Home /News /sports /

IND vs ENG: विराट कोहली 21 महीने और 49 पारी से शतक नहीं लगा सके, औसत 57 से घटकर 41 पर आया

IND vs ENG: विराट कोहली 21 महीने और 49 पारी से शतक नहीं लगा सके, औसत 57 से घटकर 41 पर आया

India vs England Second Test: विराट कोहली 49 पारी से शतक नहीं लगा सके हैं. (AFP)

India vs England Second Test: विराट कोहली 49 पारी से शतक नहीं लगा सके हैं. (AFP)

India vs England Second Test: भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज चल रही है. दूसरा टेस्ट (IND vs ENG) रोमांचक दौर में हैं. आज अंतिम दिन इसका रिजल्ट आ सकता है. हालांकि इंग्लिश टीम का पलड़ा अभी भारी दिख रहा है. विराट कोहली (Virat Kohli) का प्रदर्शन अब तक औसत से नीचे रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    लॉर्ड्स. कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) टीम इंडिया की बल्लेबाजी के सबसे बड़े स्तंभ माने जाते हैं. लेकिन पिछले 21 महीने से उनका बल्ला शांत ही रहा है. इस दौरान वे तीनों फॉर्मेट यानी टेस्ट, वनडे और टी20 की 49 पारी में एक भी शतक नहीं लगा सके. इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट (IND vs ENG) में भी वे बड़ी पारी नहीं खेल सके. इस कारण टीम इंडिया संकट में है. टीम ने दूसरी पारी में 181 रन पर 6 विकेट गंवा दिए हैं. बढ़त सिर्फ 154 रन की हुई और 4 ही विकेट बचे हैं. भारत ने पहली पारी में 364, जबकि इंग्लैंड ने 391 रन बनाए हैं.

    विराट कोहली ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 42 जबकि दूसरी पारी में 20 रन बनाए. कोहली ने अंतिम इंटरनेशनल शतक 23 नवंबर 2019 को बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट में लगाया था. इसके बाद अगस्त 2021 यानी 21 महीने से वे एक भी शतक नहीं लगा सके हैं. इस दौरान पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) ने 7 शतक जड़ दिए. यानी कोहली शतक के मामले में बाबर से काफी पीछे हैं.

    विराट काेहली के प्रदर्शन में अंतर.

    टेस्ट की 17 पारी में सिर्फ 3 अर्धशतक

    विराट कोहली की अंतिम 49 पारियों की बात करें तो वे इस दौरान 10 टेस्ट की 17 पारी में सिर्फ 3 अर्धशतक लगा सके हैं. 74 रन उनका सबसे बड़ा स्कोर रहा. 24 की औसत से 407 रन बनाए. वनडे की 15 पारियों में कोहली ने 8 अर्धशतक लगााए. 89 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा. 43 की औसत से 649 रन बनाए. वहीं टी20 की बात करें तो उन्होंने 17 पारियों में 6 अर्धशतक जड़े. नाबाद 94 रन उनका सर्वाधिक स्कोर रहा. 64 की औसत से 709 रन बनाए. तीनों फॉर्मेट को देखें तो विराट कोहली ने 49 पारियों में 41 की औसत से 1765 रन बनाए और 17 अर्धशतक जड़ा. इससे पहले कोहली के इंटरनेशनल करियर को देखें तो उन्होंने 438 पारियों में 57 की औसत से 21172 रन बनाए थे. 70 शतक भी जड़ा था. इस तरह से उनका औसत भी 57 से घटकर 41 पर आ गया है.

    बाबर आजम इस दौरान 7 शतक लगा चुके हैं.

    टीम ने 10 में से 5 टेस्ट हारे, सिर्फ 3 में मिली जीत

    कप्तान विराट कोहली के रन नहीं बनाने का असर टीम इंडिया के प्रदर्शन पर पड़ रहा है. विराट कोहली ने इस दौरान 10 टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी की. टीम को 5 मैच में हार मिली, जबकि सिर्फ 3 टेस्ट में जीत मिली. यानी टीम ने 50 फीसदी मुकाबले गंवाए. इस दौरान 19 पारियों में से 6 में टीम 200 रन का आंकड़ा नहीं छू सकी. कोहली टेस्ट में मिडिल ऑर्डर में टीम को संभालते हैं, लेकिन उनके आउट होने से टीम के रन भी नहीं बन रहे.

    400 रन का आंकड़ा नहीं छू सकी है टीम

    विराट कोहली ने अंतिम शतक नवंबर 2019 में लगाया था. इसके बाद से वे शतक नहीं लगा सके और टीम इंडिया इस दौरान 19 टेस्ट पारियों में से एक में भी 400 रन का आंकड़ा नहीं छू सकी है. 365 रन टीम का सबसे बड़ा स्कोर रहा. मार्च 2021 में अहमदाबाद में टीम ने यह स्कोर खड़ा किया था. इस दौरान टीम सिर्फ 3 बार 300 से अधिक का स्कोर नहीं बना सकी. इस रिकॉर्ड से साबित होता है कि यदि कोहली रन नहीं बनाएंगे तो टीम इंडिया की परेशानी बढ़ती रहेगी. इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा सीरीज में भी ऐसा ही दिख रहा है.

    वनडे में भी जीत से ज्यादा हार मिली

    विराट कोहली का रिकाॅर्ड वनडे में भी शानदार रहा था. लेकिन शतक नहीं लगने से टीम इंडिया का प्रदर्शन खराब हो रहा है. इस दौरान टीम ने 15 में से सिर्फ 7 वनडे जीते, 8 में हार मिली. हालांकि इस दौरान टीम का प्रदर्शन सिर्फ टी20 में ही अच्छा रहा. इस दौरान टीम ने 13 टी20 जीते, जबकि सिर्फ 4 में हार मिली. इस साल अक्टूबर-नवंबर में टी20 वर्ल्ड कप भी प्रस्तावित है. कोहली उससे पहले फॉर्म हासिल करना चाहेंगे.

    Tags: Cricket news, IND vs ENG, Ind vs eng 2021, India Vs England, Team india, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर