Home /News /sports /

IND vs ENG: विराट कोहली और पुजारा खराब फॉर्म से ही नहीं जूझ रहे, भाग्य भी उनका साथ नहीं दे रहा

IND vs ENG: विराट कोहली और पुजारा खराब फॉर्म से ही नहीं जूझ रहे, भाग्य भी उनका साथ नहीं दे रहा

India vs England Third Test: विराट काेहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों खराब फॉर्म में चल रहे हैं. (AFP)

India vs England Third Test: विराट काेहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों खराब फॉर्म में चल रहे हैं. (AFP)

India vs England Third Test: विराट कोहली (Virat Kohli) खराब फॉर्म में चल रहे हैं. वे पिछली 50 इंटरनेशनल पारियों से शतक नहीं लगा सके हैं. इसके अलावा चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का भी प्रदर्शन टेस्ट में अच्छा नहीं रहा है.

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में भारतीय बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सके हैं. सबसे ज्यादा नजर कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) पर है. दोनों बल्लेबाज खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. कप्तान कोहली 50 पारियों से शतक नहीं लगा सके हैं, तो पुजारा 12 पारियों से अर्धशतक के आंकड़े को नहीं छू सके. तीसरे टेस्ट (IND vs ENG) की पहली पारी में टीम इंडिया (Team India) सिर्फ 78 रन पर सिमट गई.

    क्रिकइंफो के डेटा के अनुसार, कई बार बल्लेबाज खराब शॉट खेलकर भी बच जाता है और बड़ा स्कोर बना लेता है. लेकिन कई बार उसे भाग्य का साथ नहीं मिलता है और वह आउट हो जाता है. विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों के साथ कुछ ऐसा ही हो रहा है. तीसरे टेस्ट की पहली पारी में कोहली जेम्स एंडरसन की ऑफ साइड की गेंद पर शॉट लगाते हुए आउट हुए. 5 अगस्त तक के आंकड़े के अनुसार विराट कोहली 2020-21 में टेस्ट में हर 7.1वें गलत शॉट पर आउट हुए, जबकि 2018 में इंग्लैंड दौरे के दाैरान वे हर 20वें गलत शॉट पर आउट हो रहे थे.

    औसत में भी बड़ी गिरावट आई

    विराट कोहली ने 2016-17 में इंग्लैंड के खिलाफ 109 की औसत से 655 रन बनाए. इस दौरान वे हर 16.8वें गलत शॉट पर आउट हो रहे थे. यानी उन्हें भाग्य का साथ मिल रहा था. बल्लेबाज के करियर की बात की जाए तो वह 79 से 91 फीसदी रन बिना जोखिम के बनाता है. कई बार खिलाड़ी तीसरे या चौथे गलत शॉट पर ही आउट हो जाता है, जबकि कई बल्लेबाज 24वें गलत शॉट पर आउट होते हैं. विराट कोहली ने 2016 में एजबेस्टन में शानदार 149 रन बनाए थे और इस दौरान उन्होंने 56 गलत शॉट खेले थे. यानी उन्हें भाग्य का साथ मिला था.

    कोहली और पुजारा कम खराब शॉट खेलने वाले खिलाड़ी

    रिपोर्ट के अनुसार, टॉप-5 सबसे कम खराब शॉट खेलने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा भी शामिल हैं. इसके अलावा लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ, न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन और इंग्लैंड के कप्तान जो रूट को भी जगह मिली है. पुजारा टेस्ट करियर में हर 13.7वें खराब शॉट पर आउट होते हैं, जबकि कोहली हर 11वें खराब शॉट पर. स्मिथ 13.1वें, रूट 13.1वें और विलियम्सन हर 10.9वें खराब शॉट पर आउट हाेते हैं.

    यह भी पढ़ें: IND vs ENG: टीम इंडिया 170 रन का टारगेट दे सकी तो जीतने की उम्मीद बड़ी, आंकड़े दे रहे हैं गवाही

    यह भी पढ़ें: IPL 2021: KKR ने आईपीएल में 1293 रन देने वाले गेंदबाज को शामिल किया, 15 करोड़ वाला खिलाड़ी बाहर

    पुजारा के रन बनाने की गति भी धीमी हुई

    टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा इससे पहले 2014 में भी खराब फॉर्म से जूझ रहे थे. 2013 में सिडनी में 70 और 32 रन की पारी खेलने के बाद उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ा. उन्होंने अगले बड़ा स्कोर अगस्त 2015 में बनाया था. इन दौरान वे 21 टेस्ट पारियों में सिर्फ 2 बार 50 से अधिक रन बना सके थे और कुल 483 रन बनाए थे. इस दौरान वे हर 8.6वें खराब शाॅट पर आउट हुए. 2019 में सिडनी टेस्ट में शतक लगाने के बाद पुजारा फिर खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. वे हर 10.7वें शाॅट पर आउट हो रहे हैं, लेकिन उनके रन बनाने की गति भी धीमी हो गई है. 2014 में खराब फॉर्म के समय वे हर 100 गेंद पर 42 रन बना रहे थे, जबकि अब भी वे 100 गेंद पर सिर्फ 35 रन ही बना रहे हैं. इससे पता चलता है कि आउट होने के कारण वे दबाव में हैं. इससे यह भी निष्कर्ष निकलता है कि उन्हें रन बनाने के अवसर कम मिले हों.

    Tags: Cheteshwar Pujara, Cricket news, IND vs ENG, Ind vs eng 2021, India Vs England, Team india, Virat Kohli

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर