Home /News /sports /

IND vs NZ Test: राहुल द्रविड़ की ड्रेसिंग रूप में मौजूदगी पर चेतेश्वर पुजारा बोले- सिर्फ युवा खिलाड़ियों को...

IND vs NZ Test: राहुल द्रविड़ की ड्रेसिंग रूप में मौजूदगी पर चेतेश्वर पुजारा बोले- सिर्फ युवा खिलाड़ियों को...

चेतेश्वर पुजारा ने बताया कि राहुल द्रविड़ की ड्रेसिंग रूम में मौजूदगी से सबसे बड़ा फायदा क्या है.   (Instagram)

चेतेश्वर पुजारा ने बताया कि राहुल द्रविड़ की ड्रेसिंग रूम में मौजूदगी से सबसे बड़ा फायदा क्या है. (Instagram)

IND vs NZ Test: भारत और न्यूजीलैंड के बीच 25 नवंबर से कानपुर में पहला टेस्ट खेला जाएगा. इस मैच से पहले टीम के उप-कप्तान चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने हेड कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की ड्रेसिंग रूम में मौजूदगी को लेकर बड़ी बात बोली है. उन्होंने कहा कि एक खिलाड़ी और टीम के कोच के रूप में उनके पास जितना अनुभव है, उससे काफी मदद मिलती है. इस भारतीय बल्लेबाज ने अपने खेल में आए बदलाव को लेकर भी खुलकर बात की.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारत और न्यूजीलैंड के बीच इस गुरुवार से कानपुर में 2 टेस्ट की सीरीज (IND vs NZ Test Series) का आगाज होगा. राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की टीम इंडिया के हेड कोच के तौर पर यह पहली सीरीज होगी. ऐसे में वो जीत के लिए खास रणनीति बना रहे हैं. इस टेस्ट से पहले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने कोच द्रविड़ की ड्रेसिंग रूम में मौजूदगी को लेकर बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि द्रविड़ के ड्रेसिंग रूम में रहने का ज्यादातर खिलाड़ियों को फायदा होगा. खासकर उन युवाओं को जो राहुल भाई की देखरेख में अंडर-19 या इंडिया-ए टीम में खेल चुके हैं. इतना ही नहीं, हमारे जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को भी उनसे काफी सीखने को मिलेगा.

    चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने कानपुर में टीम के ट्रेनिंग सेशन से पहले कहा, “मैंने राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) साथ ए सीरीज के दौरान काम किया है, इसलिए हम सभी उनके मार्गदर्शन का इंतजार कर रहे हैं. एक खिलाड़ी और टीम के कोच के रूप में उनके पास जितना अनुभव है, उससे काफी मदद मिलती है.

    अपनी बल्लेबाजी को लेकर उन्होंने कहा कि 3 साल से टेस्ट में शतक ना लगा पाने से वो परेशान नहीं है. कम से कम तब तक तो नहीं, जब तक उनकी 80 या 90 रन की पारी टीम की जीत में काम आ रही है.

    इंग्लैंड में आक्रामक खेल का पुजारा को फायदा मिला
    क्या इंग्लैंड दौरे पर आलोचना झेलने के बाद आक्रामक बल्लेबाजी ने मदद की ? इस पर पुजारा ने कहा,” हाँ, मुझे ऐसा लग रहा है. मुझे नहीं लगता कि तकनीक में कोई बड़ा बदलाव आया है. यह सिर्फ दृष्टिकोण था और मैं थोड़ा निडर था, जो मदद करता है.”

    उन्होंने इस बात को माना कि वो पहले खुद पर अधिक दबाव डाल रहे थे. हालांकि, लीड्स में 91 और ओवल में 61 रन बनाने के बाद इस सोच में बदलाव आ गया था. पुजारा ने आगे कहा कि आपको अपने आप पर बहुत अधिक दबाव डालने की आवश्यकता नहीं है और बस कोशिश करें और वहां जाएं और खेल का आनंद लें, बजाय इसके कि क्या हो रहा है ? इसके बारे में बहुत अधिक चिंता ना करें.

    IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा ने शतक के सवाल पर कहा- 50-60 रन बना रहा हूं, चिंता की बात नहीं

    IND vs NZ : टी20 के बाद टेस्ट की बारी, राहुल द्रविड़ ने रहाणे-पुजारा के साथ शुरू की ‘क्लीन स्वीप’ की तैयारी; देखें PICS

    ‘उप-कप्तानी से कोई परेशानी नहीं’
    पुजारा कानपुर टेस्ट के लिए उप-कप्तान के रूप में अतिरिक्त जिम्मेदारी मिलने से चिंतित नहीं है. उन्होंने कहा, “अतिरिक्त जिम्मेदारी अच्छी हो सकती है और कभी-कभी आपके हक में काम करती है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह बिना किसी जिम्मेदारी के जूनियर खिलाड़ियों को मेंटॉर नहीं करेंगे. उनका मानना है कि सीनियर बल्लेबाज होने के नाते अपने अनुभव युवाओं से जरूर शेयर करने चाहिए. इससे टीम को फायदा होता है.”

    Tags: Cheteshwar Pujara, Cricket news, IND vs NZ, India vs new zealand, India vs New Zealand 2021, Rahul Dravid

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर