अपना शहर चुनें

States

IND vs AUS: टिम पेन बार-बार कर रहे थे परेशान, अश्विन के जवाब से बोलती हो गई बंद

ऑस्ट्रेलिया को पांचवें दिन जीत के लिए आठ विकेट और भारत को 309 रन चाहिए थे. आखिर में भारतीय बल्लेबाजों ने क्रीज पर पांव जमाकर अपनी टीम को अंतिम मैच से पहले मनोवैज्ञानिक बढ़त दिलाई.(PIC : AP)
ऑस्ट्रेलिया को पांचवें दिन जीत के लिए आठ विकेट और भारत को 309 रन चाहिए थे. आखिर में भारतीय बल्लेबाजों ने क्रीज पर पांव जमाकर अपनी टीम को अंतिम मैच से पहले मनोवैज्ञानिक बढ़त दिलाई.(PIC : AP)

India vs Australia, Sydney Test: टिम पेन (Tim Paine) ने ना केवल कैच छोड़, बल्कि उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों की जमकर स्लेजिंग भी की. इस स्लेजिंग के दौरान अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने पेन को ऐसा करारा जवाब दिया, जिसकी जमकर वाहवाही हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 11:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने सोमवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में तीसरे टेस्ट के अंतिम दिन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाए. उन्होंने तीन कैच छोड़े जो ऑस्ट्रेलियाई टीम को काफी महंगे पड़े. उन्होंने सबसे पहले 97 रन की पारी खेलने वाले ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) के जरूरी कैच छोड़े. टिम पेन की इन गलतियों और अश्विन-हनुमा के क्रीज पर दर्द में जमे रहने की वजह से भारत ने ऑस्ट्रेलिया के जबड़े से सिडनी टेस्ट की जीत छीन ली. टिम पेन ने ना केवल कैच छोड़, बल्कि उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों की जमकर स्लेजिंग भी की. इस स्लेजिंग के दौरान रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने पेन को ऐसा करारा जवाब दिया, जिसकी जमकर वाहवाही हो रही है.

407 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही टीम इंडिया की पांचवे दिन की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. पहले ही सेशन के शुरुआत में भारत ने कप्तान अजिंक्य रहाणे का विकेट गंवा दिया. लेकिन इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा ने मोर्चा संभाला. पंत ने 118 गेंदों में पर 97 रनों की तेजतर्रार पारी खेली. उनकी इस पारी में पंत ने 12 चौके और 3 छक्के जड़े. वहीं, पुजारा ने 205 गेंदों में 77 रन की पारी खेली. उनकी इस पारी में 12 चौके शामिल रहे. पंत और पुजारा के आउट होने के बाद हनुमा विहारी और रविचंद्रन अश्विन मैदान पर आए.

Ind vs Aus: पिछले 17 सालों में पहली बार टीम इंडिया ने की चौथी पारी में 100 से ज्‍यादा ओवर बल्‍लेबाजी



अश्विन और हनुमा दोनों ही चोटिल थे, लेकिन शानदार साझेदारी और धैर्य का परिचय देते हुए इन दोनों तकरीबन कई घंटे तक बल्लेबाजी की. दर्द के बाजवूद दोनों अश्विन और हनुमा ने हौसला नहीं खोया और क्रीज पर जमे रहे. ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने जहां एक तरफ उन्हें अपनी गेंदों से और चोटिल करने की कोशिश की तो वहीं, कप्तान टिम पेन स्लेजिंग की जरिये इन बल्लेबाजों को परेशान करने का हर संभव प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो पाए.

हनुमा और अश्विन के क्रीज पर रहते हुए हर बीतता लम्हा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की चिड़चिड़ाहट को बढ़ा रहा था. सबसे ज्यादा परेशान कप्तान टिम पेन थे, जिहोंने तीन बार कैच ड्रॉप किए. इनमें दो बार पंत और एक बार विहारी का कैच शामिल था. ऐसे में जब आखिरी घंटे में अश्विन खेलने के लिए आए तो वह टिम पेन की स्लेजिंग का शिकार हुए. अश्विन ने 100 से ज्यादा गेंदे खेली. इस दौरान उनकी और टिम पेन की आवाज भी स्टम्प माइक में कैद हुई.

IND vs AUS: भारत के 200 रन भी न बना पाने की भविष्‍यवाणी हुई गलत, तो तस्‍वीर शेयर कर सहवाग ने उड़ाया पोंटिंग का मजाक

इस बैंटर की शुरुआत टिम पेन ने की. पेन ने अश्विन से कहा कि वह भारत के गाबा में आने का इंतजार नहीं कर सकते हैं. इस पर अश्विन ने करारा जवाब देते हुए पेन से कहा, ''मैं तुम्हारे भारत आने का इंतजार नहीं कर सकता हूं, क्योंकि वह तुम्हारी अंतिम सीरीज होगी.'' इस दौरान पेन को यह कहते भी साफ सुना गया, ''तुम्हारे टीम के साथी भी तुम्हें पसंद नहीं करते हैं.''
ऑस्ट्रेलिया के लिए स्थिति और भी खराब उस वक्त हो गई, जब टिम पेन ने पारी में तीसरा कैच छोड़ा. यह हनुमा विहारी का कैच था. इस वक्त दिन के सिर्फ पांच ओवर ही बचे थे. इस कैच ड्रॉप ने ऑस्ट्रेलिया की जीत की जीत के दरवाजे को पूरी तरह बंद कर दिया. पांचवे दिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज सिर्फ तीन ही विकेट झटक पाए.


बता दें कि हनुमा विहारी ने लगभग चार घंटे क्रीज पर बिताकर अपने नाबाद 23 रन के लिए 161 गेंदें खेली. जबकि अश्विन ने 128 गेंदों पर नाबाद 38 रन बनाए. दोनों ने लगभग 42 ओवरों का सामना करके छठे विकेट के लिए 62 रन जोड़े. भारत ने 407 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिर में 131 ओवरों में पांच विकेट पर 334 रन बनाए. जब मैच में एक ओवर बचा हुआ था, तब दोनों टीमें ड्रॉ पर सहमत हो गईं.

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 338 रन बनाए थे और दूसरी पारी छह विकेट पर 312 रन बनाकर समाप्त घोषित की। भारत ने पहली पारी में 244 रन बनाए थे. रोमांच की पराकाष्ठा पर पहुंचे इस मैच के ड्रॉ होने के बाद चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबरी पर है.अब ब्रिस्बेन में 15 जनवरी से शुरू होने वाला चौथा और अंतिम टेस्ट मैच निर्णायक बन गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज