Home /News /sports /

IND VS ENG: इंग्लैंड में लगातार चौथी टेस्ट सीरीज हार ना जाए टीम इंडिया, गेंदबाज नहीं, बल्लेबाज हैं 'गुनहगार'

IND VS ENG: इंग्लैंड में लगातार चौथी टेस्ट सीरीज हार ना जाए टीम इंडिया, गेंदबाज नहीं, बल्लेबाज हैं 'गुनहगार'

India vs England: भारत को अगर इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतना है तो विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों को रन बनाने होंगे. (PIC: AP)

India vs England: भारत को अगर इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतना है तो विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों को रन बनाने होंगे. (PIC: AP)

India vs England: इंग्लैंड दौरे पर भारतीय गेंदबाज तो शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया का सिर दर्द बढ़ा दिया है. भारतीय टेस्ट क्रिकेट के स्तंभ ये तीनों बल्लेबाज रन बनाने के लिए तरस रहे हैं. अगर भारतीय बल्लेबाज नहीं चले तो टीम इंडिया इंग्लैंड में लगातार चौथी टेस्ट सीरीज हार सकती है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारतीय बल्लेबाज एक बार फिर इंग्लैंड (Ind vs Eng) की पिचों पर संघर्ष करते हुए नजर आ रहे हैं. अगर केएल राहुल (KL Rahul ) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को छोड़ दिया जाए तो बाकी बल्लेबाज रन बनाने के लिए तरस गए हैं. लॉर्ड्स टेस्ट में गेंदबाजों की बदौलत करिश्माई जीत हासिल करने वाली टीम इंडिया लीड्स में मुश्किल में फंस गई है. भारतीय टीम की पहली पारी सिर्फ 78 रन सिमट गई और विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की तिकड़ी सवालों के घेरे में हैं. एक समय भारतीय टीम की तरफ से सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और वीरेंद्र सहवाग रनों का अंबार लगाते थे लेकिन भारतीय टीम 20 विकेट नहीं निकाल पाती थी. पिछले कुछ समय से टीम इंडिया के साथ उल्टा हो रहा है. जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की अगुवाई में भारतीय गेंदबाज विरोधी टीम को तो ऑलआउट कर दे रहे हैं लेकिन भारतीय बल्लेबाज मैच जीतने लायक स्कोर ही नहीं बना पा रहे हैं.

    भारतीय टीम को साल 2011 में इंग्लैंड दौरे पर 4-0, 2014 में 3-1 और साल 2018 में 4-1 से हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि इनमें से कुछ टेस्ट मैचों में टीम इंडिया जीत हासिल कर सकती थी. गेंदबाजों ने इंग्लैंड को समेट कर अपना काम कर दिया था लेकिन बल्लेबाज नहीं चल पाए. पिछले दौरे पर पहला टेस्ट बर्मिंघम के मैदान पर खेला गया था. अश्विन, इशांत, शमी और उमेश यादव ने घातक गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड को पहली पारी में 287 और दूसरी पारी में 180 रन समेट दिया था. चौथी पारी में भारत को जीत के लिए सिर्फ 194 रनों की जरूरत थी लेकिन भारतीय टीम 162 रनों पर सिमट गई. इंग्लैंड ने यह मैच 31 रन से जीत लिया. सैम कुरेन ने पहली पारी में चार जबकि बेन स्टोक्स ने दूसरी पारी में इतने ही विकेट चटकाए थे.

    2018 के दौरे पर भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच साउथैम्पटन के मैदान पर खेला गया था. इस मैच में भी शमी, इशांत और बुमराह की तिकड़ी ने इंग्लैंड को पहली पारी में 246 जबकि दूसरी पारी में 271 रन समेट दिया. भारत को जीत के लिए चौथी पारी में 245 रनों का लक्ष्य मिला था लेकिन टीम 184 रनों पर सिमट गई. इस मैच में मोईन अली ने 9 विकेट लिए थे. भारत अगर यह दोनों टेस्ट मैच जीतने में सफल रहता तो सीरीज भी 3-2 से उसके नाम हो जाती.

    यह भी पढ़ें:

    पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान ने दी विराट कोहली की टीम इंडिया को सलाह, कहा- कभी-कभी दिमाग काम नहीं करता

    IND VS ENG: जो रूट को ‘गुरु’ बनाएं विराट कोहली, शतक से सीखनी चाहिए 3 बातें

    इस सीरीज में अगर लीड्स टेस्ट की पहली पारी को छोड़ दें तो भारतीय गेंदबाजों ने दोनों टेस्ट मैचों में इंग्लैंड को ऑलआउट किया है. बुमराह-सिराज ने 13-13 विकेट लिए हैं जबकि शमी के नाम 10 विकेट दर्ज है. वहीं रहाणे ने 4 पारियों में 21 की औसत से 85, पुजारा ने पांच पारियों में 17 की औसत से 71 जबकि कोहली ने चार पारियों में सिर्फ 69 रन बनाए हैं. इसमें सिर्फ रहाणे ही एकमात्र अर्धशतक जड़ने में कामयाब रहे हैं. भारतीय बल्लेबाजों को जो रूट से सीखने की जरूरत है जिन्होंने 5 पारियों में 126 की औसत और तीन शतक की बदौलत 507 रन बना डाले हैं.

    Tags: Cricket news, Ind vs eng 2021, India Vs England, India vs England Test Series

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर