होम /न्यूज /खेल /IND vs ENG: क्या रॉरी बर्न्स कर बैठे माइक गैटिंग जैसी गलती, जिसे 33 साल बाद भी नहीं भूला है इंग्लैंड

IND vs ENG: क्या रॉरी बर्न्स कर बैठे माइक गैटिंग जैसी गलती, जिसे 33 साल बाद भी नहीं भूला है इंग्लैंड

भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैच चेन्नई में खेला जा रहा है.

भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैच चेन्नई में खेला जा रहा है.

India vs England: इंग्लैंड के रॉरी बर्न्स और डॉम सिब्ली ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में 63 रन की ओपनिंग साझेदारी की ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच शुक्रवार से पहला टेस्ट मैच शुरू हो गया है. पहला टेस्ट मैच चेन्नई में खेला जा रहा है. इंग्लैंड की टीम टॉस जीतकर पहले बैटिंग कर रही है. मेहमान टीम ने मैच में अच्छी शुरुआत की. उसके ओपनरों डॉम सिब्ली (Dom Sibley) और रॉरी बर्न्स (Rory Burns) ने शुरुआती डेढ़ घंटे तक भारतीय गेंदबाजों को विकेट के लिए तरसाए रखा. लेकिन लंच ब्रेक से ठीक पहले रॉरी बर्न्स एक ऐसी गलती कर बैठे, जिससे सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) को माइक गैटिंग (Mike Gatting) के एक शॉट की याद आ गई. गावस्कर ने साथी कॉमेंटेटर मार्क बूचर से पूछ भी लिया कि क्या रॉरी बर्न्स का यह शॉट 33 साल पहले गैटिंग द्वारा खेले गए शॉट की तरह महंगा पड़ सकता है.

    इंग्लैंड के रॉरी बर्न्स और डॉम सिब्ली ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में 63 रन की ओपनिंग साझेदारी की. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इस जोड़ी को तोड़ने के लिए इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन और शाहबाज नदीम को आजमाया. लेकिन शुरुआती 23 ओवर तक भारतीय गेंदबाजों को कामयाबी नहीं मिली.

    जब लंच-ब्रेक में तकरीबन 15 मिनट बाकी थे, तब रॉरी बर्न्स एक ऐसा शॉट खेल बैठे, जिसकी टेस्ट क्रिकेट में बिलकुल भी जरूरत नहीं होती. उन्होंने 24वें ओवर में अश्विन की गेंद पर रिवर्स स्वीप की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे. गेंद उनके ग्लव्स को चूमते हुए विकेटकीपर ऋषभ पंत के ग्लव्स में समा गई. इस तरह भारत को वो कामयाबी मिल गई, जिसका उसे पौने दो घंटे से इंतजार था.

    यह भी पढ़ें: IND vs END: चेन्नई टेस्ट में नहीं खेल रहे हैं ब्रिस्बेन में जीत दिलाने वाले भारत के 5 खिलाड़ी

    लंच-ब्रेक के दौरान सुनील गावस्कर ने इसी रिवर्स स्वीप के बारे में मार्क बूचर से सवाल किया कि क्या बर्न्स ने गैटिंग वाली गलती दोहरा दी. इस पर मार्क बूचर ने कहा कि अभी ऐसा कहना जल्दबाजी होगी. लेकिन इतना तय है कि रॉरी ने एक ऐसा शॉट खेला, जिसकी जरूरत नहीं थी. हालांकि, नए जमाने के क्रिकेट में बल्लेबाज आमतौर पर ऐसा शॉट खेलने लगे हैं.

    यह भी पढ़ें: India vs England: भारत को इमरजेंसी में याद आते हैं शाहबाज नदीम, अब तक चटका चुके हैं 700 से ज्यादा विकेट

    बता दें कि सुनील गावस्कर जिस गलती की बात कर रहे थे, वह माइक गैटिंग ने 1987 के विश्व कप के फाइनल में की थी. इंग्लैंड की टीम ने उस मैच में ऑस्ट्रेलिया के 253 रन के जवाब में 2 विकेट पर 135 रन बना लिए थे. उस वक्त इंग्लिश कप्तान माइक गैटिंग 44 गेंद पर 41 रन बनाकर नाबाद थे. तभी माइक गैटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बॉर्डर की गेंद पर रिवर्स स्वीप खेलने की कोशिश की और ऐसा करते हुए वे विकेटकीपर को कैच दे बैठे. यह मैच का टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ और ऑस्ट्रेलिया ने वापसी करते हुए 7 रन से फाइनल जीत लिया.

    Tags: Chennai Test, Cricket news, India Vs England, Rory Burns, Sunil gavaskar

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें