• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IND vs ENG: अश्विन को ओवल में भी नहीं मिला मौका, वॉन बोले- पागलपन, थरूर ने भी दिया साथ

IND vs ENG: अश्विन को ओवल में भी नहीं मिला मौका, वॉन बोले- पागलपन, थरूर ने भी दिया साथ

रविचंद्रन अश्विन को इंग्लैंड में एक भी टेस्ट खेलने का मौका अबतक इस दौरे पर नहीं मिला है. (PIC: AP)

रविचंद्रन अश्विन को इंग्लैंड में एक भी टेस्ट खेलने का मौका अबतक इस दौरे पर नहीं मिला है. (PIC: AP)

IND vs ENG: भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने ओवल टेस्ट में भी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) को मौका नहीं दिया. यह लगातार चौथा टेस्ट है, जब अश्विन बेंच पर बैठे. हालांकि, ओवल की पिच हमेशा से ही स्पिनर्स की मददगार रही है. ऐसे में भारतीय टीम मैनेजमेंट का यह फैसला दिग्गजों को रास नहीं आया. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) ने इसे पागलपन बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट (IND vs ENG Oval Test) से पहले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) को लेकर सबसे ज्यादा बातें हो रहीं थी. ओवल के पिच के मिजाज को जानने वाले जानकार अश्विन को हर हाल में प्लेइंग-11 में शामिल किए जाने की वकालत कर रहे थे. लेकिन जब टॉस के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने टीम इंडिया के प्लेइंग-11 का खुलासा किया तो, एक बार फिर अश्विन का नाम उसमें शामिल नहीं था. उन्हें लगातार चौथे टेस्ट में बेंच पर बैठना पड़ा. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) तो भारतीय टीम मैनेजमेंट के इस फैसले से इतना भड़क गए कि इसे पागलपन बता दिया. वहीं, शेन वॉर्न (Shane Warne) ने भी इसे जिद्दीपन करार दिया.

    वॉन ने ट्वीट किया कि 413 टेस्ट विकेट और 5 शतक. इसक बाद भी अश्विन को नहीं चुनना, इंग्लैंड में 4 टेस्ट में शायद ही हमने कभी ऐसा देखा है. वाकई यह पागलपन है.

    वॉर्न ने स्काय स्पोर्ट्स पर कहा कि अश्विन को बाहर रखना भारतीय टीम मैनेजमेंट का जिद्दीपन है. उन्होंने कहा कि अगर आप दोनों टीमों को देखें तो इंग्लैंड ज्यादा संतुलित नजर आ रही है. मैं जरूर अश्विन को प्लेइंग-11 में शामिल करता. ओवल की पिच पर निश्चित की गेंद घूमेगी. आप सिर्फ पहली पारी के लिए टीम नहीं चुनते हैं. यह तय है कि गेंद टर्न लेगी और फिर अश्विन के टेस्ट में 5 शतक हैं. ऐसे में आप टीम में एक बल्लेबाज को ही खिला रहे हैं, जो अच्छी गेंदबाजी करना जानता है.

    थरूर ने फैसले को ‘इच्छा-मृत्यु’ जैसा बताया
    वॉन और वॉर्न की तरह ही अश्विन को ओवल में मौका नहीं मिलने पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर भी भड़क गए. उन्होंने ट्वीट कर इस फैसले पर सवाल उठाए. उन्होंने लिखा कि मुझे यकीन ही नहीं हो रहा है कि उन्होंने अश्विन को फिर बाहर रखा. वो भी इंग्लैंड में स्पिन गेंदबाजी की सबसे अनुकूल विकेट पर. यह टीम अविश्वसनीय है. आप अपने पांच सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों को चुनेंगे. इसमें अश्विन को पहले या दूसरे नंबर पर होना चाहिए. उन्हें और मोहम्मद शमी जैसे गेंदबाजों को ओवल में बाहर रखना इच्छा-मृत्यु जैसा है. इससे तो यही लग रहा है कि आप हारना ही चाहते हैं. 

    विराट ने बताया क्यों अश्विन को किया बाहर
    टॉस के बाद कोहली ने अश्विन की जगह रवींद्र जडेजा को प्लेइंग-11 में शामिल करने की खास दलील भी दी. उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के पास 4 बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. वो जब ओवर द विकेट गेंदबाजी करेंगे, तो पिच पर फुटमार्क बनेंगे और जडेजा इसका इस्तेमाल इंग्लैंड के बल्लेबाजों के खिलाफ बेहतर तरीके से कर सकते हैं. इसके अलावा जडेजा 7 नंबर पर आकर टीम की बल्लेबाजी को ज्यादा संतुलित करते हैं. हालांकि, जानकारों को भारतीय कप्तान की दलील में दम नजर नहीं आ रहा है. क्योंकि अश्विन का बतौर ऑलराउंडर इंग्लैंड में रिकॉर्ड जडेजा से कमतर नहीं है. इसके बावजूद भारतीय टीम मैनेजमेंट जडेजा पर भरोसा दिखा रहा है.

    IND vs ENG: उमेश यादव की वापसी सुखद संकेत, जब पिछली बार खेले तो मिली थी ऐतिहासिक जीत

    यह भी पढ़ें: IND vs ENG: आज से 2 सबसे सफल कप्तान आमने-सामने, रूट करेंगे रणतुंगा और मिस्बाह की बराबरी

    अश्विन का इंग्लैंड में फर्स्ट क्लास औसत जडेजा के बराबर
    अश्विन ने इंग्लैंड में फर्स्ट क्लास क्रिकेट की 32 पारियों में करीब 32 के औसत से 3 अर्धशतक के साथ 814 रन बनाए हैं. वहीं, जडेजा के 19 पारियों में 31.44 के औसत से 566 रन हैं. उन्होंने 5 फिफ्टी जड़ी है. यह आंकड़े इस बात का सबूत हैं कि अश्विन इंग्लैंड में बल्लेबाजी कर सकते हैं.

    वहीं, अगर इंग्लैंड में इन दोनों गेंदबाजों के रिकॉर्ड को देखें तो अश्विन किसी भी मामले में जडेजा से कमतर नहीं कहे जा सकते हैं. अश्विन ने इंग्लैंड में खेले 6 टेस्ट में 25.77 के औसत से 232 रन बनाए हैं. वहीं, इस ऑफ स्पिनर ने 32.92 के औसत से 14 विकेट भी लिए हैं. 62 रन देकर 4 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है.

    दूसरी तऱफ, जडेजा ने इंग्लैंड में 9 टेस्ट में 29.21 के औसत से 409 रन बनाए हैं और 48 के औसत से 18 विकेट लिए हैं. यानी उनका गेंदबाजी औसत अश्विन से बेहतर नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन