कर लिया. अगर द्रविड़ कोच की रेस में शामिल होते हैं तो शास्त्री को कड़ी टक्कर मिलेगी.

    दीपक चाहर के पिता का छलका दर्द, बोले-ये गलती ना करते तो आईपीएल नीलामी में मिलते 2 करोड़

    चोपड़ा ने आगे कहा, "लेकिन अगर द्रविड़ अनिच्छा जाहिर करते हैं तो शास्त्री के सामने कोई अन्य उम्मीदवार नहीं टिक पाएगा. ऐसा मेरा मानना है." चोपड़ा को नहीं लगता कि कोच बदलने की भी जरूरत है. भारतीय क्रिकेट टीम ने भले ही शास्त्री के नेतृत्व में आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीती हो, लेकिन टीम के ओवरऑल प्रदर्शन की ज्यादा आलोचना नहीं हुई है. चोपड़ा के अनुसार शास्त्री अगले दो सालों तक टीम इंडिया को अपनी सेवाएं दे सकते हैं. भारत को इस दौरान टी20 वर्ल्ड कप और वनडे वर्ल्ड कप खेलना है.

    श्रेयस अय्यर ताबड़तोड़ कर रहे प्रैक्टिस, एक ही दिन में तोड़ डाले दो बल्ले

    शास्त्री के कोच रहते भारत इस साल टी20 वर्ल्ड कप जीत जाता है तो उन्हें इस पद से हटाना असंभव होगा. अगर भारत जल्द बाहर हो जाता तो रवि शास्त्री के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.