IND vs END: शाहबाज नदीम की तुलना 1993 की ‘अजेय टीम’ के स्पिनर से, मांजरेकर ने किया ट्वीट

India vs England: शाहबाज नदीम करियर का दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे हैं.

India vs England: शाहबाज नदीम करियर का दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे हैं.

India vs England: बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) की किस्मत ने उनकी जितनी मदद प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने में की, उतनी मैदान पर नहीं की. 31 साल के इस स्पिनर ने मैच के पहले दिन 20 ओवर गेंदबाजी की, लेकिन विकेट एक भी नहीं ले सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 5:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड (India vs England) के शुक्रवार को जब टेस्ट मैच शुरू हुआ तो एक खिलाड़ी को छोड़कर बाकी सब वही मैदान पर उतरे, जिनकी उम्मीद पहले से थी. वह एकमात्र खिलाड़ी शाहबाज नदीम (Shahbaz Nadeem) हैं, जिन्हें चेन्नई टेस्ट में अचानक खेलने को मौका मिला. शाहबाज नदीम को भारतीय टीम में आखिरी समय पर शामिल किया गया क्योंकि मैच शुरू होने से कुछ देरे पहले ही यह पता चला कि अक्षर पटेल चोटिल हैं. इस तरह शाहबाज नदीम की किस्मत जागी और वे भारत की प्लेइंग इलेवन में शामिल हो गए. संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने मैच शुरू होने के कुछ देर बाद शाहबाज नदीम की तुलना वेंकटपति राजू (Venkatapathy Raju) से की.

बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम की किस्मत ने उनकी जितनी मदद प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने में की, उतनी मैदान पर नहीं की. 31 साल के इस स्पिनर ने मैच के पहले दिन 20 ओवर गेंदबाजी की, लेकिन विकेट एक भी नहीं ले सके. उनका बॉलिंग एनालिसिस 20-3-69-0 रहा.



जब मैच चल ही रहा था तब संजय मांजरेकर ने शाहबाज नदीम के बारे में एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘शाहबाज नदीम, वेंकटपति राजू जैसे ही हैं.’ हालांकि, उन्होंने अपने ट्वीट के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया कि वे यह तुलना क्यों कर रहे हैं. 31 साल के शाहबाज नदीम का इंटरनेशनल करियर अभी शुरू हुआ है. वे अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे हैं.
यह भी पढ़ें: IND VS ENG: IND vs ENG: क्या रॉरी बर्न्स कर बैठे माइक गैटिंग जैसी गलती, जिसे 33 साल बाद भी नहीं भूला है इंग्लैंड

बता दें कि वेंकटपति राजू ने 1990 के दशक में 28 टेस्ट और 53 वनडे मैच खेले थे. वे अजहरुद्दीन की उस टीम का हिस्सा रहे, जो कई साल तक भारत में टेस्ट सीरीज नहीं हारी थी. 1990 के दशक में अनिल कुंबले, वेंकटपति राजू और राजेश चौहान की स्पिन तिकड़ी ने भारत को कई मैच और सीरीज जिताए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज