अपना शहर चुनें

States

IND Vs AUS: संजय मांजरेकर ने जडेजा की चोट पर उठाए सवाल, बोले- कहां थे फिजियो, नियमों का हुआ उल्लंघन

संजय मांजरेकर ने जडेजा की चोट पर उठाए सवाल
संजय मांजरेकर ने जडेजा की चोट पर उठाए सवाल

IND Vs AUS: संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने कहा कि जडेजा के बल्लेबाजी जारी रखने से भारत को कोई बड़ा फायदा नहीं हुआ, क्योंकि भारत ने इसके बाद सिर्फ नौ रन ही जोड़े, लेकिन उसकी चोट की विश्वसनीयता पर सवाल उठाये जा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 8:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी-20 मैच में रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के सिर में चोट लगने का मामला लगातार उलझता जा रहा है. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और कॉमेंटेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने इस मामले को लेकर कई तरह के सवाल खड़े किए हैं. मांजरेकर के मुताबिक जिस कन्कशन सब्स्टीटयूट के नियमों के तहत युजवेंद्र चहल (yuzvendra chahal) को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया, वहां नियमों का उल्लंघन हुआ. बता दें कि इस मैच में तीन विकेट लेकर चहल मैच के सबसे बड़े मैच विनर साबित हुए.

मांजरेकर ने उठाए सवाल
सोनी सिक्स पर कॉमेंट्री करते हुए मांजरेकर ने कहा कि जब जडेजा के सिर पर चोट लगी तो उस वक्त टीम इंडिया के फिजियो मैदान पर क्यों नहीं पहुंचे. मांजरेकर ने कहा, 'प्रोटोकॉल को तोड़ा गया. मुझे पूरी उम्मीद है कि मैच रेफरी टीम इंडिया से इस मुद्दे को लेकर जरूर सवाल करेंगे. जैसे ही किसी बैट्समैन को सिर पर चोट लगती है तो टीम के फिजियो तुरंत मैदान पर आकर बल्लेबाज़ की चोट का जायजा लेते हैं. वो पूछते हैं कि उन्हें कैसा लग रहा है. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. बिना किसी देरी के मैच चलता रहा.'

विश्वसनीयता पर सवाल
मांजरेकर ने कहा कि जडेजा के बल्लेबाजी जारी रखने से भारत को कोई बड़ा फायदा नहीं हुआ क्योंकि भारत ने इसके बाद सिर्फ नौ रन ही जोड़े लेकिन उसकी चोट की विश्वसनीयता पर सवाल उठाये जा सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘उसने सिर्फ नौ रन जोड़े, ये कोई बड़ा फायदा नहीं था. लेकिन गेंद लगने के बाद कम से कम दो या तीन मिनट होने चाहिए थे, जिसमें भारत के सपोर्ट स्टाफ को आना चाहिए था. तो ये थोड़ा ज्यादा विश्वसनीय दिखता.’



ये भी पढ़ें:- टीम इंडिया को झटका! घायल रवीद्र जडेजा टी-20 सीरीज़ से हुए बाहर

टॉम मूडी ने भी उठाए सवाल
पूर्व आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर टॉम मूडी ने भी जडेजा की चोट की गंभीरता पर संदेह व्यक्त किया क्योंकि इसके लिये मेडिकल जांच की जरूरत नहीं पड़ी. कोच और कमेंटेटर मूडी ने पूछा, ‘मुझे जडेजा के विकल्प के तौर पर चहल को लाने से कोई परेशानी नहीं है. लेकिन मुझे परेशानी इस बात से है कि जडेजा को हेलमेट पर गेंद लगने के बाद डॉक्टर और फिजियो वहां मौजूद नहीं थे जो मुझे लगता है कि सही प्रोटोकॉल है?’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज