IND VS ENG: मोहम्मद शमी ने इंग्लैंड के लिए बजाई खतरे की घंटी, भारतीय गेंदबाजों को लेकर बोली बड़ी बात

मोहम्मद शमी ने कहा कि मौजूदा टीम इंडिया में तीन-चार अच्छे स्पिन गेंदबाजों के अलावा इतनी ही संख्या में अच्छे तेज गेंदबाज भी हैं. जो विपक्षी टीम को चुनौती देने में सक्षम हैं. (PIC:AP)

मोहम्मद शमी ने कहा कि मौजूदा टीम इंडिया में तीन-चार अच्छे स्पिन गेंदबाजों के अलावा इतनी ही संख्या में अच्छे तेज गेंदबाज भी हैं. जो विपक्षी टीम को चुनौती देने में सक्षम हैं. (PIC:AP)

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) का मानना है कि मौजूदा वक्त में टीम इंडिया के पास ऐसी गेंदबाजी यूनिट है, जिससे पार पाना विपक्षी टीम के लिए आसान नहीं है. उन्होंने कहा कि पहले विपक्षी टीम हमारी बल्लेबाजी को लेकर चिंतित रहती थी. लेकिन हाल के दिनों में हमारे गेंदबाज उनके लिए बड़ा सिरदर्द साबित हुए हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने इंग्लैंड दौरे से पहले मेजबान टीम के लिए खतरे की घंटी बजा दी है. उनका मानना है कि मौजूदा वक्त में टीम इंडिया के पास ऐसी गेंदबाजी यूनिट है, जिससे पार पाना विपक्षी टीम के लिए आसान नहीं है. उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में विपक्षी टीम इस बात को लेकर अक्सर भ्रमित रहती है कि भारतीय टीम के लिए किस तरह के विकेट तैयार करें. अगर विपक्षी टीम हमें टर्निंग ट्रैक देती है, तो उन्हें पता है कि भारतीय टीम की पहचान ही स्पिन गेंदबाजी से है. लेकिन अगर वो हमें तेज गेंदबाजी के अनुकूल पिच भी देते हैं, तो उन्हें पता है कि भारतीय पेसर्स उन्हें चैन की सांस लेने नहीं देंगे.

शमी ने क्रिकबज से बातचीत में कहा कि दूसरी टीमें को भारत की बल्लेबाजी का पता है. लेकिन अब वो हमारे गेंदबाजों से भी परेशान हैं. उन्हें ये समझ नहीं आता कि भारतीय गेंदबाजों का सामना कैसे करें. क्या हम उन्हें सीमिंग विकेट दें या टर्निंग ट्रैक. वो इसे लेकर पूरी तरह भ्रमित हैं. हमें पता है कि हमारे पास तीन-चार अच्छे स्पिनर्स हैं और इतनी ही संख्या में अच्छे तेज गेंदबाज भी हैं. हम विपक्षी टीम को तय करना है कि वो हमारे सामने क्या चुनौती रखती है?.

भारत ने पिछली 8 में से सिर्फ एक टेस्ट सीरीज गंवाई

बीते दो सालों का रिकॉर्ड भी देखें तो भारतीय गेंदबाजों की कामयाबी आसानी से समझी जा सकती है. भारत ने अक्टूबर 2018 के बाद से 8 में से सिर्फ 1 टेस्ट सीरीज गंवाई है. इस दौरान भारत ने लगातार दो बार ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी है. इस अवधि में भारत ने वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी. बस, उसे न्यूजीलैंड दौरे पर ही 2-0 से टेस्ट सीरीज गंवानी पड़ी थी. हालांकि, टीम इंडिया के पास वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में उस हार का हिसाब चुकता करने का मौका होगा. दोनों देशों के बीच 18 जून से इंग्लैंड के साउथैम्प्टन में डब्ल्यूटीसी का फाइनल खेला जाएगा.
यह भी पढ़ें : IPL 2021: पूर्व भारतीय विकेटकीपर-बल्‍लेबाज ने बताया, किस खिलाड़ी की वजह से नंबर 2 पर पहुंचने में कामयाब रही CSK

श्रीलंका दौरे पर नहीं जाएंगे विराट कोहली और रोहित शर्मा, वजह- बीसीसीआई की बड़ी प्लानिंग

इसके बाद, भारतीय टीम को अगस्त-सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट की सीरीज खेलनी है. पिछले इंग्लैंड दौरे पर 2018 में भारत को 5 टेस्ट की सीरीज 1-4 से गंवानी पड़ी थी. भारत ने पिछली बार 2007 में इंग्लैंड को उसी के घर में तीन टेस्ट की सीरीज में हराया था. तब भारतीय टीम 1-0 से सीरीज जीतने में सफल रही थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज