• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IND vs ENG: हेडिंग्ले लेता है क्रिकेटरों का असली टेस्ट, डिफेंसिव खेल की गुंजाइश नहीं; 20 साल के आंकड़े हैं सबूत

IND vs ENG: हेडिंग्ले लेता है क्रिकेटरों का असली टेस्ट, डिफेंसिव खेल की गुंजाइश नहीं; 20 साल के आंकड़े हैं सबूत

Ind vs Eng: भारत और इंग्लैंड के बीच हेडिंग्ले में आज से तीसरा टेस्ट शुरू हो रहा है. इस मैदान पर साल 2000 से अब तक 18 टेस्ट खेले गए हैं. सिर्फ एक ही टेस्ट ड्रॉ रहा है. (AFP)

Ind vs Eng: भारत और इंग्लैंड के बीच हेडिंग्ले में आज से तीसरा टेस्ट शुरू हो रहा है. इस मैदान पर साल 2000 से अब तक 18 टेस्ट खेले गए हैं. सिर्फ एक ही टेस्ट ड्रॉ रहा है. (AFP)

IND vs ENG 3rd Headlingley Test: भारत और इंग्लैंड के बीच आज से लीड्स के हेडिंग्ले क्रिकेट मैदान (IND vs ENG Headlingley Test) पर 5 टेस्ट की सीरीज का तीसरा मुकाबला शुरू होगा. हेडिंग्ले हमेशा से ही क्रिकेटरों का असली टेस्ट लेने वाला मैदान रहा है. यहां रक्षात्मक खेल की गुजाइंश कम ही रहती है. बीते 20 साल के आंकड़े इस बात की गवाही दे रहे हैं. इस दौरान हेडिंग्ले में हुए 18 में से 17 टेस्ट के नतीजे निकले. सिर्फ 2021 में हुआ एक टेस्ट ड्रॉ रहा था.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच आज से लीड्स के हेडिंग्ले क्रिकेट मैदान (IND vs ENG Headlingley Test) पर 5 टेस्ट की सीरीज का तीसरा मुकाबला शुरू होगा. नॉटिंघम में हुआ सीरीज का पहला टेस्ट ड्रॉ रहा था, जबकि भारत ने लॉर्ड्स (Lords Test) में हुआ दूसरा टेस्ट 151 रन से जीता था. इस जीत के साथ भारत टेस्ट सीरीज में 1-0 से आगे है. विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई में टीम इंडिया (Team India) हेडिंग्ले में भी जीत के इस सिलसिले को बरकरार रखना चाहेगी. वहीं, जो रूट (Joe Root) की कप्तानी वाली इंग्लिश टीम (England Cricket Team) भी वापसी की पुरजोर कोशिश करेगी. अच्छी बात यह है कि हेडिंग्ले हमेशा से ही क्रिकेटरों का असली टेस्ट लेता है. यहां टीमों के पास बीच का कोई रास्ता नहीं होता है. मतलब डिफेंसिव खेल की गुजाइंश ना के बराबर है. यह हम नहीं कह रहे. इस मैदान के बीते 20 साल के आंकड़े इस बात का सबूत हैं.

    हेडिंग्ले में साल 2000 से लेकर अब तक कुल 18 टेस्ट हुए हैं और इसमें से 17 में जीत या हार तय हुई है. सिर्फ एक टेस्ट ड्रॉ रहा. वो भी 9 साल पहले. तब इंग्लैंड का मुकाबला दक्षिण अफ्रीका से हुआ था और 5 दिन के खेल में 1232 रन बने थे और 34 विकेट गिरे थे. फिर भी नतीजा नहीं निकल पाया था. इसके अलावा बाकी सभी मौकों पर हेडिंग्ले में जीत या हार का फैसला हुआ है. इस मैदान पर हुए पिछले 5 टेस्ट की बात करें तो सभी के नतीजे निकले हैं. तीन बार इंग्लैंड को जीत मिली है. इसमें से 2 बार तो मेजबान टीम पारी के अंतर से जीतने में सफल रही है. हालांकि, बाकी दो मौकों पर उसे हार का सामना करना पड़ा है.

    भारत भी हेडिंग्ले में 51 साल से नहीं हारा
    इन आकंड़ों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस मैदान पर हर हाल में जीत या हार तय होती है. ऐसे में दोनों टीमें कम से कम इस वक्त को लेकर खुश हो सकती हैं उनके पास जीतने का पूरा मौका है. भारत का भी इस मैदान पर रिकॉर्ड शानदार रहा है. टीम इंडिया पिछले 51 सालों में इस मैदान पर नहीं हारा है. उसे 1967 में आखिरी बार हार का मुंह देखना पड़ा था. टीम इंडिया ने हेडिंग्ले में पिछला टेस्ट 2002 में खेला था.

    तब सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की अगुआई में टीम इंडिया ने मेजबान को पारी और 46 रन के अंतर से शिकस्त दी थी. 2002 से पहले 1986 में भी इस मैदान पर खेले गए टेस्‍ट मैच में भारत को जीत मिली थी. 1979 में खेला गया टेस्‍ट मैच ड्रॉ रहा था.

    Ind vs Eng: 51 सालों से हेडिंग्‍ले में नहीं हारा भारत, पिच ऐसी कि 67 रन पर सिमट चुका है इंग्‍लैंड

    जो रूट भारत के सबसे बड़े ‘दुश्मन’, कर रहे ऐसे काम जो मियांदाद-पोंटिंग-सोबर्स भी ना कर सके

    हेडिंग्ले में 77 फीसदी मैच के नतीजे निकले हैं
    हेडिंग्ले में 122 साल में कुल 78 टेस्ट हुए हैं और इसमें से 18 यानी करीब एक चौथाई ड्रॉ रहे हैं. बाकी 60 मुकाबलों यानी 77 फीसदी मैच में जीत या हार तय हुई है. इस मैदान पर पिछले 50 टेस्ट में से 42 के नतीजे निकले हैं, जबकि सिर्फ 8 ड्रॉ रहे हैं. इंग्लैंड ने भी बीते 20 साल में इस मैदान पर 9 टेस्ट जीते हैं, जबकि 8 में उसे हार का सामना करना पड़ा है. बाकी 1 मैच ड्रॉ रहा है. इस दौरान इंग्लैंड को सिर्फ दक्षिण अफ्रीका ने 2 बार हराया. ऑस्ट्रेलिया, भारत, वेस्टइंडीज, पाकिस्तान, श्रीलंका और न्यूजीलैंड ने 1-1 बार मेजबान टीम को शिकस्त दी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज