WTC Final: ऋषभ पंत की बहादुरी में एक्सपर्ट्स को दिखी ‘बेवकूफी’, जानें इरफान-आकाश ने क्या कहा

IND vs NZ WTC Final: ऋषभ पंत ने 88 गेंद पर 41 रन बनाए. (AP)

IND vs NZ WTC Final: ऋषभ पंत ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनिशप के फाइनल में नाजुक मौके पर छक्का लगाने की कोशिश की और विकेट गंवाकर भारत को मुश्किल में डाल दिया. यही कारण है कि भारत की दूसरी पारी में सबसे अधिक 41 रन बनाने के बावजूद ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की ही ज्यादा आलोचना हुई.

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्लासरूम में एक बच्चे ने ऋषभ पंत (Rishabh Pant) से पूछा कि क्या आप छक्के लगाने की प्रैक्टिस करते हो? पंत इस सवाल पर मुस्कुराए. फिर सहज भाव में लौटते हुए बोले, ‘नहीं. मेरे कोच मुझे डिफेंस की प्रैक्टिस करने को कहते हैं. वे कहते हैं कि अपना डिफेंस मजबूत करो. छक्के तो तुम कभी भी लगा सकते हो.’ ऋषभ यह जवाब एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में दे रहे थे, लेकिन मैदान ऐसा हो, यह जरूरी नहीं. भारत और न्यूजीलैंड (IND vs NZ WTC Final) के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनिशप का फाइनल इसका ताजा उदाहरण है. इस मैच में बेहद नाजुक वक्त पर ऋषभ ने छक्का लगाने की कोशिश की और विकेट गंवाकर भारत को मुश्किल में डाल दिया. शायद यही कारण है कि भारत की दूसरी पारी में सबसे अधिक 41 रन बनाने के बावजूद ऋषभ पंत की ही ज्यादा आलोचना हुई.

    खेल की दुनिया में हमेशा ही कहा जाता है कि बहादुरी और बेवकूफी के बीच बड़ी बारीक लाइन होती है. ऋषभ पंत ने टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (WTC Final) के आखिरी दिन जिस अंदाज में बैटिंग की, उसमें पूर्व क्रिकेटरों को बेवकूफी का रंग ज्यादा नजर आया. पंत ने तेज गेंदबाजों के खिलाफ बार-बार आगे निकलकर बड़ा शॉट लगाने की कोशिश की. 88 गेंद की इस पारी में उन्हें छक्का लगाने में तो कामयाबी नहीं मिली, लेकिन वे अपना बहुमूल्य विकेट जरूर दे बैठे. वह विकेट जो इस पारी का सबसे कीमती विकेट था और जिसने न्यूजीलैंड की राह साफ कर दी.

    स्टार स्पोर्ट्स पर कॉमेंट्री कर रहे ऑलराउंडर इरफान पठान (Irfan Pathan) भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज के शॉट से बेहद नाराज थे. उन्होंने ऋषभ पंत की तमाम खूबियों का जिक्र करने के साथ ही कहा कि आक्रामकता और बेवकूफी में बारीक अंतर है. तेज गेंदबाज को आगे निकलकर छक्का लगाने की कोशिश करना, एग्रेशन नहीं, बेवकूफी है.’

    यह भी पढ़ें: WTC Final: खराब शॉट खेलकर आउट हुए कोहली-पुजारा, फैन्स ने सुनाई खरी-खरी

    WTC Final: माइकल वॉन ने भारतीय फैंस के 'जख्मों' पर छिड़का नमक, भारत के ऑल आउट होते ही कसा तंज

    आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) भी साथी कॉमेंटेटेर इरफान से सहमत नजर आए. उन्होंने कहा, ‘हमने पंत को आईपीएल में बार-बार छक्के लगाते देखा है. लेकिन इस बार वे ज्यादा ही जोखिम ले रहे थे. हमने उन्हें आईपीएल में भी ऐसे छक्के लगाते नहीं देखा. पंत आईपीएल में भी तेज गेंदबाज को आगे निकलकर यूं छक्का लगाते नहीं देखे गए.’

    बता दें कि जब ऋषभ पंत क्रीज पर थे, तब भारत का स्कोर 69 ओवर में 6 विकेट पर 156 रन था. यह स्थिति मैच को ड्रॉ की ओर ले जा रही थी. अगर पंत 8-10 ओवर तक भी अपना विकेट बचा पाते तो मैच का नतीजा कुछ भी हो सकता था. पंत ने 70वें ओवर में ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर आगे निकलकर छक्का लगाने की कोशिश की. गेंद उनके बल्ले के बीच में ना आकर टॉप-एज ले गई और हेनरी निकोल्स ने तकरीबन 18-19 कदम दौड़कर इसे प्वाइंट व थर्डमैन के बीच लपक लिया. भारत ने पंत के आउट होने के बाद आखिरी तीन विकेट महज 22 गेंदों में गंवा दिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.