पैसों की कमी से जूझ रहे श्रीलंका के क्रिकेटर, घर की किस्त और इंश्योरेंस तक नहीं भर पा रहे: रिपोर्ट

India vs Sri Lanka ODI Series: श्रीलंका को पहले वनडे में करारी शिकस्त मिली. (AP)

India vs Sri Lanka ODI Series: टीम इंडिया (Team India) इन दिनों श्रीलंका के दाैरे पर है. हालांकि अनुबंध विवाद के कारण श्रीलंका के बड़े खिलाड़ी सीरीज से बाहर हैं. वनडे सीरीज (India vs Sri lanka) का दूसरा मैच मंगलवार को खेला जाएगा.

  • Share this:
    कोलंबो. श्रीलंका टीम को पहले वनडे में (IND vs SL) 7 विकेट से करारी शिकस्त मिली. टीम इंडिया (Team India) के दोयम दर्जे की टीम को लेकर सवाल उठाए जा रहे थे. हालांकि अनुबंध विवाद के कारण श्रीलंका के बड़े खिलाड़ी सीरीज से बाहर हैं. इस बीच खबर के अनुसार, श्रीलंका के क्रिकेटर पैसों की कमी से जूझ रहे हैं और नए अनुबंध के लिए तैयार हैं. वनडे सीरीज का दूसरा मैच 20 जुलाई मंगलवार को खेला जाएगा.

    द संडे मॉर्निंग कर खबर के अनुसार, खिलाड़ियों ने अनुबंध को मानने और जल्द से जल्द पुराना बकाया देने के लिए श्रीलंका बोर्ड को पत्र लिखा है. खिलाड़ियों ने पत्र में लिखा, ‘नए अनुबंध के कारण हमें जनवरी 2021 से किसी तरह का भुगतान नहीं किया गया है. नए अनुबंध को लेकर खिलाड़ियों को स्पष्टता नहीं है. इस बारे में उन्हें लिखित में जानकारी दी जानी चाहिए.’ नए अनुबंध के तहत खिलाड़ियों की सैलरी में 30 फीसदी तक कटौती होनी है.

    शादी तक को रोकना पड़ा

    एक सूत्र ने बताया कि खिलाड़ी सालाना अनुबंध नहीं होने के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. उन्हें घर की किस्त और माता-पिता के इंश्योरेंस तक को भरने में दिक्कत आ रही है. कई ने तो शादी तक को रोक दिया है. सीनियर खिलाड़ियों और बोर्ड के झगड़े के बीच कई जूनियर खिलाड़ी फंस गए हैं. अब उन्हें लग रहा है कि बिना किसी अनुबंध के उनका भी करियर खत्म हो जाएगा, क्योंकि उनमें से कई खिलाड़ियों को सीरीज के लिए चुना भी नहीं गया है.

    मुरलीधरन ने सीनियर खिलाड़ियों को बताया था दोषी

    श्रीलंका क्रिकेट के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन अनुबंध बनाने वाली तकनीकी एडवाइजरी कमेटी का हिस्सा हैं. उन्होंने सीनियर खिलाड़ियों पर जमकर भड़ास निकाली है. उनका कहना है कि दिमुथ करुणारत्ने और एंजेलो मैथ्यूज जैसे खिलाड़ियों को नए अनुबंध के मुताबिक कम पैसे मिल रहे हैं. वे अपने फायदे के लिए अपने जूनियर खिलाड़ियों का करियर खराब करने की कोशिश कर रहे हैं.

    जूनियर खिलाड़ियाें को नहीं होगा नुकसान

    जूनियर खिलाड़ी अब विवाद से निकलना चाह रहे हैं और उनकी सालाना सैलरी में भी बढ़ोतरी होगी. ऐसे में जूनियर खिलाड़ियों ने बोर्ड को पत्र लिखकर कहा है कि हमारी बात मानने के लिए धन्यवाद. हमें पता है कि हमें सालाना अनुबंध में परफॉर्मेंस, फिटनेस और दूसरे अन्य योग्यताओं के आधार पर किस तरह से ग्रुप में बांटा गया है. ऐसे में हम बोर्ड से गुजारिश करते हैं कि वो अनुबंध 1 जनवरी 2021 से लागू कर दें. इसके लिए हम उनके आभारी रहेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.